बेटा होने के उपाय – 2 घरेलू उपाय

0
833

हम बेटा होने के उपाय को लेकर चर्चा करने जा रहे हैं.  कुछ ऐसे छोटे-छोटे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं, अगर आप संतान प्राप्ति की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको इन उपायों को अपनाने के बाद बेटा होने की संभावना बढ़ जाती है.

ऐसा कोई भी उपाय नहीं है जो 100% यह  गारंटी दे सके कि इस को अपनाने के बाद बेटा ही पैदा होता है. मात्र सभी उपाय संभावना को बढ़ाने के लिए ही होते हैं, और यह काम भी करते हैं.

वैसे तो आयुर्वेद के अंदर ऐसे उपायों को लेकर ज्यादा चर्चा नहीं की जाती है, जो एक ही दिन में अपना असर दिखाए, लेकिन आवश्यकता पड़ने पर ऐसे उपायों को किया जाता है, तो उनका कुछ असर देखने में अवश्य आता है.

हालांकि इतना ज्यादा असर नजर नहीं आता है, लेकिन असर होता है और उसका लाभ भी मिलता है. यह उपाय 2 तरीके से देखा जा सकता है.

बेटा होने के उपाय - 2 घरेलू उपाय

पहले तो अगर आप देखें तो यह मर्दाना ताकत को बढ़ाने के लिए जबरदस्त उपाय के रूप में भी इसे बताया जा सकता है.

दूसरा मर्दाना ताकत पुत्र प्राप्ति के लिए भी बढ़ाना उतना ही आवश्यक होता है. तो इसलिए यह दोनों ही प्रकार से प्रयोग में लाए जा सकता है.

महिला के शरीर में पुरुष शुक्राणु को दुश्मन समझा जाता है, और उसके वहां प्रवेश करते ही उन्हें मारने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एक बूंद पुरुष अंश के अंदर 20 लाख से भी ज्यादा शुक्राणु, या एक्स और वाई क्रोमोसोम हो सकते हैं, और मात्र प्रेगनेंसी के लिए एक ही क्रोमोसोम की आवश्यकता होती है.

अगर पुरुष के अंश के अंदर मात्र 4 से 5 लाख शुक्राणु या एक्स वाई क्रोमोसोम होते हैं, तो उन्हें संतान प्राप्ति के लिए पर्याप्त माना जाता है.

FEATURED

30+नेचुरल स्पर्म बूस्टर
(टेस्टोस्टरॉन)

  • आयुर्वेदिक
  • जड़ी बूटियों से निर्मित
  • ब्रांडेड
  • कस्टमर रिव्यूज
  • बजट में (नो एक्स्ट्रा कॉस्ट)

तो आप समझ सकते हैं, कि कितनी बड़ी संख्या में महिला के शरीर के अंदर इनके खिलाफ कार्यवाही होती है.

मात्र कुछ ही आगे बढ़ पाते हैं. अगर महिला पुरुष से पहले स्खलित हो जाती है, तो महिला के शरीर में साधारण भाषा में बोले तो एक लिक्विड का रिसाव होता है. यह लिक्विड पुरुष के अंश को अर्थात एक्स और वाई क्रोमोसोम की रक्षा का कार्य करता है.

इसलिए पुरुष को देर तक रूके रहना अत्यधिक आवश्यक होता है. इसके लिए पुरुष कुछ महीनों पहले से तैयारी करें तो यह संभव बड़ी आसानी से हो जाता है.

बेटा होने के उपाय

लेकिन आप आज ही या एक-दो दिन में ही संतान प्राप्ति की कोशिश कर रहे हैं, और आप चाहते हैं कि आपके यहां पुत्र प्राप्ति की संभावना बड़े तो आप छोटे-छोटे उपायों को करके कोशिश कर सकते हैं.

लहसुन का प्रयोग

पहला उपाय आप रात को खाना खाने के 40 मिनट बाद दो कली लहसुन की खा ले और उसके बाद थोड़ा सा पानी पी ले. आपको इससे तुरंत काफी ताकत महसूस होगी और आप का आपका पुरुष तत्व बलवान हो जाएगा.

आंवले का प्रयोग

दूसरा उपाय आंवले के चूर्ण में आप मिश्री पीसकर मिला लें और सोने से पहले एक चम्मच इस पाउडर का सेवन करें.

पाउडर जितना बारिक पिसावा होगा उतना ज्यादा अच्छा रहता है. और इसे लेने के कुछ देर बाद आप पानी पी ले.
लेकिन इसे रात को खाना खाने के 40 मिनट बाद ले  ज्यादा अच्छा रहता है, और इसे खाने के बाद जब पानी पी लेंगे तो उसके कुछ देर बाद आप जैसा चाहोगे वैसे ताकत मिलेगी. ऐसा माना जाता है.

लेकिन वैसी ताकत नहीं भी मिले तो ताकत जरूर मिलेगी.

आवश्यक सावधानियां

अगर आप चाहते हैं कि आपका पुरुष तत्त्व हमेशा बलवान रहे. आप हमेशा लंबी पारी खेले तो इसके लिए आपको थोड़ा संयमित जीवन जीना होगा.  सबसे पहले तो आपका पेट खराब नहीं होना चाहिए. कब्ज की समस्या आपको बहुत ज्यादा कमजोर बनाती है.

इसलिए तला हुआ, भुना हुआ, तेज मिर्च मसालेदार, फास्ट फूड इत्यादि. भोजन आपको लेने से बचना चाहिए. रात को समय से सोए. समय से उठे और शरीर को भी कुछ समय योगा के लिए देना चाहिए. प्राणायाम शरीर की ऊर्जा को बहुत ज्यादा बढ़ाते हैं.

बेटा होने के उपाय - 2 घरेलू उपाय- सुन्दर पुत्र प्राप्ति के उपाय

मात्र 3 से 6 महीने के अंदर आपको अपने अंदर अलग ही बदलाव नजर आएगा और इतना समय तो आपको देना ही होगा.

आप जो भी तुरंत ताकत के लिए वस्तुएं प्रयोग में लाते हैं. यह शरीर को अत्यधिक नुकसान देती है. और सदा सदा के लिए शरीर का नाश कर देती है. इसलिए आप संयमित जीवन पर ज्यादा ध्यान दें.

मात्र 3 से 6 महीने के अंदर आपको अपने अंदर अलग ही बदलाव नजर आएगा और इतना समय तो आपको देना ही होगा. आप जो भी तुरंत ताकत के लिए ओ वस्तुएं प्रयोग में लाते हैं. यह शरीर को अत्यधिक नुकसान देती है, और सदा सदा के लिए शरीर का नाश कर देती है. इसलिए आप संयमित जीवन पर ज्यादा ध्यान दें.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें