2 दिन में पीरियड लाने का जबरदस्त घरेलू उपाय

 हम उन बहनों की चिंता को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं, जिनका कमेंट बार-बार आता है कि पीरियड्स नहीं आ रहे हैं.

कोई ऐसा घरेलू उपाय जल्दी से बताइए, जिससे कि मेरी समस्या का हो जाए. कई बार पीरियड हार्मोन अल डिसबैलेंस हो जाने के कारण से नहीं आते हैं और कई बार ऐसा भी हो सकता है कि कुछ समय रह गया हो जिस वजह से पीरियड्स नहीं आ रहे होते हैं.

अगर हार्मोन अल डिसबैलेंस है तो इसमें ज्यादा चिंता की बात नहीं होती है, लेकिन अगर कुछ समय रह गया है, तो फिर यह काफी चिंता की बात होती है.

 अगर दंपत्ति प्रेगनेंसी के लिए तैयार नहीं रहता है तो उस स्थिति में मामला थोड़ा क्रिटिकल हो जाता है. आइए बात करते हैं एक जबरदस्त उपाय की जो 2 या 3 दिन में आपकी समस्या को हल कर देगा.

TIP: पीरियड्स आने के दौरान महिलाएं Reusable Menstrual Cup का इस्तेमाल करने लगी है. आजकल यह ट्रेंडिंग प्रोडक्ट है. यह काफी आरामदायक है. इसका प्रयोग करने से किसी भी प्रकार की लीकेज परेशानी इत्यादि का सामना नहीं करना पड़ता है. दिन में दो-तीन बार पैड बदलने की समस्या से मुक्ति मिल जाती है. बदबू का सामना नहीं करना पड़ता है. यह काफी किफायती है. एक बार इसे परचेस करने के बाद इसे बार-बार प्रयोग किया जा सकता है. यह बहुत ही अच्छी क्वालिटी  के फ्लैक्सिबल मैटेरियल का बना होता है. इसके साइज का भी ध्यान रखें.

Reusable Menstrual Cup के बारे में और अधिक जाने


दोस्तों अगर मेडिकल टम्स में बात की जाए तो पीरियड आने या नहीं आने के पीछे हारमोंस में बदलाव को जिम्मेदार बताया जाता है, लेकिन अगर आयुर्वेद की बात की जाए तो यहां बहुत ही सीधे तरीके से कहा जाता है कि शरीर में किसी भी कार्य के लिए एक आदर्श तापमान की आवश्यकता होती है, और अगर तापमान में परिवर्तन आता है तो शरीर में चीजें बदलने लगती हैं.

ऐसे ही यह भी कहा जाता है कि अगर महिला के शरीर का तापमान अधिक रहता है, तो गर्भस्थ महिला को संकुचन की स्थिति बन जाती है.

 अर्थात गर्भपात की स्थिति हो जाती है और साथ में यह भी कहा जाता है, कि अगर महिला के शरीर का तापमान अधिक है, तो महिला को असमय पीरियड भी आ सकते हैं, या यह कह सकते हैं कि पीरियड से आ जाते हैं.

 हम एक घरेलू उपाय की चर्चा कर रहे हैं तो हम इसी के आधार पर बात करें करेंगे.

यह घरेलू उपाय आप तभी अपना सकते हैं, जब सर्दियों का मौसम होता है. असल में इस उपाय में आपको अदरक का प्रयोग करना है. अदरक की तासीर अत्यधिक गर्म होता है, और यह शरीर को आंतरिक गर्मी प्रदान करने का कार्य करता है. इसलिए यह सर्दियों के मौसम में आता भी है.

किसका प्रयोग करने से पहले आपको यह सुनिश्चित करना है, कि आपको अदरक से किसी भी प्रकार की कोई एलर्जी नहीं है. क्योंकि आपको यह थोड़ा अधिक मात्रा में प्रयोग में लाना है.

आपको लगभग कद्दूकस किया हुआ या अच्छी तरह से पिसा हुआ अदरक लगभग एक चम्मच लेना है.

लगभग 250ml  पानी आप गर्म करने रख दीजिए और जब उबलने लगे तो इसके अंदर आप एक चम्मच पिसा हुआ अदरक मिला दे, और अब इसे लगभग 3 से 4 मिनट तक उबलने दें. उसके बाद इसे चूल्हे से उतारकर ठंडा होने रख दे.

पानी का रंग हल्का सा बदल जाएगा. इस पानी को आप छान ले. जो यह है अदरक का रस तैयार हुआ है इसे बिल्कुल ठंडा नहीं होने देना हल्का सा गर्म रहते हुए इसे चाय की तरह की लेना है.

अदरक का रस प्रकृति में काफी गर्म होता है. यह आपको नुकसान नहीं दे. इसलिए आपको कुछ हल्का फुल्का खाने के बाद ही लेना है. लगभग उसके 15 मिनट बाद लेना है.

जब तक आप को पीरियड नहीं आ जाए तब तक आपको इसका प्रयोग करते रहना है. माना जाता है कि दूसरे 3 दिन में या कभी कभी एक दिन में ही यह अपना रिजल्ट दे देता है.

इसकी सहायता के लिए हमें कुछ और छोटे-छोटे कार्य करने चाहिए ताकि रिजल्ट जल्दी आए.  आप जब तक अदरक रस ले रहे हैं, तब तक आपको गर्म पानी से नहाना है.

मतलब इतना गर्म पानी जिसमें आप आसानी से नहा सकते हैं. यह भी आपके शरीर को गर्मी देगा जो आपके काम आएगी . साथ ही साथ अगर आपको कच्चा पपीता खाने उपलब्ध है तो उसे रोजाना जरूर खाएं. अगर कच्चा नहीं भी मिलता है तो पका हुआ पपीता ही ले ले.


सरसों का तेल या कोई भी बाजार का तेल जो थोड़ा गर्म प्रकृति का हो उसे सिर पर रोजाना लगाएं यह भी शरीर में गर्मी को  बढ़ाने का कार्य करता है और आपकी जब मदद करेगा.  कहते हैं ना कि जब सर्दी जुखाम हो जाता है तो सर में गर्म तेल लगाया जाता है गर्मी पैदा करने के लिए तो यहां वह भी फायदेमंद है.

अगर संभव है तो रोजाना घूमने जाए या हल्की फुल्की दौड़ लगाएं शरीर से पसीना निकाले.  जब आप यह सब कार्य एक साथ करेंगे तो यह मिलकर आपकी समस्या का समाधान देंगे.

Post a Comment

Previous Post Next Post