Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

रविवार, 27 अक्तूबर 2019

How to check pregnancy at home using soap - घर पर साबुन से प्रेगनेंसी कैसे चेक करें

नमस्कार दोस्तो आज की POST में हम आपसे प्रेगनेंसी चेक करने करने का एक और तरीका बताने वाले हैं यह तरीका भी एकदम घरेलू तरीका है, हम आपको बताने वाले हैं कि साबुन की सहायता से किस तरह से हम प्रेगनेंसी चेक कर सकते हैं वह भी  शुरुआती दिनों में. प्रेगनेंसी  नेचर के द्वारा स्त्रियों को दिया गया एक तोहफा है, अगर कोई महिला प्रेग्नेंट हो जाती है तो उसे गर्भस्थ शिशु का बहुत अच्छे से ध्यान रखना पड़ता है इस दौरान वह अपनी नॉर्मल लाइफ नहीं जी सकती है, इसलिए जितनी जल्दी उसे पता चल जाए कि वह प्रेग्नेंट है उतना ही अच्छा है . कभी-कभी अनचाही प्रेगनेंसी हो जाती है इस स्थिति में भी जितनी जल्दी प्रेगनेंसी होने का पता चले उतना ही अच्छा होता है, तो प्रेगनेंसी चेक करने का एक तरीका साबुन के द्वारा प्रेगनेंसी चेक करना  है, इसी पर चर्चा करते हैं.
You May Also Like : इसे खाने से बांझ को भी पुत्र पैदा होता है - Putra Prapti Part #1
You May Also Like : यह सपने बताते हैं घर में पुत्र होगा या पुत्री


घर पर साबुन से प्रेगनेंसी कैसे चेक करें,pregnancy test at home,how know i am pregnant

पहला प्रश्न यह आता है कि साबुन के द्वारा प्रेगनेंसी चेक आखिर कैसे हो सकती है, दोस्तों इसके पीछे एक हारमोंस है जो कि प्रेग्नेंट महिलाओं के शरीर में ही बनता है, यह हार्मोन जिस-जिस वस्तु से रिएक्शन करता है उस उस वस्तु के द्वारा हम यह पता लगा सकते हैं कि महिला गर्भवती है कि नहीं .
यह हार्मोन महिला के ब्लड और यूरिन में पाया जाता है इसलिए हम महिला के यूरिन और साबुन के मिलने पर जो रिएक्शन होता है उस के माध्यम से पता लगाएंगे.
You May Also Like : बच्चे की धड़कन और महिला के पेट से कैसे पता करे गर्भ में बेटा है
You May Also Like : महिला के पेशाब के रंग से कैसे जाने गर्भ में क्या पल रहा है


दूसरी बात यह है कि यह हार्मोन कितने दिनों बाद महिला के शरीर में एक्टिव होता है जिससे कि इसकी उपस्थिति का पता चल सके.

HCG pregnancy hormans test,pregnancy test kab kare in urdu,kaise jane pregnant hai

दोस्तों महिला के अंडाणु और पुरुष के शुक्राणु के मिलने के बाद प्रेगनेंसी नहीं मानी जाती है जब तक कि यह हार्मोन जिसे हम एचसीजी अर्थात ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन कहते हैं, महिला के शरीर में बनना शुरू न हो जाए, जब यह बनने लगता है प्रेगनेंसी मान ली जाती है.
यह हार्मोन गर्भ की सुरक्षा और उसके पोषण में अहम जिम्मेदारी निभाता है तो कायदे से इस की उपस्थिति गर्भाशय में ही होती है लेकिन इसका प्रोडक्शन इतना अधिक हो जाता है 5 से 6 दिन के बाद की यह यूरिन और ब्लड में भी आ जाता है बस इस की उपस्थिति का यूरिन में पता चल जाए तो आप प्रेग्नेंट है कि नहीं यह भी पता चल जाता है.
You May Also Like : प्रेगनेंसी में नारियल पानी कब पिए, कब नहीं पिए
You May Also Like : बिना प्रेगनेंसी के भी मिस होते हैं पीरियड Part 1


तो इस आधार पर हम पता लगाएंगे किस साबुन से कैसे पता चलता है प्रेगनेंसी है कि नहीं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें