Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

Friday, February 14, 2020

प्रेगनेंसी के चौथे महीने स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं

प्रेगनेंसी के चौथे महीने में शरीर में काफी सारे बदलाव नजर आते हैं और हार्मोन की अधिकता हो जाने पर आपके स्वास्थ्य से संबंधित कुछ समस्याएं भी नजर आने लगती है. कुछ महिलाओं को काफी ज्यादा परेशानी हो सकती हैं लेकिन अधिकतर मामलों में हल्की-फुल्की समस्या का सामना करना पड़ता है.

चौथे महीने सबसे इंपोर्टेंट बदलाव महिला के शरीर में यह आता है कि आपको देखकर लगने लगेगा कि आप प्रेग्नेंट हैं.
pregnancy care tips in hindi

इसके अलावा काफी सारे शारीरिक बदलाव महिला के शरीर में नजर आते हैं महिला के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन का स्तर काफी ज्यादा बढ़ जाता है.  जिसका निगेटिव असर महिला की त्वचा पर पड़ सकता है. महिला की त्वचा पर कई तरह की परेशानियां नजर आ सकती हैं जिसके अंदर त्वचा पर तिल, झाइयां, त्वचा का डार्क हो जाना इत्यादि होती है. इसके लिए महिला को किसी भी प्रकार के केमिकल युक्त सौंदर्य प्रसाधन का प्रयोग नहीं करना चाहिए, क्योंकि वह केमिकल आपके शरीर में आपकी त्वचा से पहुंच जाएगा और बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के चौथे महीने गर्भ में शिशु का विकास

इसके लिए आप नेचुरल प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें. नेशनल प्रोडक्ट काफी कॉस्टली भी पड़ जाते हैं. इसका एक अच्छा उपाय यह है कि आप आयुर्वेद में जाएं या फिर आप घर पर ही बटन बनाकर जो कि घर पर ही मिलने वाले खाद्य पदार्थ और मसालों से तैयार हो जाते हैं उनका प्रयोग अपनी त्वचा पर कर सकती है.
pregnancy care tips, 4th month pregnancy care

एस्ट्रोजन हार्मोन जितना जरूरी होता है उसके ही उसके  साइड इफेक्ट भी होते हैं. चौथे महीने में महिला की नाक सूज सकती है. जिसके कारण नाक बंद होने की समस्या नजर आ सकती है और नाक से खून तक आ सकता है. कभी-कभी नाक से खून आना नेचुरल प्रोसेस माना जा सकता है लेकिन अगर यह समस्या अक्सर आपको नजर आ रही है तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए.

बहुत सारी गर्भवती महिलाओं को चौथे महीने में बवासीर की समस्या हो जाती है. आप किसी भी प्रकार की हेल्थ संबंधित समस्या में लापरवाही ना बरतें डॉक्टर से जरूर संपर्क करें और सलाह लें , डॉक्टर से पूछ कर इलाज कराएं.

गर्भावस्था का चौथा महीना शुरू होते होते महिला को जी मिचलाना उल्टी और बहुत सारी समस्याएं, अपच जैसी समस्याएं समाप्त होने लगती हैं.

लेकिन इस दौरान आपको अपनी सेहत का खास तौर पर ध्यान रखने की जरूरत होती है 
कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के समय चौथे महीने में सीने में जलन अर्थात हार्टबर्न की समस्या देखने को मिल सकती है.

 कुछ महीनों कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के शुरू के 3 महीने खाने की इच्छा नहीं होती थी उनके साथ ऐसा हो सकता है कि उन्हें भूख ठीक-ठाक लगने लगे और उनकी भूख बढ़ जाए इस वजह से आपका वजन भी बढ़ सकता है. अपने खाने में ऐसी चीजों को शामिल करें जो पोस्टिको हो. ज्यादा कैलरी अपने भोजन के माध्यम से ना लें. 
pregnancy tips

अपच की समस्या गर्भावस्था के चौथे महीने में काफी ज्यादा होती है यह डिलीवरी तक रह सकती है अक्सर महिलाओं को कब्ज की परेशानी आती जाती रहेगी.
जैसा कि पिछली तिमाही में चक्कर आना उल्टी आना जी मिचलाना इस तरह की शिकायतें रहा करती थी जिससे महिला काफी परेशान रहती थी यह समस्याएं कम होने लगेंगी महिला अपने आप को एनर्जेटिक महसूस करेगी.

No comments:

Post a Comment