खिलाड़ी हूं, योगा करती हूं, लेकिन प्रेगनेंसी नहीं हो रही

 हमारे पास एक प्रश्न यह भी आया था कि मैं अपनी सेहत का ध्यान रखती हूं, खिलाड़ी हूं, योगा करती हूं, लेकिन प्रेगनेंसी नहीं हो रही. ऐसा क्यों ?

किसी भी व्यक्ति को यह सुनकर काफी आश्चर्य होगा की एक महिला जो काफी फिट है, खिलाड़ी है, मेहनत करती है. जिसका शरीर मजबूत है. उसके बाद भी उसे प्रेगनेंसी नहीं हो रही है. जबकि उसकी सभी रिपोर्ट भी सही है.


किन महिलाओं को प्रेगनेंसी में दिक्कत

सभी ने यह सुना होगा कि महिला की तबीयत ठीक नहीं है, मेहनत नहीं करती है, मोटापा है, पीरियड्स अनियमित हैं, इस वजह से प्रेगनेंसी नहीं होती है. लेकिन तंदुरुस्त महिला के साथ यह समस्या क्यों. आइए इसी पर चर्चा करते हैं

एक रिसर्च के अनुसार जो महिलाएं मेहनत कश होती है. वह अपनी जॉब के दौरान भी मेहनत कर सकती है. यह खिलाड़ी भी हो सकती है, और मजदूर भी हो सकती है. या वह महिला जिसकी जॉब की शिफ्ट डे नाइट बदलती रहती है. उनके साथ अक्सर प्रेगनेंसी के समस्या आ सकती है. और उन्हें काफी मेहनत करने के बाद प्रेगनेंसी होती है.

इस रिसर्च के अंदर 33 वर्ष से कम महिलाओं को लिया गया था और इनके साथ साथ जो महिलाएं मोटापे का शिकार हैं, और धूम्रपान या किसी नशे की लत का शिकार है. उन्हें भी इस रिसर्च में शामिल किया गया था.

इन मामलों में तो हम सभी जानते हैं, कि प्रेगनेंसी होने में परेशानी होती है. 

खिलाड़ी हूं, योगा करती हूं, लेकिन प्रेगनेंसी नहीं हो रही

 

मेहनतकश महिला को प्रेगनेंसी में क्यों होती है दिक्कत

एक स्वस्थ महिला के साथ परेशानी काफी आश्चर्य वाली बात है. एग्जैक्ट शरीर के अंदर क्या होता है. जिस वजह से प्रेगनेंसी में परेशानी का सामना करना पड़ता है. उस पर तो अभी तक मेडिकल भाषा में अभी तक कोई लेख हमारे सामने नहीं आया है. लेकिन फिर भी हम आयुर्वेद के नजरिए से इसकी व्याख्या करते हैं.

पहली बात प्रेगनेंसी अपने आप में एक शरीर के लिए काफी बड़ा कार्य होता है. इसके लिए शरीर को बहुत सारी एनर्जी की आवश्यकता होती है, और प्रेगनेंसी शरीर में तभी होती है, जब हमारा शरीर यह सुनिश्चित करता है, कि इसके लायक आवश्यक सुविधा शरीर के अंदर है. अर्थात एक गर्भस्थ शिशु को जिन भी रिसोर्सेज की आवश्यकता होती है. उसे शरीर उपलब्ध करवा सकता है. जब शरीर यह निश्चित कर लेता है तभी वह प्रेगनेंसी को एक्सेप्ट करता है.

तभी अगर महिला किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो वह कई प्रकार की हो सकती है. उसकी डिटेल में नहीं जाएंगे या महिला बहुत ज्यादा तनाव लेती हो, तब प्रेगनेंसी होने में काफी समस्या आती है.

 साथ ही साथ जब महिला भले ही बीमार नहीं हो लेकिन उसका शरीर कमजोर होता है. उसके अंग शिथिल होते हैं. तब भी शरीर प्रेगनेंसी एक्सेप्ट नहीं करता है.

जब कोई महिला बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करती है, या खिलाड़ी होती है. उसे बहुत ज्यादा एनर्जी की आवश्यकता होती है. और शरीर जितने भी एनर्जी एकत्र करता है. वह सारी की सारी एनर्जी स्वयं महिला के लिए ही खर्च हो जाती है.

क्योंकि वह बहुत ज्यादा मेहनत करती है, या कोई महिला रोजाना अधिक भारी सामान उठाती है. तब भी उसे बहुत ज्यादा एनर्जी की आवश्यकता होती है, तो उसे भी प्रेगनेंसी होने में दिक्कत होती है .

अगर प्रेगनेंसी हो भी जाए तो उनके अधिक मेहनत के कारण उन्हें पता भी नहीं चलेगा और प्रारंभिक अवस्था में मिसकैरेज हो सकता है. 

शरीर कैसे काम करता है

हमारे शरीर के लिए हमारे मस्तिष्क का एक बड़ा हिस्सा अपने आप कार्य करता है. वह शरीर का सारा का सारा मैनेजमेंट देखता है. शरीर की सुरक्षा रोग बीमारी या प्रेगनेंसी.
वह सभी के लिए रिसोर्सेज का डिस्ट्रीब्यूशन प्रायोरिटी के आधार पर करता है.

अगर महिला रोजाना बहुत ज्यादा मेहनत करती है, तो मस्तिष्क को यह पता होता है, कि यह कार्य उसके लिए बहुत जरूरी है. तो वह रिसोर्सेज पहले उस कार्य के लिए अरेंज करता है, जो जरूरी होता है.

ऐसे में नए कार्य के लिए बहुत ज्यादा एनर्जी की आवश्यकता होती है. जैसे कि प्रेगनेंसी,  मस्तिष्क उसे होने नहीं देता है. क्योंकि उसके लिए आवश्यक रिसोर्सेज उपलब्धि नहीं होते हैं. इसलिए महिला एकदम फिट और स्वस्थ होते हुए भी गर्भवती नहीं होती है.

स्वस्थ मेहनतकश महिला कैसे हो गर्भवती

जो महिलाएं अत्यधिक शारीरिक मेहनत करती हैं. व्यायाम करती है. या खेलती है. और उन्हें प्रेगनेंसी नहीं हो रही है, तो सबसे पहले वह 1 महीने के अंदर अपनी शारीरिक मेहनत 25 प्रतिशत पर ले आए.


उसके बाद हल्का-फुल्का व्यायाम घर पर ही करें. सुबह शाम टहलने जाए.  उसके बाद वह स्वयं देखेंगे कि अगर वह प्रेगनेंसी के दृष्टिकोण से स्वस्थ हैं. तो दो-तीन महीने में वह गर्भवती हो गई .

Post a Comment

Previous Post Next Post

India's Best Deal