प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी दवा खाएं | घरेलू उपाय

0
81
प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी दवा खाएं | घरेलू उपाय

काफी सारे दंपत्ति का यह प्रश्न रहता है कि प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी दवा खाएं. हालांकि प्रेगनेंसी कुछ बहुत छोटे-छोटे कारणों की वजह से भी नहीं होती है, जिन का इलाज आप अपने घरेलू उपायों के द्वारा कर सकते हैं. आइए इन्हीं पर चर्चा करते हैं.

काफी सारे प्रश्न आते हैं कि हमें प्रेगनेंसी नहीं हो रही है. हमारी सारी रिपोर्ट सही है, पति-पत्नी में कोई कमी नहीं है. लेकिन उसके बाद भी प्रेगनेंसी नहीं हो रही है.

प्रेगनेंसी नहीं होने का कारण कभी-कभी क्यों नहीं पता चलता

  • उसके पीछे कुछ कारण होते हैं. सबसे पहले तो आप अपनी समस्या को सही ढंग से डिस्क्राइब नहीं कर पाते हैं. जिसकी वजह से डॉक्टर का आकलन गलत हो सकता है या फिर कभी-कभी आर्थिक परिस्थिति सभी प्रकार की रिपोर्ट कराने की परमिशन नहीं देती है.
  • कभी-कभी रिपोर्ट की सुविधा अस्पताल में नहीं होती है, तो सबसे आवश्यक रिपोर्ट नहीं हो पाती है.
  • डॉक्टर के पास स्थित लैब में ऐसी सुविधाएं नहीं होती हैं कि वह उस रिपोर्ट को कर पाए जो आपके लिए आवश्यक है या उनके पास एक्सपर्ट की कमी होती है,  तो वह सपोर्टिंग रिपोर्ट करके ही देख लेते हैं. जो सही परिस्थिति नहीं बताते हैं. वह कई बार यह कह देते हैं कि सभी रिपोर्ट सही हैं, जबकि सभी रिपोर्ट नहीं हुई होती हैं. इस बारे में हमें और आपको कुछ नहीं पता होता है.
  • डॉक्टर भी इंसान ही होते हैं कभी-कभी उनका आकलन ही गलत हो सकता है वह सही रिपोर्ट करने का सजेशन नहीं दे पाते हैं.
  • कभी-कभी दंपत्ति भी सामाजिक कारणों से सही परिस्थितियों की जानकारी डॉक्टर को नहीं देते हैं.

इन सब कारणों से आपकी समस्या में भ्रम की स्थिति बन जाती है. लेकिन कई बार सब कुछ सही होने पर भी समझ नहीं आता है, कि ऐसा क्यों हो रहा है. क्योंकि शरीर इतना कंपलेक्स होता है कि उसके विषय में सही आकलन करना आसान नहीं होता है और भारत के अंदर एलोपैथिक पद्धति इतनी विकसित नहीं है कि वह हर प्रकार की टेस्टिंग कर सकें. हालांकि भारत में एलोपैथी प्रमुख इलाज की पद्धति है लेकिन यह एक विदेशी पद्धति है.

FEATURED

30+नेचुरल स्पर्म बूस्टर
(टेस्टोस्टरॉन)

  • आयुर्वेदिक
  • जड़ी बूटियों से निर्मित
  • ब्रांडेड
  • कस्टमर रिव्यूज
  • बजट में (नो एक्स्ट्रा कॉस्ट)

जब रिपोर्ट सही होती है, तो प्रेगनेंसी की वजह मात्र महिला और पुरुष के शरीर में प्रेगनेंसी की प्रोसेस सही तरीके से एग्जीक्यूट नहीं होना ही होती है.

इसके अंदर पुरुष के शुक्राणु कमजोर है, या महिला का Ovulation पीरियड सही नहीं है या कभी कभी किसी हारमोंस की वजह से यह समस्या हो जाती है. ऐसी छोटी-छोटी दिक्कतें हो सकती हैं,

जो रिपोर्ट के माध्यम से आईडेंटिफाई नहीं हो पाती है. या रिपोर्ट उस पार्टिकुलर समस्या के बारे में नहीं की गई होती है जैसे कि पुरुष के शुक्राणु अकाउंट की रिपोर्ट आपने करवा ली है, लेकिन वह कमजोर है या ताकतवर है इसके बारे में आपको नहीं पता या उसकी रिपोर्ट नहीं करवाई.
घरेलू तरीके उन समस्याओं को दूर करने में काफी सहायक होते हैं.

प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी दवा खाएं – घरेलू उपाय

आज हम आपको काली किशमिश का एक उपाय बता रहे हैं कि यह किस प्रकार से प्रेगनेंसी में सहायक होती है.
पहले तो आप यह कंफ्यूजन दूर करें कि किसमिस और काली किशमिश क्या है.

एक लाल किशमिश होती है जो हरे अंगूर से बनती है और यह काली किशमिश है जो काले अंगूर से बनती है. मुनक्का भी अंगूर से बनती है लेकिन वह हरे और बड़े अंगूर से बनती है, तो हम उसकी बात नहीं कर रहे हैं. हम काली किशमिश की बात कर रहे हैं जो काले अंगूर से बनती है.

प्रेग्नेंट होने के लिए कौन सी दवा खाएं | घरेलू उपाय

आपको रोजाना 15 से 20 काली किशमिश शाम को ताजे पानी में भीगा कर रख देनी है. जैसे आप बाजार से लाते हैं उसी अवस्था में रखनी है उनकी चिरफाड नहीं करनी है.

लगभग 12 घंटे जब काली किशमिश पानी में भीगी रहेंगी तो उनके सभी पोषक तत्व के गुण पानी के अंदर आ जाएंगे. आपको सुबह खाली पेट उस पानी को पी लेना.

सबसे पहले आप बासी मुंह 1/2 गिलास पानी पिएंगे, कुल्ला नहीं करना है. उसके 5 मिनट बाद इस एक कटोरी पानी को आप पी लेंगे और किशमिश का प्रयोग आप दिन में नाश्ते के समय कर सकते हैं.

इसके बाद आप लगभग 30 से 40 मिनट में अपना फ्रेश होने में ले सकते हैं. 40 मिनट के बाद आप नाश्ता कर सकते हैं.

लगभग 90 दिन तक आपको यह प्रयोग करना है और 1 महीने प्रयोग करने के बाद आप संतान प्राप्ति की कोशिश महिला के ओवुलेशन पीरियड के दौरान कर सकते हैं.

यह काली किशमिश का पानी महिला और पुरुष दोनों की प्रजनन क्षमता को मजबूत बनाने में अत्यधिक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. हालांकि इसके और भी बहुत सारे हेल्थ बेनिफिट हैं. लेकिन हम प्रजनन क्षमता के नजरिया से बात कर रहे हैं, तो इसी पर कंसंट्रेट करते हैं.

यह पुरुष के शरीर में स्पर्म काउंट बढ़ाएगा और स्पर्म को ताकतवर बनाएगा. इसके पोषक तत्व महिला के अंडे की क्वालिटी को इंप्रूव करते हैं और शरीर में हारमोंस को बैलेंस करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. साथ ही साथ काले अंगूर की किसमिस का यह पानी शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को भी बढ़ाता है जो अत्यधिक आवश्यक होती है.

यह फार्मूला कब काम नहीं करता

  • अगर महिला का गर्भाशय छोटा है तो यह काम नहीं करेगा.
  • अगर महिला को थायराइड की समस्या है तो एक बार महिला गर्भवती तो हो सकती है. लेकिन आगे चलकर मिसकैरेज इसकी संभावना थायराइड की वजह से हो जाती है तो उसमें कोई मदद नहीं कर पाएगा.
  • अगर महिला की गर्भाशय में कोई गांठ है जिसकी वजह से प्रेगनेंसी आगे बढ़ने में समस्या है तो यह वह भी मदद नहीं करेगा.
  • यह और इस प्रकार की दूसरी समस्याएं जिनकी वजह से प्रेगनेंसी को दिक्कत हो सकती है, तो उनके लिए आपको अलग से ट्रीटमेंट लेना होगा.

यह घरेलू उपाय है कोई रामबाण उपाय नहीं है. इसलिए इसके साथ-साथ आपको छोटी-छोटी दूसरी बातों का भी ध्यान रखना होगा .जैसे कि

क्या क्या सावधानियां रखें

  • सुबह जल्दी उठना. शाम को जल्दी सोना जरूरी है.
  • सुबह शाम योगा, व्यायाम करना आवश्यक है. प्राणायाम भी बहुत लाभदायक होता है.
  • अपनी लाइफ स्टाइल को थोड़ा सिंपल बनाएं.
  • लंच डिनर और नाश्ते का समय बिल्कुल फिक्स होना चाहिए. रोजाना एक ही समय पर करें.
  • फास्ट फूड, तेल मिर्च, तला, भुना नहीं खाए तो बहुत अच्छा है. और साथ ही साथ आपको कब्ज बिल्कुल नहीं होना चाहिए. इस बात का ध्यान रखें और कब्ज दवाइयों से ठीक नहीं करके बल्कि आपको अपने भोजन में फाइबर की मात्रा और पौष्टिकता बढ़ाकर ठीक करना है.

काली किशमिश के पानी के साथ आप इन छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखें. दंपत्ति को संतान प्राप्ति से कोई नहीं रोक सकता है. यह प्रयोग स्त्री और पुरुष दोनों करें. क्योंकि पता नहीं है ना की प्रेगनेंसी क्यों नहीं हो रही है. आप इसका प्रयोग करें और अपना एक्सपीरियंस हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें