💛🟡💛 पीला येलो यूरिन बेबी जेंडर प्रेडिक्शन – 1 Powerful Method

0
2659

आज हम अपने पोस्ट के माध्यम से पीला येलो यूरिन बेबी जेंडर प्रेडिक्शन, अर्थात महिला के यूरिन से महिला के यूरिन के कलर से किस प्रकार से बच्चे के जेंडर का आकलन कर सकते हैं. इस संबंध में बात करें करेंगे.  महिला के गर्भ में पलने वाले शिशु के जेंडर का पता किस तरह से हम लगा सकते हैं. 

आज हम आपको बताने वाले हैं, कि महिला के पेशाब के रंग को देखकर किस तरह से हम महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे का पता लगाएं, कि वह लड़का है कि लड़की है.

दोस्तों यह कोई वैज्ञानिक तरीका नहीं है, कि आप हंड्रेड परसेंट सही पता लगा पाओगे. बस आप एक आइडिया लगा सकते हो. क्योंकि एक जानने की इच्छा होती है, कि क्या होगा. ताकि आने वाली संतान के जेंडर के अनुसार हम तैयारी कर सकें. दोस्तों बस ये जिज्ञासा भारत देश के लोगों में ही होती है.

इन्हें भी पढ़ें : क्या माया कैलेंडर के अनुसार के जेंडर प्रेडिक्शन कर सकते हैं
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में जेंडर प्रेडिक्शन की 6 फनी ट्रिक्स
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में जेंडर प्रेडिक्शन की 5 अजब गजब ट्रिक्स
इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में बेटा या बेटी जानने के 6 तरीके

FEATURED

प्रेगनेंसी वाले तकिए

  • 50+ डिजाइन / रंग
  • प्रेगनेंसी में आराम के लिए महत्वपूर्ण
  • होम डिलीवरी
  • प्रोडक्ट के विषय में यूज़र के रिव्यु
FEATURED
pregnancy panties

Pregnancy panties for women

  • Multi Color/Design
  • Multiple brand
  • Skin friendly fabric
  • Customer reviews
  • In your budget

पीला येलो यूरिन बेबी जेंडर प्रेडिक्शन

प्रेगनेंसी के दौरान महिला का पीला येलो यूरिन बेबी जेंडर प्रेडिक्शन करने में सक्षम माना जाता है.  महिलाएं अपने पेशाब के रंग को भी देख कर इस बात का अंदाजा लगा सकती है, कि उनके गर्भ में पलने वाला शिशु लड़का है या लड़की है.

अगर गर्भावस्था में पेशाब का रंग चमकीला पीला होता है, तो महिला के गर्भ में एक पुत्र  है. और अगर वही गर्भावस्था में महिला के पेशाब का रंग हल्का पीला होता है, तो माना जाता है महिला के गर्भ में 1 कन्या हैं.

gender prediction by female urine

जेंडर प्रिडिक्शन करते समय सावधानियां

दोस्तों यहां पर यह बात समझने वाली है, कि आप सिर्फ एक बार के रंग को देखकर नहीं बता सकते.

हो सकता है, महिला ने कम पानी पिया हो. जिसकी वजह से मूत्र का रंग ज्यादा पीला हो.

इसके लिए आपको तीन-चार दिन लगातार सही मात्रा में पानी पीकर हर बार चेक करना होगा. तभी आप इस निष्कर्ष पर पहुंच सकती है, कि मूत्र का रंग क्या जरूरत से ज्यादा पीला है.

और दूसरी बात आपको इस बात का भी आईडिया होना चाहिए, कि प्रेगनेंसी से पहले आप के मूत्र का रंग किस तरह का था. कम पानी पीने पर कैसा होता था, और ज्यादा पानी पीने पर उसका रंग कैसा होता था.


इन्हें भी पढ़ें : महिला के पेशाब के रंग से कैसे जाने गर्भ में क्या पल रहा है

kaise pata kare garbh me kya hai

इन्हें भी पढ़ें : अल्कोहल से जेंडर प्रिडिक्शन 1 मिनट में
इन्हें भी पढ़ें : बेकिंग सोडा और यूरिन से कैसे करते हैं जेंडर प्रेडिक्शन केवल 1 मिनट में – Gender prediction
इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में बेटा या बेटी जानने का मिस्र का तरीका
इन्हें भी पढ़ें : पल्स विधि द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन


जब तक आपके माइंड में यह सब बातें क्लियर नहीं रहेंगी,आप बिल्कुल भी idea नहीं लगा सकते  हो.  आपको इन सब बातों का पता होना बहुत जरूरी है. अभी आप सही सही अपने होने वाली संतान की जेंडर के बारे में पहले से ही पता लगा पाएंगे.

दोस्तों महिला के गर्भ में क्या है, इसको लेकर विभिन्न प्रकार के तरीके समाज में और पूरे विश्व के अंदर प्रयोग में लाए जाते हैं.

उनमें से बहुत सारे तरीकों को हमने अपने काफी सारे आर्टिकल में विस्तृत तरीके से बताया गया है. आप वहां से भी और दूसरे तरीकों को देख सकते हैं.

लेकिन साथ ही साथ यह भी उतना ही जरूरी है, कि गर्भवती महिला को अपना और अपने गर्भस्थ शिशु का भी ध्यान उतनी ही शिद्दत से रखना है. जितनी शिद्दत से आप गर्भस्थ शिशु के जेंडर के बारे में जानना चाह रहे हैं. बल्कि उससे भी अधिक ध्यान आपको अपने गर्भस्थ शिशु का रखना है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें