प्रेगनेंसी के 13वें हफ्ते में लक्षण और शिशु का विकास

 दोस्तों प्रेगनेंसी के 12 हफ्ते बड़े आराम से व्यतीत हो चुके हैं, और 13वां हफ्ता शुरू हो गया है. आपकी प्रेगनेंसी पहले तिमाही के अंतिम दौर में है.


महिला के शरीर में परिवर्तन

 अब आपको यह महसूस होने लगेगा कि प्रेगनेंसी होना उतना भी कष्टकारी नहीं है. जो लक्षण आपको पहले 3 महीने में काफी ज्यादा परेशान कर रहे थे, साइड इफेक्ट नजर आ रहे थे. वह अब धीरे-धीरे समाप्ति की ओर है.

 बहुत सी महिलाओं में समाप्त भी हो जाते हैं. अब आपको दूसरे नए लक्षण नजर आने लगेंगे. जो यह भी साबित करते हैं कि आपकी प्रेगनेंसी सही तरीके से आगे बढ़ रही है.

 अब तक अधिकतर महिलाएं अपना एक अल्ट्रासाउंड करवा चुकी होती हैं, और डॉक्टर के यहां एक से दो विजिट ले चुकी होती हैं. अब तक आपने अपने गर्भस्थ शिशु को अल्ट्रासाउंड मशीन के की सहायता से देख भी लिया होगा, और आपने डॉप्लर की मदद से अपने शिशु की धड़कन भी सुनी होगी. वह एहसास ही अलग होता है. आपका और आपके शिशु की बॉन्डिंग अधिक गहरी हो जाती है.

 शुरू के कुछ हफ्तों में आपको लक्षण तो नजर आ रहे थे, लेकिन प्रेगनेंसी है इसका एहसास नहीं हो रहा था.  अब धीरे-धीरे आपको प्रेगनेंसी होने का एहसास होने लगेगा और धीरे-धीरे आपको गर्भवती होने में जो असहजता थी, वह धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है. आपका मन स्वीकार कर लेता है, कि आप गर्भवती हैं.
 
इस वक्त आपको कुछ लक्षण नजर आ सकते हैं जोकि पिछले हफ्तों में भी रहे होंगे

प्रेगनेंसी के 13वें हफ्ते में लक्षण और शिशु का विकास
 
 

13वां हफ्ता  प्रेगनेंसी के लक्षण

हारमोंस प्रॉजेस्टरोन के कारण आपकी आते और पेट की मांसपेशियां मुलायम हो चुकी थी. वह अभी भी मुलायम है. आपको कब्ज की समस्या नजर आ सकती है. इसलिए आपको फल फ्रूट और लिक्विड डाइट लेना आवश्यक हो जाता है.
 
आपको अभी भी अपना पेट भरा भरा सा महसूस होगा और जब आप बैठेंगे या उठेंगे तो आपको भारीपन महसूस देता रहेगा.

 आपके पेट में हल्का सा उधार नजर आएगा साथ ही साथ आपकी कमर पर भी, उसके दोनों और चर्बी चढ़ने लगेगी.

 अगर आपको मतली लगना, उल्टी लगना या उल्टी होना आदि की समस्या बनी हुई है, तो यह पहले की तुलना में कम हो गई होगी.

 जैसा कि हमने बताया था कि आपकी मांसपेशियां हारमोंस के कारण थोड़ा शिथिल पड़ जाती हैं. ऐसे में आपके रीड की हड्डी के लिगामेंट भी थोड़े से ढीले पड़ जाते हैं. ऐसे में आपको दर्द की समस्या नजर आ सकती है. अब धीरे-धीरे उनके ऊपर गर्भस्थ शिशु का भी प्रेशर आना शुरू होगा.

 आपको बार बार टॉयलेट जाने की जो समस्या लगी हुई थी, वह अब पहले की अपेक्षा कम हो जाएगी. हालांकि आने वाले समय में वह बढ़ सकती है.

 अब आप अपने आप को थोड़ा सा ऊर्जावान महसूस करने लगेंगे. आपका मन थोड़ा अच्छा रहेगा. आपका अपने जीवन साथी के प्रति आकर्षण बढ़ जाएगा, इसके लिए कुछ हारमोंस भी जिम्मेदार होते हैं.

 अब आपके शरीर का आकार थोड़ा सा परिवर्तित होने लगा है और आपको जानने वाले उसे नोटिस भी करेंगे. आपको आप ढीले वस्त्र पहनना शुरू कर देना चाहिए.



13 हफ्ते तक शिशु का विकास कितना हो जाता है

अब शिशु का आकार एक मध्यम आकार के आलू के बराबर हो गया है. हालांकि इस शिशु का विकास अभी अपनी प्रारंभिक अवस्था में ही है. लगभग लगभग सभी अंगो का निर्माण शुरू हो गया है, और कुछ स्पष्ट दिखाई भी देने लगे हैं, लेकिन वह अभी और विकास करेंगे.

शिशु की त्वचा का निर्माण हो चुका है. हालांकि वह अभी इतनी मजबूत नहीं है. लेकिन उस पर बारीक बारीक बाल जमने लगे हैं.

इस हफ्ते शिशु अपनी स्वर ग्रंथियों का निर्माण करने में लगा हुआ है. जिसका प्रयोग शिशु सबसे पहले रोने में करेगा.

आपके शिशु के मस्तिष्क, मांसपेशियों और तंत्रिकाओं के बीच अब रिश्ते बन चुका है. तंत्रिका जाल फैल चुका है. वह अपने आप को आगे पीछे धकेलने और खींचने में भी सक्षम है.
 

अब आने वाले कुछ हफ्तों में मस्तिष्क का विकास बहुत तेज गति से होने वाला है.

प्रेगनेंसी के इस हफ्ते के दौरान आपको कुछ सावधानियां रखने की आवश्यकता होती है जैसे कि आपको हमेशा अपने पास रूमालिया टिशू पेपर रखना है. इस दौरान आपकी नाक बह सकती है, और यह नाक जुकाम के कारण नहीं बहती है. साथ ही आपको अपने भोजन की पौष्टिकता का भी ध्यान रखना है.

Post a Comment

Previous Post Next Post

India's Best Deal