प्रेगनेंसी का 18 वां हफ्ता| Know about 18th weeks of pregnancy

0
30

यह प्रेगनेंसी का 18 वां हफ्ता बहुत से गर्भवती महिलाओं के लिए काफी सुखद अनुभव लिए हुए हो सकता है
आज हम चर्चा करेंगे —

महिलाओं को किस प्रकार के लक्षण और शारीरिक परिवर्तन  नजर आते हैं.
बच्चे का विकास और
कुछ आवश्यक जरूरी सलाह

प्रेगनेंसी का 18 वां हफ्ता – लक्षण और शारीरिक परिवर्तन

प्रेगनेंसी के 18 वें हफ्ते में महिला का वजन काफी तेज गति से बढ़ रहा है. और इस हफ्ते महिलाओं को अपने बच्चे की पहली हलचल महसूस हो सकती है, जो अपने आप में काफी अविस्मरणीय पर किसी भी महिला के लिए हो सकता है.

  • इस हफ्ते तक आते-आते बहुत सारी महिलाओं के पेट के दोनों और स्ट्रेच मार्क्स नजर आने लगते हैं, जो की त्वचा में खिंचाव के कारण नजर आते हैं. इसके लिए महिला अपने डॉक्टर से सलाह करके स्ट्रेच मार्क्स रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल कर सकती है.
  • इस हफ्ते आपको खराटे आने की समस्या से दो-चार होना पड़ सकता है.
  • इस हफ्ते भी आपको भोजन करने के बाद थोड़ी सी असहजता महसूस हो सकती है. यह इसी कारण होता है, की मांसपेशियां मुलायम हो जाती हैं. और भोजन पचाने में कठिनाई का अनुभव होता है. इसलिए यह असहजता नजर आती है. और यह आपको लंबे समय तक रह सकती है.
  • महिला के प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने के कारण महिला को जुकाम जैसी समस्या हो सकती है. इसके लिए अपने आप से दवाई बिल्कुल भी ना लें.
  • इस दौरान महिला के शरीर में ब्लड का प्रेशर काफी ज्यादा रहता है. ऐसे में नाक से खून आने की समस्या नजर आ सकती है.
  • सीने में जलन, अपाचे, कब्ज की समस्या इस हफ्ते भी , पिछले हफ्तों की तरह नजर आएगी.
  • अब महिलाओं के हाथ पैरों में सूजन की समस्या नजर आने लगेगी. आप हाथ पैरों को ज्यादा देर लटका कर नहीं बैठे. थोड़ी थोड़ी देर बाद अपनी स्थिति को परिवर्तित करते रहें.
  • धीरे धीरे आपका गर्भाशय बढ़ रहा है. उसका प्रेशर मूत्राशय पर आने लगा है. अब आप को फिर से बार बार पेशाब जाने की इच्छा होने लगेगी और यह आने वाले हफ्तों में बढ़ेगा.
प्रेगनेंसी का 18 वां हफ्ता
FEATURED

प्रेगनेंसी वाले तकिए

  • 50+ डिजाइन / रंग
  • प्रेगनेंसी में आराम के लिए महत्वपूर्ण
  • होम डिलीवरी
  • प्रोडक्ट के विषय में यूज़र के रिव्यु

प्रेगनेंसी के 18 वें हफ्ते में शिशु का विकास

  • आपके शिशु की लंबाई सिर से लेकर नितंब तक 5.6 इंच की हो गई है. लगभग 14.2 सेंटीमीटर अब इसकी लंबाई है.
  • इसका वजन 190 ग्राम तक हो गया है, थोड़ा सा ऊपर नीचे हो सकता है.
  • अब उसके कान जो है, वह सही स्थान पर दिखाई पड़ रहे हैं.
  • सिर से अलग नजर आते हैं.  शिशु की नन्ही नन्ही भौहें उभरने लगी है. अभी तक उसकी आंखें बंद ही है, लेकिन वह बंद आंखों में ही अपनी आंखें इधर-उधर घूम आता है.
  • अब वह इतनी हलचल कर सकता है, कि आपको महसूस देगा. यह आपके लिए अद्भुत एहसास होगा. इस दौरान आपका एक अल्ट्रासाउंड होगा जिसे एनामली स्कैन भी कहा जाता है. अल्ट्रासाउंड के माध्यम से आप बच्चे के हाथ पैर हिलते दुलते देख पाएंगे, उसे पलटी मारते भी देख सकते हैं. यह स्कैन आपके शिशु के विकास का एनालिसिस करेगा .अगर कुछ समस्या नजर आती है, तो समय रहते उसका इलाज संभव हो जाएगा.
  • यह स्कैन आपके शिशु के विकास का पूरा एनालिसिस करने के लिए होता है. इसके द्वारा आप बच्चे के लिंग का भी पता लगा सकते हैं. लेकिन यह कानूनन जुर्म है. तो डॉक्टर आप को नहीं बताएंगे और बताना भी नहीं चाहिए.
  • इस वक्त शिशु अपने सभी अंगों को मजबूत कर रहा है, और उनमें जो भी थोड़ी बहुत कमी है. उनका विकास लगातार हो रहा है. शिशु की हड्डियों का ढांचा बन चुका है, और वह अब उसे मजबूत कर रहा है.
  • धीरे-धीरे शिशु का आकार बढ़ रहा है अब आपको सीधे लेट कर सोने के बजाय करवट लेकर सोना शुरू कर देना चाहिए अन्यथा आपकी नींद ठीक ढंग से पूरी नहीं होगी आपको आराम नहीं मिलेगा.
  • हाथ पैर लटकाकर अधिक देर तक आपको नहीं बैठना है. अपनी स्थिति परिवर्तित करते रहना है.
  • आपके और आपके शिशु दोनों के लिए नुकसानदायक है. इससे बचे, खुश रहने की कोशिश करें.
  • जो कार्य आप आसानी से कर सकते हैं धीरे-धीरे करें.
  • हल्के और ढीले कपड़े पहने.
  • अपने खानपान में बिल्कुल भी ढिलाई बरतने की जरूरत नहीं है. आपको फास्ट फूड खाने से बचना है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें