क्या पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करें

0
33

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या होता है?
असल में 7 दिन के बाद आठवां दिन वह सबसे महत्वपूर्ण दिन होता है, जब महिला के पीरियड मिस होने होने का असली कारण आपके सामने सौ पर्सेंट आ जाता है.

हालांकि पीरियड मिस होने की वजह आप थोड़ा पहले भी जान सकते हैं, लेकिन जो महिलाएं पीरियड मिस होने का कारण 7 दिन से पहले नहीं जान सकती है, 7 दिन के बाद वह भी जान जाती है, कि आपके पीरियड क्यों मिस हो गए हैं.

किसी भी महिला के लिए पीरियड मिस होना काफी मायने रखता है. यह आपकी जिंदगी को एक करवट से दूसरी करवट ले जाने की क्षमता रखता है.

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद

अगर किसी महिला के पीरियड मिस हो गए हैं और वह डॉक्टर से इस बात की कन्फर्मेशन चाहती है कि उसके पीरियड क्यों मिस हो गए हैं, तो अधिकतर डॉक्टर ऑफिसअली यही कहते हैं, कि पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद आप अपनी प्रेगनेंसी चेक करें. आप सौ परसेंट कंफर्म हो जाएंगे कि आप प्रेगनेंसी के कारण पीरियड मिस होने का शिकार है या फिर किसी और कारण से आपके पीरियड मिस हो गए हैं.

प्रेगनेंसी की वजह से पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद क्या होता है

अगर आपके पीरियड मिस हो गए हो आपको यह नहीं पता है, कि पीरियड क्यों मिस हो गए हैं तो आप प्रेगनेंसी टेस्ट किट के द्वारा पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद चेक करें तो आपकी प्रेगनेंसी कंफर्म हो जाती है.

7 दिन के बाद महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हारमोंस का निर्माण काफी उचित मात्रा में हो जाता है और वह महिला के ब्लड और यूरिन दोनों में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध रहता है और आप यूरिन के माध्यम से प्रेगनेंसी चेक कर रहे हैं तो आप कंफर्म कर सकते हैं कि आप गर्भवती है या गर्भवती नहीं है.

अगर आप गर्भवती हैं तो प्रेगनेंसी टेस्ट किट रिजल्ट पॉजिटिव आ जाता है. पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद ही सबसे बेहतर रिजल्ट आते हैं. इससे पहले रिजल्ट गलत होने की संभावना बनी रहती है.

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी के लक्षण

बहुत से दंपत्ति जानना चाहते हैं, कि क्या प्रेगनेंसी पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी के लक्षण महिलाओं के शरीर में नजर आ सकते हैं.

कुछ महिलाओं को तो लक्षण पूरी प्रेगनेंसी के दौरान नजर नहीं आते हैं और कुछ महिलाओं को लक्षण इतने अधिक नजर आते हैं, कि महिला उन लक्षणों की वजह से अत्यधिक परेशान रहती है. यहां तक की परिवार वाले भी काफी परेशान हो जाते हैं.

प्रेगनेंसी हारमोंस के साइड इफेक्ट के रूप में महिला को लक्षण नजर आते हैं. महिला का शरीर इन हारमोंस के प्रति कितना सेंसिटिव है, इस बात पर निर्भर करता है कि लक्षण कितने तीव्र है.
प्रेगनेंसी के शुरुआती लक्षण इस प्रकार से है —

FEATURED

Pregnancy Test Kits
10+ Brands

  • buy More then one
  • no hesitation
  • branded
  • customer reviews
  • home delivery
  • मॉर्निंग सिकनेस की समस्या होना
  • कुछ भी अच्छा नहीं लगना मन खराब रहना
  • महिला के सूंघने की शक्ति बढ़ जाती है, और बहुत सी चीजों से नफरत या कुछ चीजें अच्छी लगने लगती है जो पहले अच्छी नहीं लगती थी .
  • अक्सर महिलाओं को उल्टी होने का अनुभव रहता है, कई बार महिलाओं को उल्टियां भी काफी अधिक आती हैं.
  • खट्टे स्वाद के प्रति प्रेम
  • बार-बार पेशाब जाने की आवश्यकता होने लगती है.
  • महिला के स्तनों में तनाव नजर आता है और हल्की सी रगड़ पर दर्द भी महसूस हो सकता है.
  • कभी-कभी महिलाओं को चक्कर आने की समस्या भी नजर आती है.
  • कुछ महिलाओं को हल्का बुखार रहता है.
  • पेट दर्द या पीठ दर्द भी हो सकता है.

पीरियड मिस होने के 7 दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट और प्रेगनेंसी नेगेटिव

7 दिन के बाद महिला अगर प्रेगनेंसी चेक करती है और प्रेगनेंसी नेगेटिव आ जाती है तो यह माना जाता है कि महिला वास्तव में गर्भवती नहीं है.

अब महिला के पीरियड क्यों मिस हो गए हैं इसका सीधा सा कारण यही होता है कि महिला के शरीर में हारमोंस बैलेंस नहीं है.

इसकी वजह से महिला के पीरियड मिस हो सकते हैं. अगर महिला अत्यधिक कमजोर होती है और महिला को एनीमिया की शिकायत रहती है, तब भी पीरियड मिस हो सकते हैं.

निष्कर्ष

महिला को पीरियड मिस होने के बहुत सारे कारण होते हैं, लेकिन 7 दिन के बाद प्रेगनेंसी चेक हो जाती है और महिला को इस बात का पता चल जाता है, कि महिला के पीरियड क्यों मिस हो गए हैं.

एक कारण प्रेगनेंसी हो सकती है, अगर प्रेगनेंसी नहीं है तो फिर महिला के पीरियड मिस होने की बहुत सारे कारण होते हैं. उन कारणों को इन्वेस्टिगेट करके महिला के पीरियड संबंधी समस्या ठीक किया जा सकता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें