जल्दी से जल्दी प्रेगनेंसी पता करने के 9 रामबाण तरीके | वैज्ञानिक कसौटी पर खरे

 पीरियड आने से पहले हम किस प्रकार से जान सकते हैं कि महिला को प्रेगनेंसी हो गई है, या नहीं हुई है.

क्योंकि ऐसे बहुत सारे लक्षण हैं, जो पीरियड्स में भी नजर आते हैं, और प्रेगनेंसी में भी नजर आते हैं. तो ऐसे में काफी ज्यादा कन्फ्यूजन की स्थिति हो जाती है. लेकिन हम आपको बिल्कुल सही तरीके से प्रेगनेंसी का पता करना बता रहे हैं

हम आपको वह रामबाण तरीका बताएं जिससे आप पता लगा पाए कि पीरियड से पहले प्रेगनेंसी कैसे पता करें, उसे समझने के लिए आप एक दो छोटी छोटी बातें जरूर समझे.

इसके लिए हम आपको बता दें कि शरीर में हारमोंस की उथल-पुथल की वजह से प्रेगनेंसी के लक्षण नजर आते हैं, और यह लक्षण हर महिला को अलग अलग हो सकते हैं.

यह इस बात पर निर्भर करता है, कि हारमोंस के प्रति आपका शरीर किस प्रकार से रिस्पांस देता है, उसी पर लक्षण आधारित होते हैं मतलब हर लक्षण हर महिला को आए यह जरूरी नहीं. 


 

पीरियड से पहले प्रेगनेंसी के 9 लक्षण | कैसे जाने प्रेगनेंसी है या नहीं, जल्दी से जल्दी प्रेगनेंसी पता करने के 9 रामबाण तरीके | वैज्ञानिक कसौटी पर खरे

बार बार यूरिन आना

सबसे पहले तो यही लक्षण है, कि महिला को यूरीन आने की मात्रा बढ़ जाती है. महिला को बार बार यूरिन जाने की इच्छा होने लगती है, यह प्रेगनेंसी का लक्षण माना जाता है, और यह पीरियड आने से पहले ही आपको नजर आने लगता है.

स्पॉटिंग दिखाई देना

देखिए स्पॉटिंग प्रेगनेंसी में भी कभी-कभी नजर आती है, और पीरियड आने से पहले भी नजर आती है.

 दोनों में अंतर होता है. यह क्यों नजर आती है इस पर तो हमने पहले भी अपने आर्टिकल्स के माध्यम से चर्चा की है. लेकिन अगर आपको यह स्पोटिंग पीरियड मिस होने के 25 दिन के आसपास नजर आए क्योंकि इस वक्त भ्रूण गर्भाशय की दीवार से चिपकता है, तो स्पोटिंग हो जाती है.

यह स्पोटिंग एक ही बार होगी, और हल्के-फुल्के एक या दो ड्राप आपको ब्लड का नजर आएगा. लेकिन अगर आपको हार्मोन डिसबैलेंस की वजह से इस स्पोटिंग हो रही है, तो वह 20 दिन के बाद से लगातार आपको अक्सर नजर आएगी, जबकि प्रेगनेंसी के स्पॉटिंग एक दिन ही नजर आती है.

गैस, एसिडिटी, मतली या मूड स्विंग

जैसे कि हमने बताया है कि हारमोंस पर महिला का शरीर किस प्रकार से रिस्पांस देता है. उस पर लक्षण काफी हद तक निर्भर करते हैं.

कुछ महिलाओं को यह लक्षण पीरियड से पहले भी नजर आते हैं, और कुछ महिलाओं को पीरियड मिस होने के बाद ही नजर आते हैं. अर्थात लास्ट पीरियड के 30 दिन बाद,

अगर आपको यह लक्षण लास्ट पीरियड 25 दिन बाद नजर आते हैं, तो यह प्रेगनेंसी का लक्षण माना जाता है.

लेकिन अगर यह लक्षण आपको 28 दिन के बाद अर्थात पीरियड आने से दो-तीन दिन पहले ही नजर आते हैं, तो यह प्रेगनेंसी का लक्षण नहीं होता है. यह पीरियड्स आने का लक्षण है.

मांसपेशियों में खिंचाव आना  

इस लक्षण में भी बिल्कुल सेम कंडीशन है. अगर लक्षण 25 दिन के आसपास नजर आते हैं, तो यह प्रोजेस्ट्रोन हारमोंस के बढ़ने की वजह से महिला को नजर आ रहे हैं.

लेकिन अगर यह लक्षण 28 दिन के आसपास या उसके बाद नजर आते हैं, तो यह प्रोजेस्ट्रोन हारमोंस की मात्रा कम हो जाने की वजह से महिला को लक्षण आ रहे हैं.  पीरियड होने वाला है.


स्तनों में भारीपन

प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोनल परिवर्तन की वजह से महिला के स्तन हल्के से टच करने पर दर्द होता है, या सीढ़ियों से चलने उतरने पर भी दर्द महसूस हो सकता है.

सीढ़ियों कपड़े से रगड़ खाने पर भी परेशानी का अनुभव होता है. यह लक्षण प्रेगनेंसी में भी आता है, और पीरियड से पहले भी नजर आ सकता है.  

अगर महिला को यह समस्या उसके ovulation पीरियड के बाद, लगभग लास्ट पीरियड के 15 से 20 दिन बाद नजर आती है, तो यह लक्षण प्रेगनेंसी का नहीं माना जाता है.  लेकिन जब भ्रूण गर्भ में स्थापित हो जाता है, अर्थात 25 दिन के आसपास से आपको यह समस्या नजर आने लगती है, तो इसे प्रेगनेंसी का लक्षण माना जाता है.


कुछ और लक्षण है जो इस प्रकार से हैं जो बता देते हैं कि आपको प्रेगनेंसी है या नहीं है जैसे कि ---

बच्चेदानी का मुंह

अगर बच्चेदानी का मुंह ऊपर की तरफ है तो यह प्रेगनेंसी का लक्षण है, और अगर बच्चेदानी का मुंह नेक्स्ट पीरियड आने से कुछ समय पहले नीचे की तरफ होने लगता है, तो यह पीरियड आने के निशानी माना जाता है. लेकिन यह बात आप किसी एक्सपर्ट के माध्यम से ही चेक कर सकते हैं.


मूड स्विंग

अगर आपको पीरियड्स आने से पहले ही मूड स्विंग की समस्या नजर आ रही है जैसे कि ---
आपको छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आ रहा है.
बिना वजह है लड़ने का मन कर रहा है.
कभी कभी रोने का मन करता है.
मतलब आपके व्यवहार में ऐसा परिवर्तन आ रहा है कि आप स्वयं नोट कर रही हैं, या परिवार वाले आपकी इस व्यवहार को नोट कर पा रहे हैं, तो यह समस्या आपको शरीर में प्रोजेस्ट्रोन और दूसरे प्रेगनेंसी हारमोंस के बढ़ने की वजह से होती है.
कुछ महिलाओं को लास्ट पीरियड के 25 दिन के बाद ही यह समस्या नजर आ जाती है कुछ महिलाओं को बाद में यह समस्या नजर आती है. कुछ तो नहीं भी आती है.


सिर दर्द की समस्या

कुछ और भी लक्षण है जो प्रेगनेंसी है इस बात को दिखाते हैं जैसे कि आपको सिर दर्द की समस्या हो रही है.

या कुछ महिलाओं को चक्कर आना ऐसा महसूस होता है, तो यह भी प्रेगनेंसी हारमोंस बढ़ने की वजह से होता है. और यह हार्मोन 25 दिनों के बाद बढ़ना शुरू होता है, तो आप समझ जाइए की प्रेगनेंसी है

मन का बिखराव

आपको अगर छोटे-मोटे काम में मन नहीं लग रहा है. आप थक जाती हैं. सुबह बिस्तर से उठने का मन नहीं करता है. आराम करने का मन करता है. शरीर गिरा गिरा रहता है. और यह आपको वही प्रेगनेंसी हारमोंस बढ़ने के बाद नजर आ रहा है

अर्थात लास्ट पीरियड के 25 दिनों के आसपास से यह समस्या आपको नजर आने लगी है तो समझ जाइए यह प्रेगनेंसी का लक्षण है. अगर यह समस्या आपको 28 दिनों के बाद नजर आती है, तो मतलब पीरियड्स आने वाले हैं.

मुख्यता महिलाओं के पीरियड 28 से 30 दिनों के होते हैं तो उसमें यह स्टैंडर्ड मानकर है. 


लेकिन जिन महिलाओं को पीरियड 20 या 22 दिन में आ जाते हैं या जिन महिलाओं को 35 से 40 दिन का साइकिल होता है तो उन महिलाओं के लिए यह समय थोड़ा कम और 40 दिनों के लिए थोड़ा सा ज्यादा हो जाएगा. मुख्यता यह सब आपके ओवुलेशन पीरियड पर निर्भर करता है.

Post a Comment

Previous Post Next Post

Pregnancy Care items