पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे

0
163

किसी भी महिला के लिए पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे यह जानना काफी कठिन होता है.

किसी भी महिला को शुरू के 15 दिन तो इस बात का एहसास ही नहीं होता है, कि वह गर्भवती हो गई है और लगभग 15 दिन के बाद महिला को पीरियड आने का समय हो जाता है. अगर महिला गर्भवती हो जाती है, तो महिला के पीरियड मिस हो जाते हैं.

  1. पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे
  2. क्या पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी चेक की जा सकती है. 
पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे

यह भी अपने आप में कुछ प्रश्न उठते हैं. इन सभी प्रश्नों के बारे में महिला या दंपत्ति को ज्ञान नहीं होता है.
हालांकि पीरियड मिस होने के दिन तक महिला की प्रेगनेंसी 1 महीने की मानी जाती है, लेकिन वास्तविकता में यह प्रेगनेंसी लगभग 15 दिन के आसपास की होती है.

प्रेगनेंसी होने पर क्या होता है

जब महिला को प्रेगनेंसी होती है, तो महिला के शरीर में गर्भस्थ शिशु की रक्षा के लिए, उसके पोषण के लिए विभिन्न प्रकार के प्रेगनेंसी हार्मोन शरीर में बढ़ना शुरू हो जाते हैं. इनमें से कुछ हारमोंस मात्र प्रेग्नेंसी के समय महिला के शरीर में बढ़ते हैं.

इसलिए इन हार्मोन की मात्रा को जांच कर इस बात का पता लगाया जाता है, कि महिला गर्भवती हो गई है, या महिला गर्भवती नहीं है.

महिला के शरीर में आने वाले लक्षण या महिला के जो पीरियड मिस हो गए हैं, यह प्रेगनेंसी की वजह से समस्या आ रही है, या किसी और कारण से यह समस्या आ रही है.

प्रेगनेंसी टेस्ट कब करना चाहिए

गर्भवती महिला के शरीर में कई प्रकार के हार्मोन बढ़ने लगते हैं. जिनके कारण पूरी प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को बहुत सारे लक्षण सामने नजर आएंगे. इनमें से एक हारमोंस होता है, ह्यूमन कोरिओनिक गोनेडोटरोपिन.
इसे एचसीजी हार्मोन भी कहा जाता है. यह प्रमुख प्रेगनेंसी हारमोंस होता है.

जब यह हार्मोन महिला के शरीर में इतनी मात्रा में बनने लगे कि यह प्रजनन तंत्र से महिला के यूरिन में और ब्लड में आ जाता है, तो उस वक्त महिला की प्रेगनेंसी, प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से चेक की जा सकती है. और नतीजा प्राप्त किया जा सकता है.



प्रेगनेंसी चेक करने का सही समय क्या होता है

जब महिला के यूरिन में एचसीजी हार्मोन की मात्रा इतनी हो जाती है कि वह प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से ट्रैक की जा सके, वही समय प्रेगनेंसी चेक करने का सबसे सही समय होता है.

लेकिन हर महिला के शरीर में यह बिल्कुल भी निश्चित नहीं होता है, कि प्रेगनेंसी हारमोंस महिला के यूरिन में या ब्लड में किस समय सही मात्रा में उपस्थित होगा. यह हर एक महिला के लिए अलग-अलग समय होता है.

किसी महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हारमोंस थोड़ा अधिक तेज गति से बढ़ते हैं और कुछ महिलाओं के शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन थोड़ा कम तेज गति से बढ़ते हैं इसलिए प्रेगनेंसी चेक करने का सही समय हर दूसरी महिला के लिए दो-चार दिन आगे पीछे हो सकता है.

महिला की मंथली साइकल लगभग 28 दिन से 30 दिन की होती है. लेकिन कुछ महिलाओं की मंथली साइकिल 24 दिन की और कुछ महिलाओं की मंथली साइकिल 40 दिन तक की भी होती है.

अर्थात कुछ महिलाओं की पीरियड साइकिल छोटी होती है, और कुछ महिलाओं की पीरियड साइकिल थोड़ा बड़ी होती है. इस कारण से दो महिलाओं के बीच में अंडा फूटने के दिन में 1 हफ्ते तक का वेरिएशन हो सकता है.

लेकिन गर्भवती होने पर भ्रूण के विकास की दर लगभग एक जैसी ही होती है. इसलिए प्रेगनेंसी चेक करने का समय अंतराल अलग अलग हो सकता है, जब सही रिजल्ट प्राप्त हो.

प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करते हैं

महिला के यूरिन में या महिला के ब्लड में एचसीजी प्रेगनेंसी हार्मोन की मात्रा जब बढ़ जाती है, तो ब्लड से या यूरिन से एचसीजी हारमोंस की मात्रा का पता लगाया जाता है. अगर एचसीजी हार्मोन महिला के यूरिन में या ब्लड में उचित मात्रा में है तो महिला गर्भवती मानी जाती है

प्रेगनेंसी टेस्ट किट पर महिला के यूरिन की कुछ बूंदे डाल दी जाती हैं, और उस पर आने वाली कुछ लाइनों की मदद से प्रेगनेंसी चेक की जाती है.

पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी टेस्ट कब करे

जैसा कि हमने अभी महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन की प्रगति के विषय में कुछ फैक्टर्स पर चर्चा की है जैसे कि –

  • महिला के ovulation period में अंतर होना
  • महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन बढ़ने की गति में अंतर होना
  • पीरियड मिस होने तक प्रेगनेंसी का मात्र 15 दिन का होना

यह तीनों ऐसे फैक्टर से जो किसी भी गर्भवती महिला के लिए पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी चेक करना लगभग असंभव बना देते हैं.

मात्र 2% से 4% महिलाओं के शरीर में ही प्रेगनेंसी हार्मोन पीरियड से थोड़ा पहले तक इतनी मात्रा में बनने लगता है कि वह यूरिन के माध्यम से किट का प्रयोग करके चेक किया जा सके और महिला अपनी प्रेगनेंसी का पता लगा सके.

इसके लिए बिल्कुल भी कोई दिन फिक्स नहीं किया जा सकता है कि आप किस दिन चेक कर सकते हैं.

अगर आपको शक है कि आप गर्भवती हो सकती है तो आप पीरियड मिस होने से पहले हर 2 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से किट के माध्यम से प्रेगनेंसी लगातार चेक करें और आपको जल्दी से जल्दी इस बात का पता चल जाएगा कि आप गर्भवती हैं. लेकिन पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी का पता चलना बहुत कम ही सक्सेज हो पाता है.

पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी चेक कुछ विशेष परिस्थितियों में की जा सकती है. जैसे कि अगर महिला का मासिक चक्र 40 दिन के आसपास है, तो ऐसे में प्रेगनेंसी होने पर महिला को प्रेगनेंसी के लक्षण नेक्स्ट पीरियड आने से पहले भी नजर आ सकते हैं. उस वक्त हारमोंस कितनी मात्रा में बन सकता है, कि महिला प्रेगनेंसी चेक कर सके, लेकिन यह काफी कम महिलाओं के साथ संभव हो पाता है.

जिन महिलाओं का मासिक चक्र 25 दिन से लेकर 30 दिन के आसपास पर होता है उनके साथ पीरियड मिस होने से पहले प्रेगनेंसी चेक करके सही रिजल्ट पाना काफी मुश्किल होता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें