Header Ads

प्रेगनेंसी में निम्बू पानी फायदे का सौदा या घाटे का - Lemon Juice during Pregnancy

हम आपको एक पेय पदार्थ नींबू पानी इसके संबंध में बताने जा रहे हैं। प्रेग्नेंसी के समय नींबू पानी पीना चाहिए कि नहीं पीना चाहिए।
 
प्रेगनेंसी में कुछ भी खाने पीने से पूर्व उसके विषय में संपूर्ण जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि माता जो कुछ भी खाती है। उसी से उसके गर्भस्थ शिशु को पोषण मिलता है। और शिशु के दृष्टिकोण से भोजन पौष्टिक होना बहुत जरूरी है। आज हम अपनी इस ARTICLE  के माध्यम से आपको नींबू पानी के फायदे और नुकसान के संबंध में बताएंगे। नींबू पानी में कितने प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। इस पर भी चर्चा करेंगे,


Pregnancy me lemon juice Benefits kya hai


दोस्तों नींबू अपने आप में बहुत ही पौष्टिक फल माना जाता है। यह खाने में खट्टा होता है। इसके अंदर बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं। और पानी के अंदर भी बहुत सारे मिनरल पाए जाते हैं। जो दृष्टि के जो स्वास्थ्य की दृष्टि से बहुत अधिक उपयोगी होते हैं। जब हम नींबू पानी को एक साथ मिला देते हैं, तो एक स्वादिष्ट पर तैयार हो जाता है । जिसमें इन दोनों के अलावा थोड़े से और इनग्रेडिएंट हो सकते हैंl जो इसकी पौष्टिकता को और बढ़ा देते हैं।
 

निम्बू पानी के पोषक तत्व - Nimboo Pani ke Poshak Tatva

एक ताज़ा पेय drink के रूप में, नींबू पानी आपके दिमाग और शरीर को  शांत रखने में मदद करता है। नींबू में  विटामिन सी, विटामिन बी 6, विटामिन ए, विटामिन ई, फोलेट, नियासिन (thiamin) थायमिन , राइबोफ्लेविन, पैंटोथेनिक (Pantothenic)  एसिड, कॉपर  तांबा,  कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, जिंक, फास्फोरस और प्रोटीन की तरह कई पौष्टिक तत्वों से भरा हैं ।

अगर आप गुनगुने नींबू पानी का प्रयोग करते हैं, तो यह आपके इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग रखता है। मुंह की बदबू को भी शांत रखता है। और त्वचा के लिए भी फायदेमंद होता है।

 प्रेगनेंसी में निम्बू पानी के फायदे - Pregnancy me lemon juice Benefits kya hai

अपच के लिए नींबू का रस

गर्भावस्था के दौरान अपच काफी आम होती है। गर्भवती महिलाएं अक्सर अपच से ग्रस्त रहती हैं। नींबू पानी का सेवन करने से आप आसानी से अपने पाचन तंत्र को दुरूस्त बना सकती हैं
You May Also Like : क्या गाजर खाना प्रेगनेंसी में सुरक्षित है
 

शिशु के विकास में करें मदद

नींबू पानी महिला को स्वस्थ रखने के साथ गर्भस्थ शिशु के विकास में भी मदद करता है। क्योंकि इसमें पोटेशियम और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है। यह शिशु के शारीरिक और मानसिक विकास करने में मदद करते हैं और हड्डियों को मजबूती प्रदान करते हैं ।
You May Also Like : 35 के बाद प्रेग्नेंट होने के 15 टिप्स पार्ट #2
 

गले के संक्रमण

 नींबू एक उत्कृष्ट फल है कि इसकी अच्छी तरह से जाना जाता है जीवाणुरोधी गुणों के कारण, गले के संक्रमण से संबंधित समस्याओं के खिलाफ लड़ता है। ऐसे में नींबू पानी फायदेमंद हो सकता है।
You May Also Like : 35 के बाद प्रेग्नेंट होने के 15 टिप्स पार्ट #1

विषैले पदार्थ निकाले बाहर

नींबू पानी प्रेग्नेंट महिलाओं को इंफैक्शन होने से बचाता है। नींबू पानी में मौजूद विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट शरीर में क्लींजर की तरह काम करता है। यह शरीर से विषैले पदार्थ और फ्री-रेडिकल्स को बाहर निकालने में मदद करता है।
लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप नींबू पानी कितना भी पी ले आपको संतुलित मात्रा में इसका प्रयोग करना है।
You May Also Like : बिना प्रेगनेंसी के प्रेगनेंसी वाले लक्षण कब आते हैं

शरीर को हाइड्रेट रखें 

कभी-कभी प्रेगनेंसी में पानी पीने की इच्छा नहीं होती है लेकिन पानी तो अत्यधिक आवश्यक है तो नींबू पानी कभी-कभी पानी के स्थान पर लिया जा सकता है इससे थोड़ा स्वाद में चेंज भी आएगा और शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद मिलेगी
 

मॉर्निंग सिकनेस करें दूर

प्रेग्नेंट महिला को जी-मिचलाने और उल्टी आने की समस्या बनी रहती है। ऐसे में नींबू पानी का सेवन महिला के लिए काफी फायदेमंद है। नींबू पानी में मौजूद विटामिन सी और पोटेशियम प्रेग्नेंट महिलाओं में होने वाली मार्निंग सिकनेस को दूर करता है। लेकिन अधिक विटामिन सी की मात्रा प्रेगनेंसी में नुकसान भी दे सकती है इसलिए नींबू कम ही प्रयोग में लाना है------
You May Also Like : महिलाओं में बांझपन के क्या कारण होते हैं - महिला की उम्र के कारण

रक्तचाप के लिए नींबू का रस

गर्भावस्था के दौरान रक्तचाप में उतार चढ़ाव आम पहलुओं में से एक है। ब्लड प्रेशर अक्सर हाई और लो होता रहता है। आप चाहे तो गर्भावस्था के दौरान नींबू का पानी पीकर ब्लड प्रेशर की इस समस्या से राहत पा सकती हैं। अगर आप भी उच्च रक्तचाप से ग्रस्त हैं तो नींबू का रस का एक गिलास ले।
You May Also Like : महिलाओं में बांझपन के क्या कारण होते हैं - लाइफस्टाइल के कारण

पाचन क्रिया बढ़ाए


गर्भावस्था में महिला को खाना पचाने में मुश्किल होती है। नींबू पानी महिला की पाचन क्रिया बढ़ाता है, साथ ही में कब्ज और अन्य पेट से जुड़ी समस्याओं को कम करता है। महिला को ऐसी प्रॉब्लम्स होने पर नींबू पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।
You May Also Like : महिलाओं में बांझपन के क्या कारण होते हैं - मानसिक कारण

वजन करें कंट्रोल

अगर प्रेग्नेंसी के समय महिला का वजन आवश्यकता से अधिक बढ़ रहा है तो नींबू पानी उसे कंट्रोल करने में सहायता करता है, अगर महिला प्रेगनेंसी में कम वजन की समस्या से जूझ रही है तो ऐसे में नींबू पानी का प्रयोग ना करें
You May Also Like : महिलाओं में बांझपन के क्या कारण होते हैं - शारीरिक कारण

पैरों की सूजन करें कम

नींबू पानी में विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाएं जाते हैं जो प्रेग्नेंसी के दौराम महिला के पैरों में होने वाली सूजन को कम करने में मदद करते है।
You May Also Like : ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली माताओं के लिए सुपर फूड – Food for increase Milk - Part1

आसानी से प्रसव के लिए नींबू पानी

लेबर पैन कई महिलाओं के लिए काफी कष्टदायक होता है। लेकिन शोधकर्ताओं के सुझाव के अनुसार नींबू का पानी पीने से डिलीवरी होने में कष्ट नहीं होता है। आप चाहे तो रोजाना सुबह नींबू पानी का सेवन कर सकती हैं। एक गर्भवती महिला को गर्भावस्था के 5 माह के बाद ही नींबू के पानी का सेवन करना शुरू करना चाहिए

kya lemon juice prevent pregnancy

किसी भी महिला को नींबू पानी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार सलाह जरूर लेनी चाहिए, क्योंकि कई बार कुछ महिलाओं की शारीरिक स्थिति अलग होती है। नींबू पानी से कोई नुकसान न हो इस लिए डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है।
You May Also Like : क्या गर्भावस्था के दौरान इंस्टेंट नूडल्स का सेवन सुरक्षित है

कहीं-कहीं माना जाता है कि नींबू गर्भपात का कारण बन जाता है लेकिन वैज्ञानिकों के द्वारा इस बात को सिरे से नकार दिया गया है उनके अनुसार नींबू गर्भपात का कारण नहीं होता यह केवल एक मिथक है
You May Also Like : गर्भावस्था के दौरान किन खाद्य पदार्थों का सेवन सुरक्षित नहीं है

अगर आप प्रेगनेंसी में नींबू पानी का सेवन कर रहे हैं तो आपको एक बात अपने डॉक्टर से जरूर पूछना चाहिए




No comments

Powered by Blogger.