8 प्रेग्नेंट ना होने के घरेलू उपाय - प्रेगनेंसी रोकने के लिए क्या करें

शादी के बाद कुछ लोग अपने परिवार का विस्तार करने में समय लेना चाहते है। जिस कारण वे अक्सर अनचाहे गर्भ से बचने के उपाय और तरीके अपनाते रहते है।

इसके इलावा कई बार कुछ प्रेमी जोड़े प्यार में बह कर आपसी मेल कर बैठते है। और फिर बाद में लड़की के प्रेग्नेंट न होने के उपाय करते है। प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए क्या करना चाहिए।

पर बिना किसी गर्भ निरोधक गोली और टेबलेट के कुछ घरेलू नुस्खे से भी प्रेगनेंसी से बचा जा सकता है. प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू  उपाय ( pregnancy rokne ke gharelu upay) किये जा सकते है। आइये जाने.
 


You May Also Like : प्रेगनेंसी के दौरान इन 17 बातों का ध्यान रखें - Part #1
You May Also Like : गर्भावस्था के प्रथम सप्ताह में नजर आने वाले लक्षण
You May Also Like : प्रेगनेंसी के दौरान केसर खाना चाहिए या नहीं खाना चाहिए
You May Also Like : अल्कोहल से जेंडर प्रिडिक्शन 1 मिनट में
You May Also Like : बेकिंग सोडा और यूरिन से कैसे करते हैं जेंडर प्रेडिक्शन केवल 1 मिनट में - Gender prediction
You May Also Like : गर्भ में बेटा या बेटी जानने का मिस्र का तरीका 

प्रेगनेंसी रोकने के लिए क्या करें | Pregnancy rokne ke upay


पीरियड लाने के उपाय, पीरियड लाने के घरेलू उपाय
 
   प्रेगनेंसी रोकने के उपाय से पहले अगर आप सावधानी रखते हैं तो यह सबसे उचित रहता है. अन्यथा प्रेग्नेंट ना होने के घरेलू उपाय अपनाकर कि इस समस्या से बचा जा सकता है.

प्रेगनेंसी से बचने के लिए सबसे पहले ओव्युलेशन का ध्यान रखना जरुरी है। महिलाओं की प्रजनन क्षमता ओव्युलेशन के समय अधिक होती है, इसलिए अनचाहे गर्भ से बचना है तो इस दौरान कभी भी मेल ना करे।

पीरियड खत्म होने के बाद के 5 से 7 दिन तक गर्भधारण करने का समय सबसे अच्छा होता है, इसलिए प्रेग्नेंट होने से बचना है तो इन दिनों शारीरिक मेल नहीं करना चाहिए और अगर करना है तो मेल करने के सुरक्षित तरीके अपनाए।
 
कई बार कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंट होने के बारे में देरी से पता चलता है और ऐसे में 1 से 2 month का गर्भ हो जाये तो टेबलेट लेना सुरक्षित नहीं होता। ऐसी स्थिति में unwanted pregnancy से बचने के लिए कोई भी दवा या इलाज करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
 
पीरियड्स का ध्यान रखे
अनचाहे गर्भ से अगर बचना है और बिना किसी रुकावट के सेक्स का भी मज़ा लेना है, तो आपको पीरियड्स के दिनों के बारे में पूरी जानकारी रखना बेहद जरुरी बन जाता है। ये माना जाता है मासिक धर्म ख़त्म होने के बाद 5 से 10 दिन के बीच का समय प्रेग्नेंट होने के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है।  इसलिए जिन्हें बच्चा नहीं चाहिए वो इन दिनों के बीच सेक्स ना करे और अगर करना है तो जरुरी प्रोटेक्शन (कंडोम) इस्तेमाल करे।
 
1. अगर आप प्राकृतिक तरीके से अनचाही प्रेगनेंसी को रोकना चाहते हैं तो नीम एक असरदार औषधि है। नीम को स्पर्म मोटिलिटी को घटाने के लिए माना जाता है। जिसके नतीजे से गर्भ में बच्चा बनने की प्रक्रिया को रोका जा सकता है।
 
जिन औरतों को प्रेगनेंट होने का शक है, तो वो नीम के पत्ते चबाया करें। नीम का तेल भी गर्भ को रोकने में सहायक है। इसके लिए नीम के तेल का इंजेक्शन औरत के फैलोपियन ट्यूब तथा गर्भाशय के जुड़ने वाली जगह पर डाला जाता है। जिससे बहुत जल्दी से ही स्पर्म खत्म हो जाते हैं और इसके लिए आपको किसी अच्छे हस्पताल में जाना होगा।

You May Also Like : प्रेगनेंसी में निम्बू पानी फायदे का सौदा या घाटे का
You May Also Like : पल्स विधि द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन
You May Also Like : चाइना में बच्चे का जेंडर पता करने के कुछ प्राचीन तरीके


प्रेगनेंसी रोकने के उपाय, kya kare garbh na ho, period aane ke upay


2. कच्चे पपीते का सेवन
अनचाही प्रेगनेंसी
से बचने के लिए कच्चे पपीते का सेवन करना अचूक उपाय है। मेल होने के बाद कच्चा पपीता खाने से गर्भ ठहरने की संभावना कम हो जाती है। इसके इलावा अगले 3-4 दिन तक पपीते का जूस पिए या फिर पपीता खाएं।

You May Also Like : क्या प्रेगनेंसी में मट्ठा (छाछ) पीना चाहिए
You May Also Like : प्रेगनेंसी में पुदीने की चाय पीए कि नहीं पीए
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दी जाने वाली बेस्ट ड्रिंक
You May Also Like : प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए कि नहीं खाना चाहिए

3. अदरक
अदरक में रक्त स्त्राव शुरू करने के गुण होते है, अनचाहे गर्भ से बचने के लिए इसे प्राकृतिक गर्भ निरोधक दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। अदरक की चाय प्रतिदिन दिन में 2 बार पीने से pregnant होने की संभावना कम होती है।

4. गाजर के बीज से गर्भ कैसे गिराए - गाजर के बीज फॉर प्रेगनेंसी
पुराने समय में प्रेगनेंसी रोकने के उपाय के लिए जंगली गाजर की बीजो का सेवन किया जाता है। जो आज भी काफी असरदार आयुर्वेदिक नुस्खा है। इसका भी तरीका सिंपल है करे इसमें गाजर के बीज का सेवन भी फायदेमंद है। आधे से एक चम्मच गाजर बीज रात को सोने से पहले पानी में भिगो कर रखे और अगली सुबह को इनका पेस्ट बना कर खाएं। जब भी आपको लगे की आपसे भूल हो गयी है या अगर आपको गर्भ ठहरने का डर है तो यह उपाय तुरंत शुरू कर दें।
 
5. सुखी अंजीर
अनचाहे गर्भ से बचने के लिए सुखी अंजीर एक असरदार घरेलू नुस्खा है। ये उपाय काफी सरल है. बस आप जब भी सम्भोग करे उसके बाद कुछ सुखी अंजीर खा ले। अंजीर रोजाना तब तक खाते रहे जब तक आपके अगले पीरियड्स ना शुरू हो जाए। अंजीर खाने से आपके खून का दौरा भी बेहतर होता है।
 


pregnancy se bachne ka tarika, pregnancy se bachne ke liye


6. तिल (Sesame seeds)
तिल का सेवन गर्भ को रोकने में बहुत मददकर साबित होता है। तिल का इस्तेमाल खाने में कुछ दिनों तक लगातार करें। इससे प्रेगनेंट होने कि संभावना कम हो जाएगी।

You May Also Like : प्रेगनेंसी में शहद का सेवन कितना फायदेमंद
You May Also Like : क्या प्रेगनेंसी में घी खाना फायदेमंद होता है
You May Also Like : जानें क्यों प्रेगनेंसी में सौंफ खाने से किया जाता है मना


7. आंजेलिका
इसका उपयोग सेक्स के 2 सप्ताह के बीच करना है और इसे एक अच्छा उपाय भी माना जाता है। आंजेलिका के जड़ की चाय बना कर दिन में 2 बार सेवन करें। और आप ऐसा भी कर सकती हैं कि इसकी जड़ को 10 मिनट्स तक चबाएं।

