पुत्र प्राप्ति की दवा – Putra Prapti ke Upay | Ayurvedic

0
1449

पुत्र प्राप्ति की दवा अर्थात एक आयुर्वेदिक मेडिसिन के संबंध में बताने जा रहे हैं.  जिसको लेकर यह माना जाता है, कि यह पुत्र प्राप्ति और बांझपन को दूर करने के लिए उत्तम औषधि है.कंपनी यह भी दावा करती है, कि इससे महिला को पुत्र संतान की प्राप्ति भी हुई है. और बांझपन तो दूर हुआ ही है. यह पुत्र प्राप्ति के लिए आयुर्वेदिक दवा के रूप में प्रचलित है.

ayurveda Infertility medicine

Current Price

  Click For 100+ Gifts For Pregnant Women >>


दोस्तो आयुर्वेद में जो कंपनी इस टाइम भारत में नंबर 1 पर है वह है. पतंजलि जो कि आयुर्वेद में नई नई रिसर्च भी करती है. यह कंपनी बाबा रामदेव जी के सानिध्य में अपने कार्य को संचालित कर रही है.

इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति का वैज्ञानिक तरीका, एक बार जरूर अपनाये – Putra Prapti Part #2
इन्हें भी पढ़ें : इसे खाने से बांझ को भी पुत्र पैदा होता है – Putra Prapti Part #1

यह कंपनी भारत के प्राचीन आयुर्वेदिक ग्रंथों से भी आयुर्वेदिक नुस्खे प्राप्त कर उन्हें दवाइयों के रूप में मार्केट में उतारती है,
ऐसे ही इस कंपनी का एक प्रोडक्ट है. जिसे कहते हैं दिव्य पुत्रजीवक बीज.

आयुर्वेदिक औषधि, बांझपन

इस पुत्र प्राप्ति आयुर्वेदिक मेडिसिन का प्रयोग करने पर जो स्त्रियां बांझपन का शिकार होती है. उनके हाथ संतान की उत्पत्ति होती है, तथा संतान में भी पुत्र प्राप्ति होती है.

इन्हें भी पढ़ें : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका – part #3

पुत्रजीवक बीज कब और कैसे खाएं

पुत्रजीवक बीज एक आयुर्वेदिक औषधि है. यह प्राकृतिक रूप से प्राप्त की जाती है किसी भी आयुर्वेदिक औषधि को खाने का कोई निश्चित तरीका नहीं होता है.

यह व्यक्ति की आवश्यकता के अनुसार उसके शरीर की प्रकृति के अनुसार किया जाता है, कि उसे यह किस प्रकार से लेनी चाहिए. इसके लिए आपको एक काउंसलिंग आयुर्वेदाचार्य लेनी होगी, तत्पश्चात आपकी आवश्यकतानुसार की मात्रा निश्चित की जाए जाएगी.

अलग-अलग आचार्य जीवक बीज को अलग-अलग प्रकार से खाना बताते हैं. यह सब उनके अपने अनुभव के आधार पर निश्चित होता है.

क्या यह पुत्र प्राप्ति में सहायक है

पिछले कुछ वर्षों पहले इस आयुर्वेदिक दवा को लेकर विवाद पैदा हो गया था. जिसके जवाब में बाबा रामदेव जी ने कहा था, कि  यह  बांझपन को दूर करने की दवाई है. इसका पुत्र प्राप्ति से कोई भी संबंध नहीं है.

लेकिन तभी बैक डोर से इसके कुछ कर्मचारियों का कहना था, जो कि पंतजलि में कार्य करते हैं, कि यह पुत्र प्राप्ति की ही दवा है. कई महिलाओं को इसका सेवन करने से पुत्र प्राप्त भी हुए हैं.

दोस्तों हम इस आयुर्वेदिक पुत्रजीवक दवा पर कोई भी दावा नहीं करते हैं, कि यह  पुत्र प्राप्ति के लिए है, कि नहीं है. आप अपने विवेक से कार्य करें, स्वयं इसका निर्णय लें.

इसको लेने का तरीका बता देते हैं. आप इसे किसी भी पतंजलि स्टोर से खरीदी. इसमें जो फल है, उसके बीज निकालकर महीन पीस लीजिए.

Putrajeevak beej purchase online
 
 
आप पुत्रजीवक बीज ऑनलाइन भी परचेज कर सकते हैं.

किसी भी आयुर्वेदिक मेडिसिन को मिक्सिंग के द्वारा पीसने पर उसकी गुणवत्ता में कमी आ जाती है, कोशिश कीजिए इसको खरल पर ही पीसे.
इसके बाद उसे एक समय गाय के दूध से आपको लेना है. ध्यान रखें गाय का दूध भी उस गाय का होना चाहिए, जिस ने बछड़े को पैदा किया हो.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंट हो जाने के बाद नारियल द्वारा पुत्र प्राप्ति का तरीका
इन्हें भी पढ़ें : प्राचीन ऋषियों द्वारा पुत्री प्राप्ति के दिए गए पांच सूत्र
इन्हें भी पढ़ें : आयुर्वेदिक नुस्खे से पुत्र प्राप्ति – शिवलिंगी के बीज और पुत्रजीवक बीज

और अधिक जानकारी के लिए आप पतंजलि चिकित्सालय जोकि स्टोर के साथ ही होता है. वहां उपस्थित वैद्य से ले सकते हैं .
यह आयुर्वेदिक दवा आपको किसी भी पंतजलि store पंतजलि चिकित्सालय पर बड़ी आराम से उपलब्ध हो जाएंगी. साथ ही साथ पतंजलि चिकित्सालय  में चिकित्सक भी उपलब्ध होते हैं. आप उनसे भी सलाह कर सकते हैं.

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें