Header Ads

प्रेगनेंसी के दौरान किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए - Pregnancy Tips Part #14

 हम आपके सामने फिर से एक बार कुछ प्रेगनेंसी टिप्स लेकर आपके सामने हाजिर हुए हैं तो हमने पहले भी  बहुत सारी प्रेगनेंसी टिप्स आपको दी है हमें उम्मीद है कि आपने वह भी तो जरूर देखे होंगे और इसी कड़ी में हकुछ और टिप्स लेकर आए हैं जिसके अंदर हम आपको पांच टिप्स pregnancy को लेकर देने वाले हैं हमें उम्मीद है कि आप उनसे जरूर फायदा उठाएंगे आइए चर्चा करते हैं.

Quick pregnancy tips, pregnancy tips in hindi

1. रात्रि में देर से ना सोए - Pregnancy me Raat ko Jaldi Sona hai

अगर आपको प्रेगनेंसी भी ना हो तो आयुर्वेद कहता है कि रात को जल्दी सोना चाहिए और सुबह को जल्दी उठना चाहिए. क्योंकि हमारा शरीर प्रकृति से ही प्रेरणा लेकर बना हुआ है और वह इसी प्रकृति के अनुसार कार्य भी करता है .  अगर आप प्रकृति के अनुसार नहीं चलेंगे तो कहीं ना कहीं शरीर कमजोर होता है. शरीर रोगी बनता है. इसलिए खासकर प्रेग्नेंसी के समय जब शरीर पर अतिरिक्त कार्यभार होता है तो हमें कोशिश करनी चाहिए कि हम प्रकृति के अनुसार ही चलें. ताकि शरीर को प्रकृति के विरुद्ध जाकर अपना कार्य ना करना पड़े क्योंकि इससे अतिरिक्त ऊर्जा समाप्त होती है. इसलिए हमें शाम का खाना सूर्यास्त के समय खा लेना चाहिए और रात को 10:00 बजे से पहले सो जाना चाहिए और सुबह को सूर्योदय से पहले उठ भी जाना चाहिए. यह जीवन चर्या आप को स्वस्थ रखने में आप का बहुत योगदान करेगी.

You May Also Like : प्रेगनेंसी के दौरान किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए - Pregnancy Tips Part #13
You May Also Like : प्रेगनेंसी के दौरान किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए - Pregnancy Tips Part #12

2. संयमित जीवन जिए  - Sayamit jeevan jeena hai

हमने प्रेगनेंसी को लेकर इतने सारे टिप्स अब तक अपने POSTस के माध्यम से दे दिए हैं कि इस point  का कोई सेंस नहीं बनता है क्योंकि अगर आप उन सब टिप्स को मान लेते हैं तो आपका जीवन स्वयं ही संयमित हो जाएगा लेकिन यहां संयमित जीवन से मतलब है कि आपको संयम अपने मन पर रखना है. आप मन से खुश होकर संयमित जीवन अपनाएं इससे आपके मन में बिल्कुल भी द्वंद नहीं रहेगा और मस्तिष्क को अतिरिक्त ऊर्जा सोचने में खर्च नहीं करनी पड़ेगी. हम आपको बता दें हमारा मस्तिष्क सबसे ज्यादा ऊर्जा खर्च करता है हमें लगता है कि हम आराम से बैठे हैं इनर्जी हमारी बच रही होगी, लेकिन जब आप सोचते हैं तो बहुत ज्यादा ऊर्जा खर्च होती है, इसलिए आपने जो संयम प्रेगनेंसी के दौरान रखा हुआ है उसको लेकर बिल्कुल भी चिंतित ना हो वरना आप को संयमित जीवन जीने का 100% लाभ नहीं मिलेगा.




You May Also Like : दूसरे महीने गर्भावस्था का ध्यान कैसे रखें – Two months pregnant care
You May Also Like : गर्भावस्था के दूसरे महीने क्या खाएं क्या नहीं खाएं- 2nd month pregnancy diet

3. संबंध से परहेज बनाएं - Pregnancy me Avoid Relation with Partner

खासकर प्रेगनेंसी के शुरू के 3 महीने में इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इस समय बरुण सबसे ज्यादा नाजुक स्थिति में होता है और वह अपने आप को ताकतवर बना रहा होता है ऐसे में उसे किसी भी प्रकार का झटका नहीं आना चाहिए हम आपको बता दें सबसे ज्यादा मिसकैरेज प्रेगनेंसी के शुरू के 3 महीने में ही होते हैं इस दौरान आपको बहुत ज्यादा सावधानी रखने की आवश्यकता होती है

pregnancy care, tips for pregnant women, care during pregnancy

4. मोबाइल का कम से कम प्रयोग करें - Pregnancy me Mobile ka kam use karee

यह पॉइंट बहुत ज्यादा इंपोर्टेंट है हमारे पास ऐसे प्रश्न आए हैं कि गर्भवती महिलाएं कहती है कि हम तो दिन भर आराम करते हैं लेकिन हमारे घर वाले हमें मोबाइल से दूर रहने के लिए कहते हैं, और अब बताइए इसमें क्या प्रॉब्लम है हम केवल मोबाइल ही तो प्रयोग कर रहे हैं. वैसे सीधा सीधा देखा जाए तो महिला को टाइम पास भी तो करना होता है. लेकिन हम आपको बता दें मोबाइल इसके लिए अच्छा ऑप्शन नहीं है. अगर आप एक्सपर्ट्स की राय माने तो मोबाइल का ज्यादा यूज करने से कई प्रकार की बीमारियां इंसान को हो जाती है. अब आप सोचिए इसका रेडिएशन कितना खतरनाक होता है और आप यह भी सोचिए कि एक गर्भस्थ शिशु जो कि अभी अत्यधिक नाजुक स्थिति में है, उसके लिए यह कितना खतरनाक होगा तो हमारा सजेशन आपको यही है कि जब बहुत ज्यादा जरूरी हो तभी आप मोबाइल का यूज करें, और एक बात का और विशेष ध्यान रखें कि मोबाइल आपके शरीर के आसपास भी नहीं होना चाहिए उसे अपने से दूर रखें. क्योंकि जब मोबाइल बंद रखा हुआ होता है उस वक्त भी उससे खतरनाक रेडिएशन निकल रही होती हैं.


fast pregnancy tips, yoga for pregnant women

You May Also Like : गर्भावस्था के दौरान सांस की तकलीफ को कैसे कम किया जा सकता है
You May Also Like : प्रेगनेंसी में सांस फूलने की समस्या - Breathlessness in pregnancy

5. योगा करें - Pregnancy me Yoga 

जिसे प्रेगनेंसी के अंतिम समय में किसी प्रकार की परेशानी ना आए इसके लिए डॉक्टर से महिलाओं को कुछ विशेष प्रकार के योगा करने की सलाह देते हैं लेकिन प्रेगनेंसी में किसी भी प्रकार के व्यायाम प्रकार का व्यायाम या योगा हमेशा किसी एक्सपर्ट की सलाह पर और उसके सानिध्य में ही करना उचित होता है कभी भी अपनी सलाह पर या इंटरनेट की सलाह पर या किसी भी पुस्तक की इस सलाह पर आप स्वयं कोई भी योगा प्रेग्नेंसी के समय अप्लाई ना करें यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है योगा फायदेमंद तो बहुत है लेकिन किसी एक्सपर्ट की राय के बिना ठीक नहीं क्योंकि वह आप की शारीरिक स्थिति को देखते हुए आपको योगा करने की विधि बताएंगे.

No comments

Powered by Blogger.