8. हींग से प्रेगनेंसी रोकने के उपाय
भारत में हींग का प्रयोग अनचाही प्रेगनेंसी से छुटकारा पाने के लिए बहुत ही ज़्यादा किया जाता है। पानी में हींग को मिलाकर पीने से रुका हुआ गर्भ निकल जाता है। रोजाना 1/4 चम्मच हींग का प्रयोग आपको करना है।

 

प्रेगनेंसी रोकने की टेबलेट नाम – Pregnancy Rokne Ki Medicine Name in Hindi


अधिकतर महिलाएं अनचाहे गर्भ से बचने और गर्भपात करने के लिए सबसे पहले टेबलेट का सहारा लेती है। गर्भ निरोधक गोली से फायदा तो मिलता है पर लम्बे समय तक प्रेग्नेंसी रोकने की दवा लेने से नुकसान भी हो सकते है।

You May Also Like : प्रेगनेंसी की कर रही है प्लानिंग तो अभी से खाना शुरू कर दें ये 7 चीजें
You May Also Like : प्रेग्नेंसी में वजन बढ़ने को लेकर हैं परेशान, तो अभी से फॉलो करें ये टिप्स

प्रेगनेंसी रोकने के लिए टेबलेट नाम में unwanted 72 और i pill का नाम आता है। आप कोई भी गोली का प्रयोग कर सकते है। ये प्रेगनेंसी रोकने की टेबलेट (Pregnancy rokne ki tablet) के रूप में जानी जाती है।
 
मेल होने के बाद प्रेग्नेंट होने की संभावना से बचने के लिए 72 घंटे के अन्दर एक टेबलेट खानी होगी।

1 month और 2 month की प्रेग्नेंसी रोकने के लिए किसी भी मेडिसिन के सेवन से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

प्रेगनेंसी से बचने के लिए सबसे पहले हमें यह पता होना चाहिए कि प्रेगनेंसी है.

 आपको प्रेगनेंसी है या नहीं है, और आपको लक्षण जानकर थोड़ा सा शक हो रहा है, तो आप प्रेगनेंसी किट के द्वारा चेक करके कंफर्म हो सकते हैं, कि आप गर्भवती हैं या नहीं है. इसके लिए आप चाहे तो प्रेगनेंसी किट आपको ऑनलाइन भी मिल जाती है. आप वहां से भी खरीद सकते हैं अगर आप जानना चाहते हैं तो हम आपको इसका लिंक शेयर कर रहे हैं.

इसके लिए हम लिंक शेयर कर रहे हैं आप जाकर कीमत चेक कर सकते हैं और भी दूसरी जानकारी प्रेगनेंसी किट के बारे में ले सकते हैं.

जाने अमेजन पर ऑनलाइन प्रेगनेंसी किट को कैसे खरीदें, कहां से खरीदें और कीमत
 
 

 Q. प्रेगनेंसी रोकने के घरेलू उपाय बताएं?

ANS: प्रेगनेंसी से बचने का सबसे अच्छा उपाय यही है, कि आप  महिला के ओवुलेशन पीरियड का ध्यान रखें.  साथ ही साथ Protection लेना बिल्कुल भी नहीं भूले. यही सबसे अच्छा तरीका है, और सुरक्षित तरीका है. घरेलू उपाय के अंदर आप गाजर के बीज, पपीता, तिल सूखे अंजीर इत्यादि का प्रयोग कर सकते हैं. जिनकी विस्तृत चर्चा इस आर्टिकल में है.

Q. काली चाय से गर्भ कैसे गिराए?

ANS : काली चाय की तासीर काफी गर्म होती है. इसका प्रयोग गर्भपात के लिए अच्छा है. यह गर्भ गिराने का घरेलू उपाय है. चाय पत्ती बड़ी आसानी से घर पर ही उपलब्ध हो जाती है.

आपको दो गिलास पानी में एक चम्मच चाय पत्ती डालकर उबालना है. जब तक यह एक गिलास पानी नहीं रह जाता है, और इसे जितना गर्म आप पी सकती है, इतना गर्म आपको इसे पीना है. यह आपको खाली पेट रोजाना लेना है. 1 हफ्ते के अंदर आपकी समस्या  समाप्त हो जाने की संभावना है.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने