Header Ads


Pregnancy Care items

प्रेगनेंसी से बचने के लिए इमरजेंसी पिल्स और उसके साइड इफेक्ट

 एक प्रश्न कई बार आ रहा है कि हमने इमरजेंसी बर्थ कंट्रोल पिल्स का प्रयोग किया है और हमें अभी तक पीरियड नहीं हुए हैं ऐसा क्यों.

कई बार यह भी प्रश्न होता है कि एक बार तो पीरियड्स हो गए लेकिन अगली बार नहीं हो रहे हैं. क्या प्रेगनेंसी है.


सबसे पहले तो हम आपको यह बता दें कि आप हमेशा सुरक्षा का इंतजाम पहले से ही करके रखें क्योंकि अगर आपको प्रेगनेंसी नहीं चाहिए,अर्थात आज के समय प्रेगनेंसी नहीं चाहिए, और बाद में प्रेगनेंसी चाहिए तो इस प्रकार की इमरजेंसी बर्थकंट्रोल पिल्स का प्रयोग करना सही नहीं होता है.

यह आपकी आपको एक प्रकार से बांझपन की ओर ले जाने का कार्य करते हैं.

प्रेगनेंसी से बचने के लिए इमरजेंसी पिल्स और उसके साइड इफेक्ट

जैसे कि आप सभी जानते हैं कि 72 घंटे के बाद इस प्रकार की कोई भी मेडिसन कार्य नहीं करती है. अगर प्रेगनेंसी हो गई है, और 72 घंटे के बाद आपने इस प्रकार की कोई दवाई ली है, तो वह अपना असर नहीं दिखाएगी.

आपको प्रेगनेंसी रहेगी. इसका मतलब यही है, कि यह मेडिसन प्रेगनेंसी की प्रोसेस को प्रभावित नहीं करती है. बस यह उसमें रुकावट डालने का कार्य करती है. यह रुकावट कई प्रकार से हो सकती है. इसके लिए अलग-अलग दवाई कंपनियां अलग-अलग प्रकार की ऐसी ही मेडिसन का निर्माण करती हैं.

अगर आप 72 घंटे के अंदर बर्थकंट्रोल पिल्स का इस्तेमाल करते हैं, तो इनमें से कुछ दवाइयां आपके ओवुलेशन पीरियड को लेट कर देते हैं. अगर अंडा ही नहीं रहेगा तो फिर प्रेगनेंसी नहीं होगी.

यहां यह बात क्लियर है कि यह गोलियां गर्भपात के लिए नहीं जाने जाती है.

आप जानते हैं कि अगर प्रेगनेंसी होने में दिक्कत हो रही हो तो कहा जाता है कि कुछ हार्मोन अल डिसबैलेंस हो गया है, या पीरियड नहीं आ रहे हैं, तो यह कहा जाता है कि हारमोनल डिसबैलेंस के कारण पीरियड नहीं आ रहे हैं. अगर आप किसी भी नेचुरल प्रोसेस को रोकने की कोशिश करते हैं.

जैसे की प्रेगनेंसी आपकी नेचुरल प्रोसेस है. ओवुलेशन 1 नेचुरल प्रोसेस है. अगर उसे रोकने की कोशिश करते हो तो सीधी सीधी सी बात है, कि आपके हारमोंस की मात्रा में उतार-चढ़ाव होगा.

और यह उतार-चढ़ाव आप मेडिसिन लेकर जबरदस्ती करते हैं तो उसके साइड इफेक्ट तो नजर आएंगे ही.
यह कुछ उसी प्रकार से है जैसे कि आपके हाथ या पैर में कोई कट लग जाता है तो जब वह घाव ठीक होता है तो निशान छोड़ देता है और वह जगह थोड़ी सी कमजोर भी हो जाती है.

इसी प्रकार से इंटरनल प्रोसेस को रोक देते हैं तो यह एक प्रकार से घाव ही होता है.

इस प्रकार की दवाइयां आपकी हार्मोन संतुलन को बिगाड़ कर रख देती हैं.

इस कारण से बांझपन की समस्या भी आ जाती है प्रेगनेंसी के लिए सभी हारमोंस का संतुलित होना अत्यधिक आवश्यक होता है.

जैसा कि हमने बताया है कि यह दवाइयां हारमोंस में चेंज करके आप के ओवुलेशन पीरियड को लेट कर देते हैं. इस प्रकार से आप का पीरियड थोड़ा सा लेट हो जाता है. प्रोसेस धीमी हो जाती है.

इस कारण से आपके पीरियड्स लेट हो जाते हैं. इस प्रकार की मेडिसन का प्रयोग अगर आप लगातार करते रहते हैं .तो धीरे-धीरे बांझपन की समस्या आ जाती है, और आपके पीरियड्स भी असंतुलित हो जाते हैं.

अगर आपका एक पीरियड आ चुका है, और दूसरे पीरियड में देरी हो रही है तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप गर्भवती हैं. इसका सीधा सीधा मतलब यही है, कि आपकी पीरियड साइकिल हार्मोन अल डिसबैलेंस के कारण बिगड़ रही है, जो कि आपके द्वारा इमरजेंसी मेडिसन लिए जाने की वजह से है.

जैसा कि हमारे पास प्रश्न आते हैं कि इमरजेंसी पिल्स लेने के कारण पीरियड सही तरीके से नहीं आ रहे हैं एक-दो दिन आए, रुक गए, फिर आए, रुक गए क्लॉटिंग से वगैरा की समस्या है. यह सब इसी पिल्स की मेहरबानी है. क्योंकि इसने आपके हार्मोन संतुलन को बिगाड़ दिया है.

अगर आपने पिल्स ली है अगर आपने इस प्रकार की मेडिसन का प्रयोग किया है और आपको एक या 2 घंटे के अंदर अंदर उल्टी आ गई है तो यह काम नहीं करेगी. जिसने भी आपको यह मेडिसन सजेस्ट की है अर्थात आपका डॉक्टर उससे पूछकर आप दोबारा ले सकते हैं. लेकिन पूछना आवश्यक है.

हमें उम्मीद है अगर आप मेडिकल बैकग्राउंड से भी नहीं है तो आपको यह बात समझ आ गई होगी कि आपको मंथली साइकिल में क्यों दिक्कत आ रही है.

No comments

Powered by Blogger.