अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम | अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है

0
3427

गर्भपात के लिए अनवांटेड किट खाने के साथ-साथ इस बात का भी ज्ञान होना चाहिए, अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम क्या है. कितने समय में यह मेडिसन अपना कार्य शुरू कर देती है .
यह जानना इसलिए भी जरूरी है, ताकि इस बात का पता रहे कि जो हम ट्रीटमेंट ले रहे हैं. वह सही दिशा में जा रहा है या नहीं जा रहा है.

दंपत्ति गर्भपात की ओर क्यों जाते हैं

किसी भी महिला के लिए प्रेगनेंसी एक बहुत बड़ा कार्य होता है और प्रेगनेंसी हो जाने पर किसी भी महिला की लाइफ 180 अंश बदल जाती है इसलिए अपनी वर्तमान लाइफस्टाइल को एकदम से चेंज करके प्रेगनेंसी को एक्सेप्ट करना हर एक महिला के लिए बिल्कुल भी संभव नहीं होता है प्रेगनेंसी एक ऐसी चीज है जिसके लिए काफी प्लानिंग की आवश्यकता होती है.

प्रेगनेंसी कंप्लीट होने के बाद घर पर एक मेंबर बढ़ जाता है और अगले 5 से 10 साल तक उसकी विशेष रुप से देखभाल करने की भी आवश्यकता होती है.

अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है | अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम

सामाजिक मान्यता के अनुसार महिला की ही है जिम्मेदारी होती है कि वह शिशु को पाल पोस कर बड़ा करें. इसलिए कभी-कभी ऐसी परिस्थिति होती है कि महिला प्रेगनेंसी को एक्सेप्ट नहीं कर पाने की स्थिति में होती है. इसलिए वह गर्भपात की ओर जाना पसंद करती हैं.

इसके अलावा और भी बहुत सारे दूसरे के कारण होते हैं जिसकी वजह से गर्भपात की आवश्यकता हो जाती है.

गर्भपात के लिए अनवांटेड किट कब सबसे उचित

प्रेगनेंसी हो जाने पर अनवांटेड किट के द्वारा गर्भपात कराने लगा कराना यह एक सबसे अधिक प्रयोग में लाया जाने वाला तरीका है. इसके माध्यम से घर पर ही महिला गर्भपात की क्रियाविधि को पूर्ण कर सकती है.
हालांकि यह 1 महीने 15 दिन तक की प्रेगनेंसी के लिए ही उचित रहता है.

कई बार महिलाएं इतना डर जाती है कि वह चाहती हैं कि उनका गर्भपात जल्दी से जल्दी हो जाए और इस वजह से वह यह जानना चाहती है कि अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है.

अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम

लगभग हर एक अनवांटेड किट ब्लीडिंग टाइम, इसका प्रयोग करने के 12 घंटे से लेकर 48 घंटे के बीच में होता है. इस बीच में महिला को पीरियड आ जाते हैं. अर्थात ब्लडिंग हो जाती है.

इस किट का प्रयोग करने से पहले आप इस बात के लिए आवश्यक कंफर्म हो जाए, आप वास्तव में गर्भवती है. क्योंकि कभी-कभी पीरियड मिस होना दूसरे कारणों की वजह से भी होता है.

अनवांटेड किट का प्रयोग असुरक्षित रूप से संबंध बनाने के बाद 72 घंटे के अंदर भी किया जाता है. इस मेडिसन के तत्व और इसके कार्य करने का तरीका अलग होता है. यह मेडिसन प्रेगनेंसी को रोकने के लिए काम में आती है. जिसे अनवांटेड 72 के नाम से जाना जाता है. प्रेगनेंसी को रोकने के लिए ली गई मेडिसन से ब्लडिंग तुरंत नहीं होती है. बस अपने समय से कुछ समय पहले हो सकती है या अपने समय पर होती है.
अगर प्रेगनेंसी की संभावना बन रही होती है तो यह अनवांटेड 72 टेबलेट या इस जैसी दूसरी टेबलेट प्रेगनेंसी को अवरुद्ध कर देती है. प्रेगनेंसी नहीं होती है.
यहां हम चिकित्सीय गर्भपात के लिए प्रयोग होने वाली अनवांटेड मेडिसन किट के विषय में बात कर रहे हैं जो कई कंपनियों द्वारा अलग-अलग नाम से बनाई जाती है.

अनवांटेड किट कैसे काम करता है

गर्भपात के लिए अनवांटेड किट दो प्रकार की मेडिसन का कॉन्बिनेशन होता है. जिनके दो अलग-अलग कार्य होते हैं. इस वजह से महिलाओं को गर्भपात हो जाता है.

मिसोप्रोस्टोल और  मिफेप्रिस्टोन नाम की दो दवाएं होती है.

मिफेप्रिस्टोन
महिला के शरीर में गर्मी पैदा करके संकुचन पैदा करने का कार्य करती है जिस वजह से गर्भपात के लिए शरीर उत्तेजित हो जाता है.

मिसोप्रोस्टोल का कार्य हार्मोन को नियंत्रित करना होता है. प्रेगनेंसी को सुरक्षित रखने और आगे बढ़ाने का कार्य प्रमुख रूप से महिला के शरीर में हारमोंस करते हैं. जिसमें प्रोजेस्ट्रोन हारमोंस बहुत प्रमुख होता है.

यह महिला के शरीर में होने वाले गर्भपात को रोकने के लिए जिम्मेदार होता है. अगर इसकी मात्रा कम हो जाती है तो महिला को गर्भपात हो जाता है.

यह मेडिसन प्रोजेस्ट्रोन की मात्रा को नियंत्रित करती है, और गर्भपात को उत्तेजित करती है. जिसके कारण गर्भपात की परिस्थिति बन जाती है और संकुचन की वजह से गर्भपात हो जाता है.

इसका प्रयोग करने से अलग-अलग महिलाओं को अलग-अलग प्रकार के लक्षण प्रकट हो सकते हैं, जो काफी तीव्र होते हैं. जैसे कि —

  • महिला को पेट में तेज मरोड़ या दर्द के महसूस हो सकता है.
  • कई बार महिलाओं को उल्टी मतली जैसी समस्याएं नजर आती है.
  • और भी दूसरे प्रकार के लक्षण नजर आते हैं.

महिला को 48 घंटे के अंदर अंदर ब्लडिंग चालू हो जाती है और गर्भपात की प्रोसेस शुरू हो जाती है.
कुछ बातें आपको पता होनी चाहिए.

यह जबर्दस्ती गर्भपात कराने जैसा होता है और जबर्दस्ती गर्भपात कराने से महिला के शरीर को काफी नुकसान होता है कभी-कभी अधिक बार इसका प्रयोग करने से महिला के मां बनने की क्षमता प्रभावित हो जाती है.

महिला के हार्मोन डिसबैलेंस हो सकते हैं. महिला के पीरियड अनियमित होने का डर रहता है. यह अपने आप में काफी बड़ी प्रॉब्लम है

शरीर में और भी दूसरे प्रकार की कमियां धीरे-धीरे आने लगती हैं.

FEATURED

Pregnancy Test Kits
10+ Brands

  • buy More then one
  • no hesitation
  • branded
  • customer reviews
  • home delivery

निष्कर्ष

गर्भपात में इस प्रकार की टेबलेट प्रयोग करने से अच्छा है कि आप पहले ही सावधानी रखें. आपको प्रेगनेंसी नहीं होनी चाहिए.
इस प्रकार की टेबलेट का प्रयोग करने से आप हमेशा बचे. यह शारीरिक स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से सही नहीं है.
लेकिन अगर प्रेगनेंसी हो गई है, और उसे आप आगे नहीं ले जा सकते हैं तो इससे अच्छा दूसरा ऑप्शन भी नहीं होता है.

आपके प्रश्न

Q. अनवांटेड किट का असर कितने दिन तक रहता है?

गर्भपात किट की गोली का असर शरीर पर कितने दिन रहता है, यह अलग-अलग फैक्टर पर निर्भर करता है, जैसे कि —
किट के अंदर कौनसी दवा दी गई है,क्योंकि इसके लिए हर कंपनी अलग-अलग प्रकार के साल्ट प्रयोग में लाती है. महिला के शारीरिक स्वास्थ्य पर, और गर्भ कितने हफ्तों का है.

इसके अलावा, कितने समय तक किट का असर बना रहता है, इसमें महिला के शारीरिक प्रतिरोध पर भी निर्भर करता है. जिस महिला का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है उसे कम प्रभाव नजर आता है.

सामान्यत: गर्भपात किट की गोलियाँ का असर आमतौर पर कुछ दिनों तक बना रहता है, लेकिन यह लेकिन यह हर एक महिला के लिए अलग-अलग होता है.
आपको इस सवाल के लिए अपने चिकित्सक या गर्भपात सेंटर से सही और व्यक्तिगत सलाह प्राप्त करना चाहिए, क्योंकि वे आपकी विशेष परिस्थितियों के आधार पर इसका विवेचन कर सकते हैं और सही मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं.

Q. अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन तक ब्लीडिंग होती है?

अनवांटेड किट का सही तरीके से उपयोग करने के बाद, ब्लीडिंग की अवधि व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य, उम्र, और अन्य फैक्टर्स पर निर्भर करती है। आमतौर पर, अनवांटेड किट का प्रयोग करने के बाद कुछ दिनों तक ब्लीडिंग हो सकती है, जिसे पीरियड्स के रूप में समझा जा सकता है।

ब्लीडिंग की अवधि क्या हो सकती है, यह निम्नलिखित कारणों पर निर्भर करती है:

  1. कुछ महिलाओं को आवश्यकता से अधिक ब्लडिंग भी होती है, और कुछ महिलाओं को काफी कम ब्लीडिंग होती है. कुछ महिलाओं को सामान्य ब्लीडिंग होती है. यह महिलाओं के शरीर पर निर्भर करता है.
  2. गर्भपात से संबंधित मेडिसिन लेने पर महिला के पीरियड का समय बदल जाता है.

सामान्यता महिलाओं को 8 से 10 दिन तक ब्लीडिंग होती है, लेकिन कुछ महिलाओं को 15 दिन तक और कुछ महिलाओं को 30 दिन तक भी यह समस्या नजर आती है.

अगर 15 दिन से ऊपर आपको ब्लडिंग की समस्या हो रही है तो एक बार डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें.

गर्भपात जितने अधिक दिन का होता है. ब्लडिंग की समस्या उतने अधिक दिन तक रहती है. ऐसा देखने में आया है.

Q. अनवांटेड 21 खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है?

यह एक गर्भनिरोधक दवा है यह 21 या 28 के पैकेट में आती है. इसका प्रयोग रोज किया जाता है. यह गर्भपात के लिए प्रयोग में नहीं लाई जाती है. इसका प्रयोग करने से पीरियड अपने समय पर ही आते हैं, और प्रेगनेंसी नहीं होती है. चाहे आप असुरक्षित तरीके से ही संबंध क्यों ना बना रहे हो.

Q. अनवांटेड किट खाने के कितने दिन बाद ब्लीडिंग होती है?

अगर आप अनवांटेड किट गर्भपात के उद्देश्य से ले रहे हो तो 12 से 48 घंटे के अंदर आपको ब्लडिंग हो जाती है. आप इसे पीरियड मान सकते हैं.

Q. अनवांटेड किट कितने दिन तक काम करती है?

अनवांटेड किट गर्भपात के लिए प्रयोग में लाई जाती है. एक बार प्रेगनेंसी होने पर जब गर्भपात हो जाता है तो दोबारा पीरियड शुरू हो जाने के बाद महिला कभी भी गर्भवती हो सकती है.

यह अनवांटेड किट मात्र एक बार गर्भपात के लिए एक प्रयोग लाई जाती है. प्रेगनेंसी होने या नहीं होने से इसका कोई संबंध नहीं है.

Q. अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए?

अनवांटेड किट खाने के बाद कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए. ज्यादातर यह है इस बात पर निर्भर करता है कि आपने किस प्रकार की दवाई का प्रयोग किया है. कुछ अनवांटेड प्रेगनेंसी किट 1 हफ्ते के बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करने का परामर्श देती है.

लेकिन यह बहुत हद तक महिला के शरीर पर भी निर्भर करता है. अगर ब्लीडिंग आपको एक हफ्ते तक हो जाती है तो शरीर से इतने समय में प्रेगनेंसी हारमोंस काफी हद तक कम हो जाने चाहिए.

लेकिन कभी-कभी इन्हें कम होने में 10 से 15 दिन का समय भी लग जाता है जो कि महिला की अपनी व्यक्तिगत स्थितियों पर निर्भर करता है.

अगर 10 दिन के बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करने पर आपको प्रेगनेंसी पॉजिटिव नजर आती है, लेकिन गर्भपात की स्थिति स्पष्ट है तो आप 15 दिन के बाद फिर से चेक कर सकते हैं.

Q. अनवांटेड किट खाने के बाद क्या होता है?

अनवांटेड किट एक प्रकार की दवा है जिसका उपयोग गर्भपात के लिए किया जाता है. यह दवा दो अलग-अलग दवाओं से बनी होती है: मिफेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल. मिफेप्रिस्टोन गर्भाशय में भ्रूण के विकास को रोकता है, जबकि मिसोप्रोस्टोल गर्भाशय में संकुचन पैदा करता है और गर्भाशय से भ्रूण को बाहर निकालने में मदद करता है.

अनवांटेड किट लेने के बाद, आपको मतली, उल्टी, दस्त, और पेट में दर्द जैसे कुछ साइड इफेक्ट्स का अनुभव हो सकता है. इनमें से अधिकांश साइड इफेक्ट्स हल्के होते हैं और कुछ दिनों में दूर हो जाते हैं. हालांकि, अगर आप गंभीर साइड इफेक्ट्स का अनुभव करते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.

अनवांटेड किट लेने के बाद, आपको लगभग 24 घंटों के भीतर रक्तस्राव शुरू हो जाएगा. यह रक्तस्राव मासिक धर्म के रक्तस्राव की तरह होगा, लेकिन यह अधिक भारी और दर्दनाक हो सकता है. रक्तस्राव आमतौर पर 1-2 सप्ताह तक रहता है.

Q. अनवांटेड 72 खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है

अनवांटेड 72 गर्भनिरोधक गोली है. जिसे असुरक्षित यौन संबंध के बाद 72 घंटों के अंदर लेना होता है. जिससे प्रेगनेंसी की प्रोसेस बाधित हो जाती है.

इसका पीरियड आने से कोई खास संबंध नहीं है. महिला को पीरियड अपने समय पर आते हैं.

अगर 40 दिन तक पीरियड नहीं आए हैं तो डॉक्टर से सलाह लें. क्योंकि कभी-कभी अनवांटेड 72 जैसी मेडिसिंस हारमोंस को प्रभावित कर देती है. जिसकी वजह से पीरियड्स नहीं आते हैं. अगर इस टेबलेट ने काम नहीं किया है तो आप गर्भवती भी हो सकती हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें