Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

रविवार, 22 सितंबर 2019

गर्भावस्था में अमरूद खाने के जबरदस्त फायदे

गर्भावस्था के दौरान हर तरह के खाने का मजा आप ले सकती हैं लेकिन इससे पहले यह जानना जरुरी होता है कि वह आपके और शिशु के स्वास्थ्य को कोई नुकसान तो नहीं पहुंचा रहा? जब भी बात mosmi फलों की आती है तो इनके स्वाद के कारण महिलाओं को गर्भावस्था में इन्हें खाने का मन करता है। लेकिन क्या इन्हें खाना सुरक्षित होता है? अमरुद एक स्वादिष्ट फल होता है लेकिन गर्भावस्था में इसका सेवन लाभकारी होता है या नहीं ? आइए जानते हैं कि गर्भावस्था के दौरान अमरुद का सेवन करना सुरक्षित है या नहीं?

Guava Benefits During Pregnancy


1. पोषक तत्वों से भरपूर
गर्भवती स्त्री को उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की वजह से ज्यादा पोषक तत्वों की आवश्यकता होती हैं। ऐसे में प्रेग्नेंट महिला को ऐसा आहार खाना चाहिए, जिसमे पोषक तत्व ज्यादा मात्रा में हो। ऐसे में अमरुद एक ऐसा फल हैं, जिसमे पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं होती हैं। इसलिए Pregnant Lady को अमरुद जरूर खाना चाहिए।
You May Also Like : गर्भावस्था के प्रथम सप्ताह में नजर आने वाले लक्षण

2. इम्यूनिटी को मजबूत करता है गर्भवती महिलाओं में विभिन्न रोगों से लड़ने की शक्ति होनी चाहिए। अमरूद में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो कई प्रकार के रोगों से लड़ने में मदद करता है।
You May Also Like : BABY HAS STOPPED GROWING - गर्भ में बच्चे का विकास रुकने के संकेत

3. पाचन शक्ति 
प्रेग्नेंट महिलाओं में ज्यादातर पेट से सम्बन्धित बिमारियां ज्यादा होती हैं। उन्हें एसिडिटी की शिकायत हमेशा रहती हैं। खास करके गर्भावस्था के शुरुवाती दिनों में। ऐसे में शुरुवाती दिनों से ही अमरुद खाने से पाचन क्रिया पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता हैं। इससे उन्हें एसिडिटी की समस्या से भी छुटकारा मिलता हैं।
You May Also Like : प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय

guava benefits in pregnancy, is guava safe in pregnancy


4. नर्वस सिस्टम
शिशु के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास के लिए फोलिक एसिड बहुत महत्वपूर्ण है। अमरूद में फोलिक एसिड पाया जाता है जो कि गर्भावस्था के दौरान खाने से शिशु के लिए बहुत लाभदायक होता है।
You May Also Like : अल्कोहल से जेंडर प्रिडिक्शन 1 मिनट में

5. ब्लड शुगर लेवल ठीक रखे
प्रेगनेंसी में डायबिटीज खतरनाक साबित हो सकती हैं। इससे प्रेगनेंसी और डिलीवरी के समय प्रॉब्लम पैदा हो सकती हैं। प्रतिदिन एक अमरुद के सेवन से ब्लड शुगर लेवल कण्ट्रोल में रहता हैं। इसके अलावा अमरुद को खाने से डायबिटीज से बचने में भी मदद मिलती हैं।
You May Also Like : बेकिंग सोडा और यूरिन से कैसे करते हैं जेंडर प्रेडिक्शन केवल 1 मिनट में - Gender prediction



6. रक्तचाप
प्रेग्नेंट वुमन में हाई ब्लड प्रेशर खतरनाक साबित हो सकता हैं। इसलिए आपको रोजाना एक पका हुआ अमरूद जरूर खाना चाहिए, इससे ब्लड प्रेशर को नियन्त्रण में रखने में मदद मिलती हैं।
You May Also Like : पल्स विधि द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन

7. भ्रूण के विकास में मददगार
होने वाले बच्चे के ब्रेन और नर्वस सिस्टम के विकास के लिए फोलिक एसिड की जरूरत पड़ती हैं। अमरुद में फोलिक एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान अमरुद खाने से होने वाले बच्चे को बहुत ज्यादा लाभ प्राप्त होता हैं।
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दी जाने वाली बेस्ट ड्रिंक

8. कब्ज से राहत मिलती है 
अमरूद में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जिससे आतों पर दबाव बनता है और मल त्यागने में आसानी होती है। रोज़ एक अमरूद खाने से कब्ज़ ठीक रहता है।
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए कि नहीं खाना चाहिए


क्या प्रेगनेंसी में अमरूद खाना चाहिए, गर्भावस्था में क्या अमरूद खाना चाहिए, अमरूद खाने के फायदे


9. आँखों की रोशिनी बढ़ाए 
इसमें विटामिन ए भी पाया जाता हैं जो माँ और होने वाले बच्चे की आँखों की रोशिनी को बढ़ाने में मददगार हैं।
You May Also Like : जानें क्यों प्रेगनेंसी में सौंफ खाने से किया जाता है मना

10. कैंसर से बचाता है 
गर्भवती महिलाओं में स्तन कैंसर होने का खतरा रहता है। इसलिए इन्हें ऐसे फल खाने चाहिए जिनमें एंटीऑक्सीडेंट हों, जैसे अमरूद। अमरुद में लाइकोपीन और विटामिन सी होता है जो विषाक्त पदार्थों को शरीर में जमा नहीं होने देता है।
You May Also Like : क्या प्रेगनेंसी में घी खाना फायदेमंद होता है

11. मन शांत बनाये 
टेंशन की वजह से गर्भावस्था के समय शरीर में कोर्टिसोल का निर्माण होने लगता हैं। जिससे गर्भाशय को हानि हो सकती हैं। इसलिए रोजाना अमरूद खाना चाहिए, इससे मन को शांति प्राप्त होती हैं और टेंशन से छुटकारा मिलता हैं। यह मूड को हैप्पी बनाने वाला फल माना गया हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें