गाय के दूध से पुत्र प्राप्ति का उपाय | Putra Prapti ka Upay

0
2470

प्राचीन समय से ही पुत्र प्राप्ति के उपाय के लिए गाय के दूध का अत्यधिक महत्व है. गाय के दूध से पुत्र प्राप्ति का उपाय क्या है. इस पर बात करेंगे.

दोस्तों वैसे तो पुत्र और पुत्री में कोई भी अंतर नहीं होता है. माना जाता है कि पुत्र बुढ़ापे में जाकर सहारा बनता है.लेकिन आजकल तो यह देखने में आ रहा है, कि एक बार को पुत्री तो सहारा बन जाती है. लेकिन पुत्र सहारा बनने में कभी-कभी असमर्थ हो जाता है.

क्योंकि उसे अपनी रोजी-रोटी कमाने के लिए बाहर रहना पड़ता है, और ऐसे में अधिकतर पुत्री ही मां-बाप का सहारा होती है.

putra prapti ka upay

  Click For 100+ Gifts For Pregnant Women >>

पुत्र पुत्री दोनों ही समान है. जिन दंपत्ति के घर में पुत्रियां हैं, उनकी इच्छा होती है कि उनके भी एक पुत्र हो.

इन्हें भी पढ़ें : शिवलिंगी से पुत्र प्राप्ति का यह उपाय अचूक मन जाता है – बाँझ महिला को भी पुत्र होता है
इन्हें भी पढ़ें : आयुर्वेदिक नुस्खे से पुत्र प्राप्ति – शिवलिंगी के बीज और पुत्रजीवक बीज
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति की चमत्कारी प्राचीन औषधि

दोस्तो हमारे आयुर्वेद में कहा गया है, कि अगर आप संतान प्राप्ति की के विषय में सोच रहे हैं, तो आपको कम से कम कुछ महीने पहले से ही इसकी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए. जिससे कि आपकी आने वाली संतान स्वस्थ हो गुणवान हो.

कब से करें यह उपाय

अगर आप के यहां पुत्री संतान पहले से ही है, और एक पुत्र प्राप्त करना चाह रहे हैं.आप यह पुत्र प्राप्ति काउपाय कर सकते हैं. इसके लिए भी आपको कुछ महीने पहले से ही तैयारी शुरू करनी होगी.

ladka pata karne ka tarika

यह उपाय महिलाओं के लिए है. यह बहुत ही साधारण सा उपाय है. इसमें आपको कुछ नहीं करना है. बस आप को गाय का दूध पीना हैं. बस थोड़ी सी जो सावधानी हम बता रहे हैं, वह रखिए.

दंपत्ति जब बच्चा चाहे तो महिलाओं को उससे लगभग 3 माह पहले से गाय का दूध पीना शुरू करना है, इसमें कुछ सावधानियां रखनी है जैसे कि —

इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति के लिए सूर्य देव के 2 उपाय
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति के 3 बलशाली टोटके
इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में पुत्र प्राप्ति का वैज्ञानिक तरीका
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति की चमत्कारी प्राचीन औषधि

मल्टीविटामिन(s)

4.3

शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है उसकी पूर्ति के लिए आप मल्टीविटामिंस का प्रयोग कर सकते हैं. यह महिलाओं की ऊर्जा फ्लैक्सिबिलिटी और मजबूती को वापस लाएगा.

  • Your brand choice
  • Your product in your budget
  • Customer reviews
  • Ayurvedic products
  • Must Know About Multivitamins
  • Refund policy on health products is less
Check Current Price
FEATURED

30+नेचुरल स्पर्म बूस्टर
(टेस्टोस्टरॉन)

  • आयुर्वेदिक
  • जड़ी बूटियों से निर्मित
  • ब्रांडेड
  • कस्टमर रिव्यूज
  • बजट में (नो एक्स्ट्रा कॉस्ट)

कौन सी गाय का दूध पीना है

आपको जिस भी गाय का दूध पीना है वह गाय देसी गाय होनी चाहिए.

आपने जिस गाय का दूध पीना है. उस गाय ने बछड़ा जन्म दिया हो, अर्थात पुत्र जन्म दिया हो. आपको उसी गाय का दूध पीना है.

आपको गाय का दूध कम से कम प्रेगनेंसी के 3 महीने बाद तक तो पीना ही है अर्थात 3 महीने
की प्रेगनेंसी तक आप को दूध पीना है, अगर आगे भी आप को दूध अवेलेबल होता है, तो आप पीना ना छोड़े, संभव हो तो 9 महीने तक ही पिए.

ऐसा करने से निश्चित ही आपको संतान के रूप में पुत्र की प्राप्ति होगी.

beta, ladka, putra, paida kerna, pregnancy, tips, care, ayuriedic upay

महिलाओं को किन बातों का ध्यान रखना है

महिला जिस दिन से दूध पीना शुरू करें.  उस दिन से आपको मांस मदिरा नॉनवेज इत्यादि का सेवन बिलकुल भी नहीं करना है. संभव हो सके तो पूरी प्रेगनेंसी इसके सेवन से बचें. महिला को चटपटा तीखा और खट्टा खाने से भी बचना है.

यह पुत्र प्राप्ति का उपाय अत्यधिक सरल है. पुत्र प्राप्ति के इस उपाय से शरीर को ताकत और पोषक तत्व दोनों प्राप्त होते हैं. अत्यंत बलवान संतान पैदा होती है.इन्हें भी पढ़ें : क्या माया कैलेंडर के अनुसार के जेंडर प्रेडिक्शन कर सकते हैं
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र रत्न प्राप्ति के लिए तीन आयुर्वेदिक उपाय उपाय #2

पुरुष किन बातों का ध्यान भोजन में रखें

लगभग 3 महीने पहले से ही पुरुष को भी अपने भोजन में ऐसी चीजें शामिल करनी है, जो पुरुष के स्पर्म को स्ट्रांग बनाती हैं, ताकत देती हैं. उनके संख्या को बढ़ाती है.

पुरुषों को भी अपने भोजन में तीखा खट्टा चटपटा मांस मदिरा नॉनवेज इत्यादि का सेवन बिलकुल भी नहीं करना है. पुरुषों को अपने भोजन में इस दौरान दूध और दूध से बनी चीजें जैसे कि पनीर, मक्खन, घी, मावा आदि से बने भोज्य पदार्थ थोड़ा अधिक मात्रा में ग्रहण करने चाहिए. और साथ ही साथ योगा में भी अपना समय व्यतीत करना चाहिए.

अगर आप यह उपाय करते हैं, तो निश्चित तौर पर ईश्वर की कृपा से और गौ माता की कृपा से आपको एक सुंदर पुत्र की प्राप्ति होगी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें