Header Ads


Pregnancy Care items

प्रेगनेंसी में चुकंदर खाने के 11 फायदे | क्या प्रेगनेंसी के दौरान चुकंदर खाना चाहिए

हम प्रेगनेंसी के दौरान सिकंदर चुकंदर खाने को लेकर चर्चा कर रहे हैं आज हम  चर्चा करेंगे --
क्या प्रेगनेंसी में चुकंदर खाया जाता है. 


चुकंदर की न्यूट्रिशन वैल्यू क्या है .
प्रेगनेंसी में चुकंदर खाने के क्या-क्या लाभ हो सकते हैं.
क्या चुकंदर खाने से बच्चे का रंग काला होता है.




प्रेगनेंसी में चुकंदर खाने के क्या-क्या लाभ हो सकते हैं.

क्या प्रेगनेंसी में चुकंदर खाया जाता है

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि चुकंदर एक काफी पौष्टिक खाद्य पदार्थ है, लेकिन हर पोस्टिक पदार्थ प्रेगनेंसी के दौरान नहीं खाया जा सकता है. ऐसा ही कुछ चुकंदर के साथ भी है, चुकंदर प्रेगनेंसी के दौरान खाया तो जा सकता है, लेकिन एक संयमित मात्रा में ही खाया जा सकता. इसके लिए आप एक कप चुकंदर 1 हफ्ते में खा सकते हैं इससे अधिक नहीं .

या फिर सप्ताह में तीन कप चुकंदर का जूस एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर पीने से काफी फायदा होता है. आप एक दिन छोड़कर एक कप जूस ले सकती है. बाकी और अधिक जानकारी आप अपने डॉक्टर से प्राप्त करें, जो आपकी सेहत के अनुसार आपको इसकी डाइट की सलाह दे सकते हैं.

चर्चा करते हैं प्रेगनेंसी के दौरान चुकंदर खाने के लाभ को लेकर, साथ ही इसकी न्यूट्रिशन वैल्यू पर बात करेंगे जो आपको काफी आकर्षित करेगी.

प्रेगनेंसी में चुकंदर खाने के लाभ

चुकंदर एक काफी पौष्टिक खाद्य पदार्थ है तो उसके लाभ भी काफी अधिक है.

  1. बीट रूट अर्थात चुकंदर के अंदर फोलिक एसिड अच्छी मात्रा में पाया जाता है इस कारण यह है बच्चे के जन्म दोषो को कम करने में काफी मदद करता है.


  2. चुकंदर के अंदर विटामिंस, मैग्नीशियम , बायोफ्लेवोनॉयड अच्छी मात्रा में होते हैं जो कि शरीर के अंदर नेचुरल रूप से हारमोंस की उत्पत्ति के लिए फायदेमंद होते हैं.


  3. चुकंदर का जूस मतली लगना, उल्टी, हेपेटाइटिस में काफी फायदेमंद होता है. एक कप के जूस अंदर आधा नींबू डालकर पीने से इसमें काफी फायदा मिलता है.


  4. चुकंदर विटामिन-ए और विटामिन-ई से भरपूर होता है. गर्भावस्था के दौरान चुकंदर का रस पीने से भ्रूण के विकास में मदद मिलती है.


  5. गैस की समस्या है तो एक कप जूस में में एक चम्मच शहद डालकर पीना चाहिए. यह प्रेग्नेंसी के समय फायदेमंद होगा.


  6. चुकंदर के अंदर पोटेशियम उचित मात्रा में पाया जाता है. यह पोटेशियम इलेक्ट्रोलाइट को संतुलित रखने का कार्य करता है, जो गर्भवती स्त्री के शरीर में रक्तचाप के स्तर अर्थात ब्लड प्रेशर को नार्मल रखने में काफी मदद करता है.


  7. चुकंदर ऐसी पोषक तत्वों का खजाना है, इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होता है, जो शरीर के अंदर प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत रखने में काफी मदद करते हैं इसके कारण संक्रमण से सुरक्षा होती है.


  8. चुकंदर के अंदर anti-inflammatory गुण भी होते हैं जो प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती स्त्री को जोड़ों के दर्द और सूजन से बचाए रखने में काफी मदद करते हैं.


  9. चुकंदर के अंदर पाया जाने वाला सिलिका शरीर को कैल्शियम की उपयोगिता को बढ़ाने में मदद करता है जिससे दांत और हड्डियां मजबूत होती है.


  10. चुकंदर के अंदर उचित मात्रा में फाइबर होता है जो कि हर फल के अंदर होता ही है. यह सब की समस्या को दूर करता है शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है.


  11. रक्त शोधन का कार्य करता है जो प्रेगनेंसी के लिए अत्यधिक आवश्यक है.  

क्या चुकंदर खाने से बच्चे का रंग काला होता है

यह पूर्ण रूप से एक मिथक की है क्योंकि यह ना समझो के दिमाग से उपजा हुआ फॉर्मूला है अक्सर लोगों को लगता है कि चुकंदर का रंग लाल होता है, बच्चा भी डार्क रंग का ही पैदा होगा जैसा कि लोग कहते हैं कि सफेद चीज खाने से बच्चा गोरा होगा बस यही बात है. यह दोनों बात ही मिथक है.

1 comment:

  1. Beetroot is very beneficial in pregnancy!! During my pregnancy, the expert gynaecologist Dr. Neera Gupta has suggested consuming it daily. Thanks and keep updating such blogs.

    ReplyDelete

Powered by Blogger.