Header Ads

प्रेगनेंसी का छठा महीना शारीरिक लक्षण और बदलाव

दोस्तो आज के इस वीडियो के माध्यम से हम प्रेगनेंसी के छठे महीने को लेकर चर्चा कर रहे हैं इस वीडियो के माध्यम से हम आपसे चर्चा करने वाले हैं.
छठे महीने में महिला को कौन से लक्षण आते हैं कौन से लक्षण पहले महीने से चले आ रहे हैं.
प्रेगनेंसी के छठे महीने में महिला के शरीर में कौन-कौन से बदलाव नजर आते हैं और
 छठे महीने में बच्चे के विकास और आकार पर भी चर्चा करेंगे.

छठे महीने में महिला को कौन से लक्षण आते हैं - 6th Month Pregnancy me Lakshan

छठे महीने में महिला को कौन से लक्षण आते हैं - 6th Month Pregnancy me Lakshan


दोस्तों प्रेगनेंसी के 5 महीने बीत चुके हैं छठवां महीना शुरू हो चुका है इस दौरान आपके शरीर में कई प्रकार के लक्षण जो पहले महीने में ही नजर आ रहे थे वह लगातार चल सकते हैं साथी साथ कुछ महिलाओं को जो लक्षण 5 वीं महीने  में नहीं आए थे वह लक्षण इस महीने में आ सकते हैं यह पर्सन टू पर्सन डिपेंड करता है. ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है कि लक्षण का आना निश्चित हो.


  • शरीर में सूजन की समस्या कुछ महिलाओं को चौथे, पांचवे महीने में ही आनी शुरू हो जाती है.  लेकिन कुछ महिलाओं को यह छठे महीने में आनी शुरू होती है. महिला के पैरों हाथों टखनों आदि में सूजन नजर आ सकती है. इसे एडिमा कहा जाता है. क्योंकि जो शरीर के टिशु होते हैं उनके अंदर तरल बनना शुरू हो जाता है ताकि आपके शिशु को पोषण मिल सके क्योंकि शिशु बहुत तेज गति से विकास कर रहा है. शिशु काफी बड़ा हो गया है तो उसे पोषण की ज्यादा जरूरत होती है. तो कुल मिलाकर इसे लेकर ज्यादा घबराने की आवश्यकता नहीं होती है यह गर्भ अवस्था से जुड़ा हुआ एक साधारण सा लक्षण है.


  • प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में, अपच की समस्या हार्मोन के कारण होती है,  लेकिन अब गर्भ काफी बड़ा हो चुका है इसकी वजह से पेट पर दबाव पड़ने लगता है अपच की समस्या हो सकती है क्योंकि आंतों को अपने कार्य के लिए संपूर्ण जगह मिल ही नहीं पाती है. इस समस्या से बचने के लिए फाइबर युक्त भोजन आपको खाना चाहिए. साथ ही साथ आपको भरपूर पानी भी पीना है. आप घरेलू उपायों द्वारा ही कब्ज को दूर करने की कोशिश करें ज्यादा समय तक डॉक्टर से इसके लिए दवाई नहीं लेनी चाहिए.


  •  पिछले महीनों के जैसे ही इस महीने भी आपको भूख ज्यादा लग सकती है क्योंकि बच्चा विकास कर रहा है ज्यादा पोषक तत्वों की आवश्यकता है बस भूख को मिटाने के लिए एक बात का ध्यान रखें कि आप जंक फूड ना ले.


  • जैसे जैसे गर्भावस्था बढ़ती जाती है वैसे वैसे पीठ की समस्या सामने आने लगती है छठे महीने में आमतौर पर यह लक्षण सामने जरूर आता है.


  • माना जाता है मोटापा खर्राटों की एक वजह होता है क्योंकि सिर और गर्दन के चारों ओर टिशु सूख जाते हैं जिसके कारण खर्राटों की समस्या हो सकती है. गर्भावस्था के कुछ मामलों में खर्राटे मधुमेह का संकेत भी हो सकते हैं इसलिए आप डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें.
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में लेटते समय किन बातों का ध्यान रखें
इन्हें भी पढ़ें : पांचवे महीने में शिशु का विकास - 19 सप्ताह, 20 सप्ताह 
इन्हें भी पढ़ें : तीसरे महीने महिला के शरीर में बदलाव और बच्चे का विकास
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी होने के बाद पुत्र प्राप्ति की आयुर्वेदिक औषधि
इन्हें भी पढ़ें : बच्चे में विकलांगता आने के कारण

प्रेगनेंसी के छठे महीने में महिला के शरीर में  बदलाव - 6th Month Pregnancy me women ki body me Badlav


जैसे-जैसे प्रेगनेंसी बढ़ती जाती है वैसे-वैसे शरीर में काफी सारे परिवर्तन दिखने लगते हैं

  • प्रेगनेंसी का छठवां महीना चल रहा है वजन काफी बढ़ गया होगा. इस दौरान गर्भाशय आमतौर पर आपके पेट के ऊपर 1 इंच या उससे अधिक तक बढ़ जाता है, बाहर निकल जाता है. इस वक्त आप की नाभि भी बाहर निकली हुई आपको दिखाई देने लगती है. यह डिलीवरी के कुछ हफ्तों तक ऐसे ही बनी रहेगी उसके बाद धीरे-धीरे अंदर वापस चली जाएगी.


  • छठे महीने में भी महिला के मसूड़ों से खून आने की समस्या हो सकती है यह समस्या सभी महिलाओं को नहीं होती है लेकिन जिन महिलाओं को होती है छठे महीने में यह अक्सर नजर आती है.


  • गर्भावस्था की आवश्यकताओं के चलते रक्त संचार के कारण हाथ पैरों पर प्रभाव पड़ने लगता है हाथ पैरों में कड़ापन नजर आने लगता है.


  • शिशु की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए शरीर के अंदर ब्लड बहुत तेज गति से दौड़ता है, जिसके कारण नसों में उभार नजर आ सकता है यह सामान्य बात है इसके लिए चिंतित होने की आवश्यकता नहीं.


  • जैसे-जैसे गर्भावस्था बढ़ती है, पेट के निचले हिस्से में खिंचाव आने लगता है. इसकी वजह से निशान तक पड़ सकते हैं और आपको असहजता भी महसूस हो सकती है.

6th Month me baby ka Vikash aur Size

छठे महीने में बच्चे का विकास और आकार - 6th Month me baby ka Vikash aur Size



  • गर्भावस्था का छठवां महीना चल रहा है इस महीने महिला अपने गर्भस्थ शिशु की हलचल बड़ी आसानी से सुन सकती है. इस महीने शिशु का वजन लगभग 900 ग्राम के करीब हो जाता है, और उसकी लंबाई 12 इंच के आसपास हो जाती है, जो अपने आप में काफी ज्यादा मानी जाती है.


  • महीने डॉक्टर अल्ट्रासाउंड करते हैं तो आपको नजर आ सकता है कि आपका गर्भस्थ शिशु अंगूठा चूस रहा है, इस महीने शिशु का जो सिर होता है वह अन्य अंगों के मुकाबले तुलनात्मक दृष्टि से काफी बड़ा रहता है. शिशु के फेफड़े में अभी भी काम चल रहा है वह अभी परिपक्व नहीं हुए हैं उसमें अभी टाइम है.

  • शिशु की त्वचा आ चुकी है लेकिन त्वचा अभी भी पारदर्शी है रक्त वाहिकाओं की वजह से त्वचा इस महीने लगभग गुलाबी सी नजर आती है.

  • छठा महीना चल रहा है आपका शिशु काफी सक्रिय है वह हाथ पैरों को बहुत तेजी से हिलाने डुलाने में सक्षम है , और आपकी बाहरी आवाज पर प्रतिक्रिया भी देगा. इस महीने के अंत तक बच्चों की उंगलियां और नाखून काफी हद तक विकसित हो जाएंगे.


  • शिशु के गुलाबी शरीर पर चर्बी जमनी शुरू हो जाती है जिसके कारण अब शिशु का वजन बहुत तेज़ी से बढ़ता है.
  • दिमाग का भी अधिकतर विकास हो चुका होता है.
  • शिशु का सिर और चेहरा पूरी तरह से अपना आकार ले चुके होते हैं.


No comments

Powered by Blogger.