जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए | सेब का सिरका

0
95

जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए इसके लिए कोई विशेष मेडिसिन या घरेलू उपाय नहीं है. अपने भोजन की गुणवत्ता को बढ़ाकर हम यह कार्य आसानी से कर सकते हैं. कुछ भोज्य पदार्थ ऐसे होते हैं, जो प्रेगनेंसी के लिए हेल्प करते हैं. आज हम इसी संबंध में बात कर रहे हैं. एक घरेलू उपाय आपसे शेयर करेंगे.

हम प्रेगनेंसी कंसीव करने को लेकर 1 घरेलू नुस्खा लेकर आए हैं. जिसकी सहायता से आप प्रेगनेंसी कंसीव कर सकते हैं. कई बार क्या होता है, कि पुरुष और महिला अपना चेकअप कराते हैं, तो उनकी सभी रिपोर्ट नॉर्मल आती है.. प्रेगनेंसी क्यों नहीं हो रही होती है इस संबंध में पता नहीं चलता है.

तो ऐसी अवस्था में कुछ नेचुरल तरीके हैं जिनको अपनाया जाए तो प्रेगनेंसी बड़े आराम से कंसीव हो जाती है. चर्चा करते हैं कि वह कौन सा तरीका है जिससे महिला यह क्या 3 महीने में गर्भवती हो सकती है.

अगर आपने प्रेगनेंसी के लिए कोई चेकअप नहीं कराया है और आपके यहां प्रेगनेंसी नहीं हो रही है तो भी आप इस तरीके को अपना सकते हैं. 

जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए | सेब का सिरका

जब महिला थोड़ा कोशिश करने के बाद प्रेगनेंसी कंसीव नहीं कर पाती है, तो सबसे पहला प्रश्न यही होता है कि जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए. इससे पहले आपको इस विषय में जानना चाहिए, कि प्रेगनेंसी नहीं होने के क्या मुख्य कारण होते हैं.

प्रेगनेंसी नहीं होने के दो ही मुख्य कारण होते हैं.
महिला के शरीर में अंडे कमजोर है, उनकी जीवन ऊर्जा कम है, या फिर महिला के शरीर में प्रेगनेंसी को प्रोसेस करने के लिए जो प्रजनन तंत्र है.
उनके अंगों में कुछ कमी हो सकती है.
कोई रोग हो सकता है.
हारमोंस बैलेंस नहीं होते हैं. 

अगर हारमोंस बैलेंस नहीं होते तो अंडे की जीवन ऊर्जा कम होती है और Ovulation पीरियड समय पर नहीं होता है.

पुरुषों के साथ यह समस्या होती है कि
उनका स्पर्म काउंट कम हो सकता है और
स्पर्म कमजोर हो सकता है.

जल्दी प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाना चाहिए- सेब के सिरके

पुरुष या महिला या दोनों ही अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए सेब के सिरके का इस्तेमाल कर सकते हैं. बस आपको इस बात का ध्यान रखना है कि सेब का सिरका फिल्टर्ड नहीं होना चाहिए.

 क्योंकि फिल्टर्ड सिरके के अंदर टेस्ट को ऐड कर दिया जाता है. जिससे वह स्वादिष्ट लगे. दूसरे प्रकार के केमिकल्स उसको लंबे समय तक चलाने के लिए और उसकी क्वालिटी को बढ़ाने के लिए बल्कि क्वालिटी नहीं कहेंगे, उसके उपयोग का समय बढ़ाने के लिए मिला दिए जाते हैं.

इससे उसका जो नेचुरल औषधीय गुण हैं वह नष्ट हो जाता है. आपको किसी भी पंसारी के यहां या किसी आयुर्वेदिक मेडिसिन विक्रेता के यहां सेब का अनफिल्टर्ड और रो, नेचुरल सेव का सिरका बड़ी आसानी से मिल जाता है. काफी सारी कंपनियां इसे बनाती है.

सेब के सिरके के बहुत सारे औषधीय फायदे होते हैं शरीर की विभिन्न समस्याओं में यह औषधि की तरह कार्य करता है, लेकिन हमें प्रेगनेंसी से संबंधित समस्या में ही इसका प्रयोग बता रहे हैं, तो हम आपको बता दें, कि यह महिला के शरीर में अंडे की क्वालिटी को सुधारता है. महिला के ओवुलेशन पीरियड को सही करता है. और पुरुष के स्पर्म की क्वालिटी को इंप्रूव करता है, उसे बढ़ाता है.

किसी भी आयुर्वेदिक औषधि का असर शरीर के अंदर 30 से 40 दिन के अंदर आता है, तो यह 3 महीने के अंदर अपना असर दिखाएगा.

सेब का सिरका भोजन में कैसे शामिल करें, कब ले, कितना ले.

इस बात का ध्यान रखें कि आपको यह खाली पेट नहीं लेना है. आप नाश्ते के 40 मिनट के बाद किसी भी समय और लंच से एक घंटा पहले ले सकते हैं. यह सबसे उत्तम समय रहता है. 

इसे लेने के बाद आप आधा घंटा कम से कम कुछ नहीं खाएं. जिससे शरीर में सही तरीके से पचने दें. जहां तक इसकी मात्रा का सवाल है तो आप लगभग सामान्य तीन चम्मच सिरका एक बार में ले सकते हैं.
अगर आपको कुछ साइड इफेक्ट नजर आ रहे हैं, तो इसकी मात्रा घटाकर 2 चम्मच कर सकते हैं.

इसे लेने का तरीका अत्यधिक आसान है. एक गिलास ताजे पानी में दो से तीन चम्मच सेब का सिरका मिलाकर इसका प्रयोग करें. इसका स्वाद थोड़ा सा तीखा होता है. अच्छा नहीं होता है. इस बात का भी ध्यान रखें.

बहुत से लोगों का प्रश्न होगा कि  प्रेगनेंसी नहीं होने के कौन कौन से कारण में यह प्रभावशाली है..

  • अगर किसी महिला के शरीर में गर्भाशय ही नहीं है, तो यह कैसे काम करेगा या महिला का गर्भाशय नेचुरल रूप से छोटा है. तब भी यह काम नहीं करेगा अगर फैलोपियन ट्यूब महिला की बंद है, तो फिर यह कैसे काम कर सकता है. क्योंकि प्रेगनेंसी की प्रोसेस ही रुक गई है.
  • 80 से 85% लोग सिर्फ इसलिए कंसीव नहीं कर पाते हैं क्योंकि उनके इस स्पर्म और अंडे की क्वालिटी खराब होती है. दंपत्ति की इम्युनिटी कमजोर होती है. शरीर में प्रेगनेंसी के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की कमी होती है. 

अगर किसी भी कारण से महिला या पुरुष की प्रजनन क्षमता कमजोर हुई है, तो यह प्रजनन क्षमता को बढ़ाने का कार्य करेगा. यह कहां कार्य नहीं करेगा वह भी समझ लेते हैं.

  • उदाहरण के लिए अगर महिला को थायराइड की समस्या होती है तो प्रेगनेंसी नहीं होती है. क्योंकि यह हार्मोन से संबंधित समस्या है. अगर आप apple विनेगर का इस्तेमाल करेंगे तो आपको प्रेगनेंसी हो जाएगी. इसमें कोई समस्या नहीं है. लेकिन थायराइड की समस्या को यह ठीक नहीं करेगा और आगे चलकर थायराइड की समस्या की वजह से महिला को मिसकैरेज हो सकता है. यह दूसरी समस्या है.
  • अगर महिला को पीसीओडी की समस्या है या गर्भाशय में कोई शिष्ट है, गांठ है तो आगे चलकर प्रेगनेंसी में समस्या हो सकती है. यह दूसरी समस्या है. आपको इन समस्याओं का भी इलाज लेना होगा. इसका प्रेगनेंसी से कोई संबंध नहीं.

साथ ही साथ आपको छोटे-छोटे दूसरे काम भी करने हैं.

  • दंपत्ति अपने भोजन की पौष्टिकता को बढ़ाएं.
  • सूखे मेवे और बीजों को अपने भोजन में शामिल करें जैसे भी वह अपने अनुसार करते हैं वैसा करें.
  • दाल और हरी सब्जी भी अपने भोजन में शामिल करें फास्ट फूड तला भुना भोजन नहीं करें.
  • प्राणायाम और योगा को भी कुछ दिनों तक अपनी लाइफ स्टाइल में शामिल करें.
  • सुबह जल्दी उठे रात को जल्दी सोए अपने लंच डिनर और नाश्ते के समय को थोड़ा निश्चित करें यह भी अत्यधिक आवश्यक है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें