Header Ads


Pregnancy Care items

Y शुक्राणुओं को कैसे ताकतवर बनाए - लड़का पैदा हो - How to increase Power of Y sperm naturally

नमस्कार दोस्तो आज की POST में हम आपसे चर्चा करने वाले हैं, कि अगर आप पुत्र प्राप्ति की इच्छा रखते हैं, वह लोग एक Y शुक्राणुओं को कैसे इतना ताकतवर बनाए की पुत्र प्राप्ति हो सके,

दोस्तों हमारा आपसे निवेदन है, कि आप यह प्रयास तभी करें. जब आप ऑलरेडी पुत्री के पिता हो. इसके लिए आपको दो कार्य करने हैं.

एक तो यह शुक्राणु आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में बने . 
आपको अपना Y शुक्राणु ताकतवर बनाना है, दूसरा Y शुक्राणु एक्टिव रहे .

इन्हीं 2 पॉइंट पर हम आप से चर्चा करने वाले हैं.
 
Sperm Count Badhane Ki Dava, food for sperm production


शुक्राणु का प्रोडक्शन कैसे बढ़ाएं - Sperm ka Production kaise Badhaye

y गुणसूत्र बढाने के उपाय के लिए सर्वप्रथम हम इस बात पर चर्चा करेंगे की Y शुक्राणुओं को कैसे बड़ी मात्रा में बनाया जाए तथा यह ताकतवर रहे.
इसके लिए सर्वप्रथम हमें अपने दिनचर्या में बदलाव करना है. अपनी लाइफ स्टाइल को थोड़ा सा बदलना है --

You May Also Like : प्रेग्नेंसी में सफर करें तो रखें इन बातों का ख्याल
You May Also Like : गर्भ अवस्था में इन बातों का ध्यान रखें बच्चा तेज दिमाग वाला होगा

 
  • नियमित योग और व्यायाम करें.
  • स्वास्थ्यवर्धक भोजन खाए.
  • मनोरंजक दवायों (Recreational Drugs) का सेवन न करें.
  • तनाव (stress) को life से दूर करें.
  • धूम्रपान और शराब का कम सेवन करें.
  • तला भुना ना खाएं.
  • टाइट कपड़े ना पहने.
  • जंक फूड न खाएं.
  • आपको पेट खराब या कब्ज की समस्या नहीं होनी चाहिए.
  • सुबह सोकर जल्दी उठे.
  • देर रात तक ना जागे.

ladka paida kerne ka tarika


पुरुष Y शुक्राणुओं की ताकत कैसे बनाएं - Purush Y Sperm kee Taakat Kaise Badhaye

पुत्र के लिए पुरुष के शुक्राणु का मजबूत होना अत्यधिक आवश्यक होता है. पुरुष के शरीर में Y शुक्राणु का प्रोडक्शन अधिक हो तथा यह स्वस्थ भी हो. इसके लिए हमें अपने भोजन में कुछ विशेष प्रकार की चीजों को शामिल करना है.

उसको दूध से बनी चीजों का सेवन करना चाहिए. जैसे कि पनीर मावा दही रबड़ी इत्यादि. अगर पुत्र प्राप्ति चाहिए, तो पुरुष को 6 महीने पहले से ही खट्टा तला-भुना खाना छोड़ देना चाहिए .

Y शुक्राणु बढ़ाने की दवा :
आयुर्वेद में बहुत सारी ऐसी जड़ी बूटियां आती है, जो कि वीर्य की शुक्राणुओं को की वृद्धि में बहुत सहायक होती है. नेचुरल भी होती है. उनका भी इस्तेमाल करना चाहिए.

You May Also Like : गर्भावस्था में पपीता खाए कि नहीं

महिलाएं क्या खाएं : 
इसी प्रकार से महिलाओं को भी 6 महीने पहले से कुछ संयम रखने होते हैं. खाने में महिलाओं को अंगूर, टमाटर, केला, संतरा, तरबूज आदि की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए .

महिलाओं को चाहिए कि वह 6 महीने पहले से दूध और दूध से बनी चीजों का सेवन ना करें.

You May Also Like : पुत्री प्राप्ति में स्वर विज्ञान का योगदान


महिला के शरीर का पी एच मान और पुत्र प्राप्ति - Mahila ke shareer ki PH Value aur Putra Praapti

इंसान का शरीर एल्कलाइन अर्थात छारीय मीडियम का होता है. किसी कारणवश अगर महिला का शरीर एसिडिक मीडियम का हो जाता है. और उस समय दंपत्ति संतान प्राप्ति के लिए कोशिश कर रहे होते हैं, तो पुत्री प्राप्ति के चांस बहुत ज्यादा होते हैं.

You May Also Like : पुत्र प्राप्ति में स्वर विज्ञान का योगदान

अगर महिला का अगर महिला के शरीर का पी एच मान acidic होता है. अम्लीय होता है. तो उसमें पुरुष के वाई शुक्राणु अधिक समय तक जीवित नहीं रह पाते हैं. X शुक्राणु गॉड गिफ्टेड Y शुक्राणु से ताकतवर होते हैं. तो उनके द्वारा कन्या रत्न की प्राप्ति हो जाती है.

वैसे तो शरीर का acidic मीडियम एक्स और वाई दोनों प्रकार के शुक्राणु के लिए हानिकारक होता है. लेकिन X अधिक ताकतवर होने की वजह से कन्या प्राप्ति में सफल हो जाते हैं .

अगर महिला के शरीर का मीडियम छारीय होगा या शरीर का  पीएच मान  7  से 14  के बीच में होगा तो वाई शुक्राणु अपनी तेज गति के कारण पुत्र प्राप्ति में सफल होते हैं. X शुक्राणु ताकतवर होता है, लेकिन गति में हल्का होता है.
पुत्र प्राप्ति का वैज्ञानिक तरीका, how increase sperm count

महिला को ऐसा भोजन करना चाहिए. जिसके उसका शरीर का पी एच मान 7 और 10 के बीच में हो या कहें शरीर क्षारीय मीडियम का हो महिला को क्या खाना चाहिए. जिससे शरीर का मीडियम क्षारीय हो.

You May Also Like : पत्नी या गर्लफ्रेंड में बेवफाई के लक्षण
You May Also Like : शादी के पहले साल में होने वाली समस्याएं


वाय (Y) शुक्राणु कब बहुत ज्यादा एक्टिव होता है. (Y Sperm Activation Time)

मासिक स्राव रुकने के अंतिम दिन ऋतुकाल के बाद, 4,6,8,10,12,14 और 16वें दिन  पुत्र के लिए पुरुष के शुक्राणु अर्थात Y शुक्राणु अधिक एक्टिव होते हैं.

इन दिनों संबंध बनाने से पुत्र प्राप्ति की संभावना बहुत ज्यादा होती है.
अगर संबंध बनाते समय पुरुष का दाहिना और स्त्री का बायां सुर चल रहा हो, तब भी पुत्र प्राप्ति की संभावना बढ़ जाती है वाई शुक्राणु एक्टिव होता है.

कोई भी महिला अपने ओवुलेशन टाइम में गर्भवती होती है. इसलिए महिला को अपना ओवुलेशन टाइम पता होना चाहिए. ओवुलेशन टाइम का पता लगाने के लिए मार्केट में kit उपलब्ध है, जिसे प्रयोग करके महिला अपना ओवुलेशन टाइम पता लगा सकती है. किट के बारे में अधिक जानकारी के लिए Amazon लिंक को क्लिक करें.


5 comments:

  1. Dahina or baya sur ka meaning kya he?

    ReplyDelete
    Replies
    1. Daya (Right) or baya (Left) sur ka matlab hai, aapki naak (nose) ki konsi side se acche se saas le pa rahe hai. Yadi right nose apki jyada hava (air) le aur chod rahi hai to iska matlab hai daya sur chal raha hai, iska ulta baya sur hota hai.

      Delete
  2. Daya or baya sur kya hota hai

    ReplyDelete
  3. Khup chhan information nikali thanks...

    ReplyDelete
  4. Daya (Right) or baya (Left) sur ka matlab hai, aapki naak (nose) ki konsi side se acche se saas le pa rahe hai. Yadi right nose apki jyada hava (air) le aur chod rahi hai to iska matlab hai daya sur chal raha hai, iska ulta baya sur hota hai.

    ReplyDelete

Powered by Blogger.