पुत्र प्राप्ति का आयुर्वेदिक नुस्खा (नींबू + दूध + देसी घी) – Putra Prapti ke Upay

0
1219

अच्छी संतान की कामना सबको होती है, लेकिन. कई महिलाएं ऐसी होती हैं जिनमें सिर्फ और सिर्फ पुत्रियां ही पैदा होती है पुत्र रत्न की प्राप्ति उन्हें नहीं होती है.

इन स्त्रियों को पुत्र होने का आयुर्वेदिक उपाय यहां दिया जा रहा है आपको अपने ईश्वर पर आस्था रखते हुए प्रयोग करने से आपको अवश्य ही लड़के की प्राप्ति होगी. इस पुत्र प्राप्ति के उपाय (putra prapti ke upay) को ध्यान से पढ़ें और इसकी सावधानियों पर भी आप विशेष ध्यान दें.

पुत्र प्राप्ति का आयुर्वेदिक नुस्खा

इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति की चमत्कारी प्राचीन औषधि
इन्हें भी पढ़ें : गर्भ में पुत्र प्राप्ति का उपाय – गाय का दूध
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति के 3 बलशाली टोटके
इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति का प्राचीन उपाय – मोर पंख
इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंट हो जाने के बाद नारियल द्वारा पुत्र प्राप्ति का तरीका

ऋषियों द्वारा दिए पुत्र प्राप्ति के सूत्र

दोस्तों अगर आपके संतान नहीं है, या आप लड़का प्राप्त करना चाह रहे हैं, तो आप यहां दिए जा रहे कुछ आयुर्वेदिक उपाय जिन्हें हम साधना भाषा में टोटका भी कहते हैं. उन्हें बताने जा रहे हैं. जिन्हें करने से आप के यहां पुत्र प्राप्तिकी संभावना बढ़ जाएगी.

पुत्र प्राप्ति के लिए घरेलू उपाय – Bijora Nimbu ki jad se Putra Prapti

आइए दोस्तों आपको पुत्र प्राप्ति के लिए घरेलू उपाय बता देते हैं. इसके लिए दोस्तों आपको बछड़े वाली गाय के दूध में बिजोरा नींबू की जड़ को पकाना है. और उसके बाद इस दूध को घी डालकर आपको पी जाना है. दोस्तों यह था उपाय इसमें कुछ सावधानियां रखनी है. उस पर चर्चा कर लेते हैं (nimbu ki jad se putra prapti).

इसके लिए आपको जो नींबू की जड़ है, वह पतली पतली होनी चाहिए. ताजी हो तो बहुत ही अच्छा, थोड़ा खरल, पीसकर करके आप दूध में पका सकते हैं. एक बार में आप 5 ग्राम तक जड़ ले सकते हैं. अच्छी तरह पानी से धो दिए और पका लीजिए.

लड़का पैदा करने का तरीका

लगभग डेढ़ गिलास दूध में पकाइए. जब तक वह दूध एक गिलास ना रह जाए. अब इस में घी मिलाकर पी लीजिए.

आवश्यक सावधानियां

आप यह सुबह के नंबर में खाली पेट भी पी सकती हैं, या दोपहर का खाना खाने के बाद लगभग 3 घंटे बाद शाम को 4:00 बजे के आसपास जब पेट खाली रहता है, तब भी पी सकते हैं. बस ध्यान रहे इसको पीने के बाद आप 2 घंटे तक कुछ ना खाएं. इसे अच्छी तरह से शरीर में पचने दें.

जब आप इसका सेवन कर रहे हो तो आपको अपच कब्ज गैस या एसिडिटी की समस्या नहीं होनी चाहिए. अगर है तो पहले आप इसका समाधान करें.

मासिक धर्म शुरू होते ही आप इसका भी सेवन शुरू कर दें और 7 – 8 दिन ले.

इसी बीच आपका मासिक धर्म भी समाप्त हो जाएगा.

आपको इस बात का भी ध्यान रखना है कि महिला की पीरियड्स अर्थात महावारी नियमित हो अगर यह नियमित नहीं है तो आपको पहले इसका ट्रीटमेंट लेकर नियमित करवाना चाहिए.

इन्हें भी पढ़ें : पुत्र प्राप्ति के लिए फेमस आयुर्वेदिक औषधि – बांझपन भी दूर होता है,

इन्हें भी पढ़ें : साइंस और धर्म विज्ञान दोनों के अनुसार पुत्र प्राप्ति का सटीक उपाय

इन्हें भी पढ़ें : मनचाही संतान प्राप्ति का प्राचीन तरीका – part #3

इन्हें भी पढ़ें : इसे खाने से बांझ को भी पुत्र पैदा होता है – Putra Prapti Part #1

इन्हें भी पढ़ें : प्राचीन ऋषियों द्वारा पुत्री प्राप्ति के दिए गए पांच सूत्र

और जैसा हमने बताया कि दूध गाय वाली बछड़े वाली गाय का ही होना चाहिए अगर आपको गर्भ रह जाता है तो आप अगले 3 महीने तक बछड़े वाली गाय के दूध का सेवन करें कोशिश करें एक ही गाय के दूध का सेवन करें.

, बेटा पैदा करने का घरेलु उपाय, पुत्र, बेटा

घी देसी घी होना चाहिए वह भी गाय का ही हो. दोस्तों देखने से ही पता चल रहा है कि यह एक आयुर्वेदिक उपाय हैं अतः आप और अधिक नॉलेज के लिए अपने आसपास किसी योग्य आयुर्वेदाचार्य से भी सलाह ले सकते हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें