Header Ads


Pregnancy Care items

अल्कोहल से जेंडर प्रिडिक्शन 1 मिनट में - Gender Prediction Home Test

नमस्कार दोस्तों दोस्तों हम सभी जानते हैं कि हिंदुस्तान के अंदर जेंडर प्रिडिक्शन (gender prediction test) करवाना एक कानूनन जुर्म है. लेकिन हम हिंदुस्तानी आने वाले बच्चे को लेकर बहुत ज्यादा उत्साहित होते हैं।

दोस्तों जब एक महिला प्रेग्नेंट होती है। उसके शरीर में बहुत से हारमोनल चेंज जाते हैं। इसी कारण से महिला के यूरिन में इसका असर आता है।

आज हम आपको 1 तरीके बताने जा रहे हैं, जिससे कि आप महिला की यूरिन की सहायता से घर पर ही यह ज्ञात कर सकते हैं, की महिला के गर्भ में बेटा है कि बेटी है ।

beta hoga ya beti - Gender function
 

Gender Prediction Home Test

दोस्तों तरीका बताएं उससे पहले हम आपको कुछ बातें क्लियर कर दें, जो कि आपको पता होनी चाहिए।   महिला के शरीर में जब लड़का या लड़की गर्भ में आते हैं, शरीर उसके पालन-पोषण में लग जाता है।

शरीर को अपने साथ दो जिंदगी का ध्यान रखना पड़ता है। एक तो आपका जिसका कि वह शरीर है, दूसरा उस गर्भ का।

पलने वाला भ्रुण नर होगा या मादा।  दोनों के डेवलप होने की कुछ कॉमन तो कुछ अलग अलग रिक्वायरमेंट होती है।  जो अलग-अलग रिक्वायरमेंट होती है, उनको पूरा करने में शरीर जो प्रोसेस या कार्य करना पड़ता है, उसका इफेक्ट हमारे यूरिन पर भी आता है। इसका इफेक्ट तो पूरे शरीर पर आता है। हम यूरिन की बात करेंगे।

इन्हें भी पढ़ें : ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार गर्भ में पुत्र होने की पहचान
इन्हें भी पढ़ें : महिला के फेस की रीडिंग करके कैसे जाने गर्भ में लड़का है या लड़की है
इन्हें भी पढ़ें : महिला के पेशाब के रंग से कैसे जाने गर्भ में क्या पल रहा है
इन्हें भी पढ़ें : मनचाही संतान प्राप्ति का सही टाइम ये है
इन्हें भी पढ़ें : बेकिंग सोडा और यूरिन से कैसे करते हैं जेंडर प्रेडिक्शन केवल 1 मिनट में - Gender prediction  


थोड़ी सी टेक्निकल  बात यह है, इस गर्भ के कारण महिला के यूरिन का जो मीडियम है वह चेंज  हो  जाता  है ।
इस गर्भ के कारण यूरिन के अम्लीय और छारीय गुण बदलने लगते हैं। यूरिन के इस अम्लीय और छारीय होने की वजह से हम पलने वाले गर्भ का पता लगा लेते हैं।

 दोस्तों यह  टेस्ट अल्कोहल के साथ किया जाता है। हमारे दोस्त अल्कोहल का मतलब शराब बिल्कुल भी ना समझे। यह वह अल्कोहल है, जो कि मेडिकल फील्ड में प्रयोग में लाया जाता है। जिसे हम कहते हैं आइसोप्रोपिल अल्कोहल। यह आपको किसी भी मेडिकल संबंधित स्टोर पर मिल जाएगा। अगर नहीं मिलता है, तो वह यह बता देगा कि यह कहां मिलेगा ।


You May Also Like : गर्भावस्था में पत्तागोभी खाना कितना सुरक्षित

अब प्रेगनेंसी टेस्ट के प्रयोग में अल्कोहल की लगभग 100ml मात्रा को कांच के बर्तन में ले ले ।  गर्भवती महिला जब सुबह सो कर उठेगी तो पहली बार बाथरूम में जो यूरिन आएगा, उसे एक कांच के बर्तन में इकट्ठा कर लेंगे।  इकट्ठा किए हुए यूरिन को, जो कि लगभग 50 ml के आसपास होना चाहिए, उसे अल्कोहल वाले बर्तन में डाल देंगे ।

You May Also Like : प्रेगनेंसी में क्यूं खाना चाहिये फूलगोभी

अब उसमें जो रिएक्शन होगी उसके आधार पर हम जेंडर प्रेडिक्शन करेंगे
1. अगर यूरिन को अल्कोहल में मिलाने पर कोई भी रिएक्शन नहीं होती है, तो यह एक लड़की होने का प्रमाण माना जाता है, गर्भ में एक लड़की है।

You May Also Like : प्रेगनेंसी में खून की कमी और उपाय

2. अगर अल्कोहल का रंग बदलने लगे और वह लाल रंग का होने लगे या अल्कोहल के रंग में लालिमा आ जाए तो यह एक लड़का होने की निशानी है।


कोई भी महिला अपने ओवुलेशन टाइम में गर्भवती होती है. इसलिए महिला को अपना ओवुलेशन टाइम पता होना चाहिए. ओवुलेशन टाइम का पता लगाने के लिए मार्केट में kit उपलब्ध है, जिसे प्रयोग करके महिला अपना ओवुलेशन टाइम पता लगा सकती है. किट के बारे में अधिक जानकारी के लिए Amazon लिंक को क्लिक करें.


 
 

 

1 comment:

  1. Merkur 37C Safety Razor Review – Merkur 37C
    The Merkur 37c titanium earrings is an excellent short handled https://deccasino.com/review/merit-casino/ DE safety razor. It casinosites.one is www.jtmhub.com more suitable for both heavy and non-slip hands and is therefore a great option jancasino for experienced

    ReplyDelete

Powered by Blogger.