Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

शुक्रवार, 15 नवंबर 2019

प्रेगनेंसी के दौरान कैसे सोए किस प्रकार की पोजीशन रखें

नमस्कार दोस्तों आज के इस POST के माध्यम से हम चर्चा करने वाले हैं कि किसी भी गर्भवती स्त्री को प्रेग्नेंसी के समय सोते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और किस प्रकार से सोना चाहिए.
दोस्तों इस टॉपिक पर हम से काफी बार पूछा जाता है. आज हम अपनी इस टॉपिक में आपसे क्रमवार तरीके से इस संबंध में चर्चा करेंगे ताकि आपको सब कुछ बड़े अच्छे से क्लियर हो पाए आइए चर्चा करते हैं POST शुरू करते हैं

how to sleep during pregnancy,

दोस्तों किसी भी गर्भवती महिला को डॉक्टर पीठ के बल और पेट के बल सोने से मना करते हैं क्योंकि यह दोनों स्थितियां गर्भस्थ शिशु के लिए ठीक नहीं होती हैं. हम यहां आपको कुछ अवस्थाएं बता बता रहे हैं. किस प्रकार से सोना है यह आपको पहली दूसरी और तीसरी तिमाही में काफी फायदा करेंगी.
आइए चर्चा करते हैं किस प्रकार से सोना काफी फायदेमंद रहता है ---
You May Also Like : प्रेगनेंसी में नींद पर्याप्त सोना क्यों जरूरी है
You May Also Like : गर्भावस्था के दौरान मिठाई खाने की लालसा


किसी भी गर्भवती महिलाओं को पेट के बल या पीठ के बल लेटने से यही ज्यादा बेहतर रहता है कि वह करवट लेकर सोए.  डॉक्टर्स के अनुसार बाई तरफ करवट लेकर सोना सबसे ज्यादा बेहतर रहता है क्योंकि दाईं तरफ करवट लेकर अगर आप सोएंगे तो गर्भाशय का भार  आपके लीवर पर पड़ता है जो ठीक नहीं है.

बाई और करवट लेकर सोने से एक फायदा और यह होता है, कि शिशु को प्लेसेंटा के जरिए पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन और पोषक तत्व मिलते रहते हैं, और रक्त का प्रभाव भी बच्चे के लिए सामान्य रहता है जो मां और शिशु दोनों के लिए अच्छा है. क्योंकि सोते समय ही बच्चे को सबसे ज्यादा पोषण मिलता है इस अवस्था में सही पोजीशन में सोना बहुत ज्यादा जरूरी है.

हम यह बात जानते हैं कि एक ही करवट सोना वह भी लंबे समय तक काफी मुश्किल होता है आप समय-समय पर दाहिनी करवट लेते रहिए. लेकिन आपको कुछ ही समय के लिए सिर्फ शरीर के बाएं अंगों को राहत देने के लिए आराम देने के लिए दाहिनी करवट लेनी है. आपको बाइक करवट सोना ही फायदेमंद है. कोशिश करें कि ज्यादातर बाईं ओर करवट लेकर ही सोएं। साथ ही घुटनों को मोड़कर सोएं और दोनों घुटनों के नीचे तकिया रख सकते हैं.
You May Also Like : गर्भवती द्वारा सपने इन फलों का देखे जाना पुत्र प्राप्ति दिखाता है
You May Also Like : गर्भ में पुत्र या पुत्री होने के सटीक 4 लक्षण



which side to sleep, best position for pregnancy,

अगर आप पीठ के बल लेटना भी चाहते हैं तो आप आधे बैठे वाली मुद्रा में लेटे जाने की अपनी कमर के ऊपरी हिस्से के नीचे आप तकियों  को रखें एक से ज्यादा तकिए रखने हैं.  इससे क्या होगा कि आपके सीने में जो जलन होती है उससे बचा जा सकता है ध्यान रहे अगर आप पहली तिमाही में ही बाई करवट सोने की आदत डाल लेते हैं तो आगे चलकर आपको समस्या नहीं होगी.
You May Also Like : स्तनपान से शिशु को होने वाले लाभ - Breast Feeding BenefitsBaby Care
You May Also Like : प्रेगनेंसी में नारियल पानी कब पिए, कब नहीं पिए

इस मुद्रा से करें परहेज

प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में आप पीठ के बल लेट सकती हैं लेकिन ध्यान रहे फिर भी आप ज्यादा समय ना लेटे इस आदत को छोड़ें.
पीठ के बल ज्यादा देर तक लेटने से गर्भाशय का दबाव पीठ की मांसपेशियों, रीढ़ की हड्डियों व रक्त नलियों पर पड़ सकता है। इससे शिशु तक रक्त का संचार ठीक तरह से नहीं हो पाता.
अगर आप सही तरीके से नहीं लेटते हैं तो मांसपेशियों में दर्द व सूजन का सामना करना पड़ सकता है और रक्षा भी कम हो सकता है. आप का ब्लड प्रेशर कम हो सकता है और आप को सही तरीके से नींद न आने की समस्या का सामना करना पड़ता है.

how should a pregnant woman sleep,

गर्भावस्था के दौरान अच्छी और गहरी नींद के लिए टिप्स

गर्भवती महिलाओं की रिक्वायरमेंट को देखते हुए मार्केट में महिलाओं के लिए स्पेशल तकिए आते हैं इन C आकार के तकिए कहा जाता है आप गर्भावस्था में सोने के लिए इन तकियों का इस्तेमाल कर सकती हैं. एक ही तकिया आपकी सभी परेशानियों को दूर कर देगा आपको एक से ज्यादा तकिया रखने की आवश्यकता नहीं होगी.
C आकार तकिया नहीं है तो,  सोते समय एक से अधिक तकियों का इस्तेमाल करें। एक तकिया अपने घुटनों के बीच, तो एक अपने पेट के नीचे रखें। इससे आपको आराम मिलेगा और अच्छी नींद आएगी
रात्रि समय अगर आपको अच्छी नींद लेनी है तो आप को भरपेट भोजन रात के समय नहीं करना चाहिए अपने भोजन में आपको तला भुना फास्ट फूड इत्यादि भी नहीं लेना चाहिए आप शुद्ध पोस्टिक हल्का-फुल्का भोजन ले और कोशिश करें भोजन आप सूर्यास्त के समय ही खा ले नहीं तो आप नहीं तो आप भोजन सोने से दो ढाई घंटा पहले खा ले. अच्छी नींद के लिए यह बहुत जरूरी है.
You May Also Like : प्रेग्नेंसी के समय महिला का कमरा कैसा हो जानिए - 7 #2
You May Also Like : गर्भावस्था में मुंहासों के क्या कारण है और प्राकृतिक तरीकों से कैसे मुहांसों से बचा जाए

प्रेग्नेंसी के समय महिला की पाचन शक्ति थोड़ा कमजोर रहती है तो इस वजह से जल्दी खाना खाना है ताकि सोने से पहले ही आपका भोजन पच जाए.

सुबह के समय योग व हल्के-फुल्के व्यायाम करने से भी रात को अच्छी नींद आ सकती है
जिस कमरे और बेड पर आप सोएं वह साफ-सुथरा और माहौल शांत होना चाहिए. साथ ही साथ आपका कमरा हवादार भी होना चाहिए जिसमें वायु का प्रवाह बना रहे.

pregnancy time sleeping position,

अगर आपके पास सुविधा है तो आप हाथ पैर गर्दन अपनी मांसपेशियों की मालिश करवा सकती है जहां आपको थोड़ा सा भारीपन महसूस होता है यह आपको रात्रि समय सोने में काफी मदद करेगी. क्योंकि मालिश करने से शरीर को आराम मिलता है.
You May Also Like : Y शुक्राणुओं को कैसे ताकतवर बनाए - लड़का पैदा हो
You May Also Like : पुत्री प्राप्ति में स्वर विज्ञान का योगदान

गहरी और लंबी सांसें लेने से भी मांसपेशियों में आए तनाव से राहत मिलती है और ह्रदय की गति सामान्य होती है, जिस कारण नींद आने में समस्या नहीं होती.

आप इस बात का विशेष ध्यान रखें रात्रि समय घर में किसी भी प्रकार का तनाव नहीं होना चाहिए ऐसी अवस्था में भी नींद नहीं आती है.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें