Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

शनिवार, 8 जून 2019

इसे खाने से बांझ को भी पुत्र पैदा होता है - Putra Prapti Part #1

नमस्कार दोस्तों हम सभी जानते हैं कि बेलपत्र का हिंदू धर्म शास्त्र में बहुत महत्व है बेलपत्र को भगवान शिव की निशानी माना जाता है हमारे प्राचीन ग्रंथों में बेलपत्र को लेकर पुत्र प्राप्ति के नुस्खे दिए गए हैं आज हम उसी नुस्खे का उपाय पुत्र प्राप्ति के लिए आपको इस POST के माध्यम से बता रहे हैं दोस्तों यह एक प्रकार का आयुर्वेदिक उपाय है लेकिन इसे धार्मिक विधि से ग्रहण करने से इसकी उपयोगिता और बढ़ जाती है.

putra prapti ke ayurvedic upay

दोस्तों इस उपाय को करने से पहले कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए दोस्तों यह ध्यान आपको अगर किसी भी प्रकार की आप आयुर्वेदिक मेडिसन ले रहे हैं तो आपको तभी रखना चाहिए.

You May Also Like : पुत्र प्राप्ति का ये वैज्ञानिक तरीका एक बार जरूर अपनाये - Putra Prapti Part #2
You May Also Like : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका - part #3  


 आपको कब्ज की शिकायत नहीं होनी चाहिए आपकी पाचन प्रक्रिया दुरुस्त होनी चाहिए.
ताकि आप नुस्खे का प्रयोग करें तो यह सही तरह से आपके शरीर ले जाकर पचे.

जब तक महिला इस नुस्खे का प्रयोग करें उसे सात्विक भोजन ही ग्रहण करना है, अर्थात नॉनवेज भोजन नहीं करना है.

महिला को बहुत तीखा खाना खाने से बचना है नमक मिर्च मसाले का भी सेवन नाममात्र के लिए ही करना है नमक तो आप स्वादानुसार ले सकते हो लेकिन मिर्च मसाला अवॉइड करें.

You May Also Like : गर्भ में शिशु की हलचल कब कम हो जाती है क्या कारण है
You May Also Like : महिला की पेट और कमर को देखकर कैसे पता करे गर्भ में बेटा है या बेटी  


 अब यह उपाय शास्त्रों से लिया गया है तो इसमें कुछ धार्मिक बंधन भी शामिल है.
यह उपाय लगभग 3 महीने तक आपको करना है तो इस दौरान जितना हो सके आप ब्रह्मचर्य का पालन करें, इससे आपके शरीर की शक्ति संचित रहेगी.

इस दौरान जब तक आप इस नुस्खे का प्रयोग कर रहे हैं आपको जमीन पर ही बिछौना बिछाकर सोना है, इस दौरान जब तक आप इस नुस्खे का प्रयोग कर रहे हैं आपको जमीन पर ही बिछौना बिछाकर सोना है.

beta paida karne ka tarika, pregnancy with baby boy

ऐसा भी कहा जाता है कि इस प्रयोग को जवाब कर रहे हो तो किसी को बताना नहीं चाहिए इसका कोई वैज्ञानिक तथ्य तो समझ में नहीं आता है वैसे हम आपको बता दें कि हमारा धर्मशास्त्र है वह भी विज्ञान पर ही आधारित है इसके पीछे एक ही लॉजिक समझ में आता है कि जब आप इस प्रयोग को करें या ऐसा कोई प्रयोग करें तो उसे ना बताने के पीछे कारण यही हो सकता है कि जो लोग नहीं चाहते कि आपके यहां संतान हो तो उनकी एक नेगेटिव ऊर्जा पैदा होगी जो आपकी ऊर्जा को नुकसान पहुंचाएगी और जो आपकी ऊर्जा आपके शरीर को दुरुस्त करने में लगी है मैं उस कार्य को ठीक ढंग से नहीं कर पाएगी.

You May Also Like : प्रेग्नेंट होने के तुरंत बाद यह लक्षण आते हैं गर्भ में लड़का या लड़की

 आपको रोज एक गिलास गाय का दूध भी चाहिए होगा इसके लिए एक रंग की गाय का दूध मिले तो ज्यादा अच्छा है क्योंकि एक रंग की गाय का दूध ज्यादा ऊर्जावान होता है.

ladka, beta, putra, upay, ilaj, home remedy, garbh, pregnancy tips

अब आपको उपाय के बारे में बता देते हैं आप बेलपत्र के बीज एकत्र कर लीजिए, आप चाहे तो बाजार से जड़ी बूटी विक्रेता के यहां या पंसारी के यहां से बेलपत्र के बीज खरीद सकते हैं इस बात का ध्यान रखें कि बीज ज्यादा पुराने ना हो आप इन बीजों को घर लाकर कूट लीजिए जितना महीन कूट सकते हैं उतना अच्छा है. क्योंकि जितना बारीक चूर्ण होगा उतनी आसानी से शरीर में पच जाएगा पच जाएगा बस आप की औषधि तैयार है आपको सिर्फ आधा चम्मच औषधि या चूर्ण सूरज निकलने से पहले गाय के दूध के साथ लेना है और 4 घंटे तक उसके बाद कुछ नहीं खाना है ताकि इसका असर शरीर में अच्छे से हो सके यह आपको पूरे 30 दिन करना है 30 दिन के बाद आप दोबारा से औषधि बनाइए 30 दिन के लिए और फिर 30 दिन ऐसे ही इसे खाइए यह आपको पूरे 3 माह तक करना है.

You May Also Like : महिला के चलने, उठने बैठने से कैसे पता करे गर्भ में लड़का है या लड़की
You May Also Like : साइंस और धर्म विज्ञान दोनों के अनुसार पुत्र प्राप्ति का सटीक उपाय


 एक छोटी सी बात और जब भी आप इस चूर्ण का सेवन करें उसके बाद कुछ देर शिव का ध्यान अवश्य करें क्योंकि यह दवाई आपको सूरज निकलने से पहले सुबह सभी कार्य से निवृत होने के बाद लेनी है तो उस वक्त साधना का समय होता है तो शिव ध्यान भी आवश्यक है.

शास्त्रों की मानें तो, अब 3 माह के बाद अगर आप पुत्र प्राप्ति की इच्छा रखते हैं तो आपको पुत्र प्राप्त होगा.


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें