२ मंथ लेट पीरियड नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

0
142

२ मंथ लेट पीरियड नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट आ रहा है. ऐसा क्यों होता है, यह समस्या किस परिस्थिति में आती है उस पर चर्चा करते हैं.

अगर कोई दंपत्ति प्रेगनेंसी के लिए कोशिश कर रहा है. जैसे ही महिला के पीरियड मिस होते हैं, तो सबसे पहले यही बात समझ में आती है, कि महिला को प्रेगनेंसी हो गई है.

यह अपने आप में बहुत खुशी का समय एक दंपत्ति के लिए, खासकर एक महिला के लिए होता है.

लेकिन अगर वह प्रेगनेंसी चेक करते हैं और प्रेगनेंसी नेगेटिव आती है.

पीरियड मिस होने के बाद अगर महिला तुरंत प्रेगनेंसी चेक करती है. चाहे वह प्रेगनेंसी घरेलू तरीके से चेक करें या वह प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से प्रेगनेंसी चेक करती है.

शुरुआती समय में ऐसा हो सकता है, कि प्रेगनेंसी होने के बावजूद प्रेगनेंसी नेगेटिव आ रही है.

इसके पीछे बहुत साधारण सा कारण होता है. प्रेगनेंसी चेक यूरिन के माध्यम से की जाती है या ब्लड टेस्ट के माध्यम से प्रेगनेंसी चेक होती है.

लेकिन यूरिन के माध्यम से प्रेगनेंसी चेक करना आम बात है. इस विधि से प्रेगनेंसी घर पर भी बड़ी आसानी से महिला चेक कर लेती है.

२ मंथ लेट पीरियड नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

२ मंथ लेट पीरियड नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

कभी-कभी शुरुआती समय में महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हार्मोन इतनी मात्रा में नहीं आ पाता है, कि प्रेगनेंसी रिजल्ट आ पाए.

हालांकि प्रेगनेंसी होती है, लेकिन प्रेगनेंसी हारमोंस की मात्रा महिला के शरीर में या यूरिन में कम होने की वजह से प्रेगनेंसी टेस्ट नेगेटिव आ जाता है.

यह एक आम बात है. इसके लिए कुछ दिन का इंतजार करके दोबारा से प्रेगनेंसी चेक करनी होती है, तो रिजल्ट पॉजिटिव आ जाता है.

कभी-कभी महिला इस बात के लिए कंफर्म होती है, कि उसके पीरियड मिस हो गए हैं, और वह प्रेगनेंसी के लिए कोशिश कर रही थी. इसलिए प्रेगनेंसी हो गई है. वह 2 महीने की प्रेगनेंसी हो जाने के बाद अपनी प्रेगनेंसी चेक करती है, तो वह पाती है कि प्रेगनेंसी नेगेटिव आ रही है. अर्थात पीरियड मिस हो गए हैं और प्रेगनेंसी नेगेटिव है.

कभी-कभी महिला प्रेगनेंसी के दृष्टिकोण से डॉक्टर की सलाह लेने पहली विजिट डॉक्टर के यहां करती है और जब डॉक्टर प्रेगनेंसी चेक करती है, तो प्रेगनेंसी नेगेटिव आ जाती है.

यह एक आम समस्या है. आजकल यह समस्या काफी ज्यादा आ रही है. इसके पीछे के कारण को समझना बहुत आवश्यक है.

सबसे पहले तो महिला को यह समझना होगा कि पीरियड मिस होने का मतलब हमेशा प्रेगनेंसी नहीं होता है. पीरियड मिस होना दूसरे कारणों की वजह से भी होता है. हालांकि यह बात उतनी ही सत्य है, कि अगर महिला को प्रेगनेंसी हो गई है तो महिला के पीरियड मिस हो जाते हैं. लेकिन पीरियड मिस हो गए हैं तो यह जरूरी नहीं कि महिला गर्भवती हो.



२ मंथ लेट पीरियड नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट – कारण

2 मंथ लेट पीरियड, नेगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट आने के कुछ विशेष कारण हो सकते हैं जो इस प्रकार से हैं —

प्रेगनेंसी होने पर

जैसा कि आपको लग रहा है कि पीरियड मिस हो गए हैं तो प्रेगनेंसी होनी चाहिए थी. यह सत्य है, कि प्रेगनेंसी होने पर पीरियड मिस हो जाते हैं.

एनीमिया के कारण

अगर महिला के शरीर में खून की कमी होती है तो इस कारण से भी कभी-कभी पीरियड मिस हो जाते हैं.

थायराइड की समस्या

अगर महिला को थायराइड की समस्या है तो इसकी वजह से भी 2 से 3 महीने तक पीरियड मिस हो जाते हैं क्या कह सकते हैं कि पीरियड अनियमित हो जाते हैं.

प्रजनन तंत्र से संबंधित हारमोंस का बैलेंस ना होना

महिला के शरीर में प्रजनन तंत्र से संबंधित काफी सारे हारमोंस होते हैं, जो प्रजनन तंत्र की सारी गतिविधियों को मैनेज करते हैं. अगर इन हार्मोन की मात्रा में उतार-चढ़ाव आता है, तो इस वजह से महिला के पीरियड मिस होना अत्यधिक सामान्य है.
आजकल महिला को पीरियड मिस होने का यह सबसे प्रमुख कारण है.

शरीर में पोषण की कमी

महिला के शरीर में अगर पोषण की कमी हो जाती है तो इस वजह से भी इस प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है जैसे कि महिला अधिकतर फास्ट फूड पर निर्भर रहती है तो यह समस्या होना बहुत कॉमन है.

अनियमित लाइफस्टाइल

जैसे कि महिला के ना सोने का समय निश्चित है, ना खाना खाने का समय निश्चित है. शारीरिक एक्टिविटी ना के बराबर है. ऐसे में पीरियड मिस होने जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

अत्यधिक शारीरिक मेहनत

बहुत सी महिलाएं अत्यधिक शारीरिक मेहनत करती हैं जैसे कि
वह घर का काम करती हैं
मेहनत मजदूरी करती हैं
कुछ महिलाएं एथलीट होती हैं इस वजह से वह अत्यधिक शारीरिक मेहनत करती हैं जैसे कि
साइकलिंग
वेटलिफ्टिंग
फुटबॉल
वॉलीबॉल
रेस इत्यादि इन महिलाओं के पीरियड मिस होना भी सामान्य बात है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें