कब Ovulation Kit के नतीजे गलत आते हैं

 कई बार इस प्रकार का प्रश्न आता है कि हमने Ovulation Kit का प्रयोग किया है. लेकिन इसके नतीजे सही नहीं आ रहे हैं. प्रेगनेंसी नहीं हो रही है. आज इसी टॉपिक पर हम  चर्चा करने जा रहे हैं.



Ovulation Kit का प्रयोग महिला के Ovulation Period को जानने के लिए किया जाता है. जिस समय महिला का अंडा उत्सर्जित होता है. और यह मात्र 24 घंटे ही एक Monthly Cycle में उपलब्ध रहता है. और यह वह 24 घंटे होते हैं, जब महिला गर्भवती हो सकती है.

कई बार Ovulation Kit के यूजर इस प्रकार की शिकायत करते हैं, कि Ovulation Kit के रिजल्ट के आधार पर ही हमने प्रेगनेंसी के लिए कोशिश की थी.  और कुछ महीने इसका प्रयोग करने के बाद नतीजा बिल्कुल नहीं निकला है.

Ovulation Kit ने अपना काम नहीं किया है. ऐसा क्यों होता है. इस पर हम बात करने वाले हैं, कि यह किट क्यों अपना काम सही तरीके से नहीं कर पा रही थी.

क्योंकि माना जाता है कि यह Ovulation Kit 99% तक सही रिजल्ट देती है. इसके अनुसार प्रेगनेंसी के लिए कोशिश करने पर रिजल्ट बहुत जल्दी आता है.






ऑव्युलेशन से 24-48 घंटे पहले LH हार्मोन रिलीज होता है. इसी हारमोंस का पता 24 से 48 घंटे पहले ओवुलेशन किट के माध्यम से लगा लिया जाता है. Ovulation period कंफर्म हो जाता है.

कुछ कारण है जिनकी वजह से ओवुलेशन किट गलत रिजल्ट दे सकती है.

समय से पहले या  देरी से ओवुलेशन किट का प्रयोग करना

दंपत्ति अज्ञानता वश कभी-कभी ओवुलेशन किट का प्रयोग करने का सही वक्त नहीं जानते हैं. वह कभी-कभी समय से पहले या कभी कभी समय निकल जाने के बाद इस किट का प्रयोग करते हैं, और रिजल्ट सही नहीं आता हैं.

पीसीओडी की समस्या में

महिला को पीसीओडी की समस्या में हारमोंस डिसबैलेंस हो जाता है. या किसी और कारण से भी महिला के शरीर में अगर हारमोंस डिसबैलेंस हो जाते हैं, तो रिजल्ट सही नहीं आता है. पीसीओडी में महिला के शरीर में बिना ओवुलेशन पीरियड के भी LH हारमोंस में वृद्धि देखी गई है. इस वजह से रिजल्ट सही नहीं आता है.

टेस्ट करने का सही समय नहीं पता होना

महिला के शरीर में LH हारमोंस दोपहर के समय सबसे ज्यादा तीव्र होता है. इसी समय ओवुलेशन किट का प्रयोग करके ओवुलेशन पीरियड का पता लगाने की कोशिश करनी चाहिए.

पैटर्न का न पता होना

LH हार्मोन के लेवल में वृद्धि हर महिला में अलग-अलग समय पर होती है. इसलिए, जरूरी है कि महिलाओं को पीरियड साइकिल का ट्रैक पता हो. कम से कम छह महीनों तक मासिक धर्म चक्र (Menstrual cycle) पर नजर रखें, इससे पैटर्न की पहचान करने में आसानी होगी. इससे यह तय करने में आसानी होगी कि ऑव्युलेशन कब होना चाहिए.। ऑव्युलेशन टेस्ट करने के लिए आपको पैटर्न पता होना चाहिए.

किट का प्रयोग करना नहीं आना

कभी-कभी किसी गलतफहमी के कारण दंपत्ति ओवुलेशन किट का प्रयोग सही तरीके से करना नहीं जानते हैं इस वजह से भी कभी-कभी रिजल्ट सही नहीं आता है.

उम्र की वजह से भी टेस्ट (Test) गलत आ सकता है?

40 से ज्यादा उम्र की कुछ महिलाएं, विशेष रूप से जो रजोनिवृत्ति (Menopause) के पास जाने लगती हैं.  ऐसी महिलाओं में LH के स्तर में वृद्धि हमेशा ही रहती है. इसलिए अगर 40 साल से ज्यादा उम्र की महिला प्रेग्नेंसी के लिए ऑव्युलेशन टेस्ट किट से ऑव्यूलेशन पीरियड का पता करती हैं, तो परीक्षणों की गलत होने की संभावना बढ़ जाती है.

अगर आप छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखेंगे अपने स्वास्थ्य के बारे में जानकारी रखेंगे, तो फिर यह ओवुलेशन किट आपको लगभग 99 परसेंट सही रिजल्ट प्रदान करती है. और आप बड़ी आसानी से प्रेगनेंसी को कंसीव कर सकते हैं.

यह ओवुलेशन किट (ovulation test kit) कैसे प्राप्त करें

Ovulation Kit in Medical Shop 

आप किसी भी डॉक्टर की सलाह से या किसी मेडिकल स्टोर पर जाकर इस किट के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. वहां से इसे परचेस कर सकते हैं.

Ovulation Kit or Strips Online

अगर आप के आस पास कोई मेडिकल सुविधा नहीं है. या आपके पास इतना समय नहीं है, कि आप मार्केट जा पाए. आप ovulation strips online  भी खरीद सकते हैं, जो आपको अमेजॉन या दूसरे ऑनलाइन वेबसाइट से बड़ी आसानी से प्राप्त हो जाएगी. बस किसी विश्वसनीय वेबसाइट पर ही जाकर परचेज करें.

ओवुलेशन किट के विषय में अधिक जाने | कीमत

आपकी सुविधा के लिए हम एक लिंक आपको प्रोवाइड करा रहे हैं. आप यहां जाकर प्रोडक्ट के बारे में जान सकते हैं, समझ सकते हैं. Ovulation Kit Price चेक कर सकते हैं.


Post a Comment

Previous Post Next Post