गर्भावस्था के दौरान पसीना | पसीने से छुटकारा कैसे पाएं

0
146

गर्मियों के दौरान अगर महिला गर्भवती है तो उसे पसीना अधिक क्यों होता है. इसके क्या क्या कारण हो सकते हैं, और दूसरी बातों पर चर्चा करने वाले हैं.
आज के टॉपिक हैं
क्या गर्भावस्था के शुरुआती समय में पसीना आना गर्भावस्था का लक्षण माना जाता है. गर्भावस्था के दौरान पसीना आने के क्या-क्या कारण होते हैं. गर्भावस्था के दौरान महिला ज्यादा पसीना आना कब महसूस करती है. गर्भावस्था में रात के समय पसीना आना क्या होता है. अधिक पसीना आने से छुटकारा किस प्रकार से पानी की कोशिश करें. अधिक पसीना आने की किस स्थिति में डॉक्टर से मिले. 
आदि विषयों पर बात करेंगे —

गर्भावस्था के दौरान पसीना  | पसीने से छुटकारा कैसे पाएं
 

क्या पसीना आना गर्भावस्था का लक्षण है

गर्भावस्था के शुरुआती समय में काफी सारे लक्षण नजर आते हैं. जैसे कि अत्यधिक थकान होना, मूड बदलना, स्तनों में कोमलता, मॉर्निंग सिकनेस, उल्टी जैसा अनुभव होना उसी प्रकार से गर्मी लगना और पसीने से तरबतर हो जाना, प्रेगनेंसी का शुरुआती लक्षण माना जा सकता है. यह यह हार्मोन बदलाव के कारण होता है.

गर्भावस्था के दौरान पसीना आने के क्या-क्या कारण होते हैं

प्रेगनेंसी के दौरान अधिक पसीना आने के कुछ कारण होते हैं वैसे तो हर एक महिला के साथ यह समस्या नजर नहीं आती है. लेकिन जिन महिलाओं के साथ यह समस्या नजर आती है. उनमें इसके कुछ कारण होते हैं.

हारमोंस बदलाव

प्रेगनेंसी के प्रोजेस्टेरोन हार्मोन की अधिकता हो जाती है, जिसके शरीर का तापमान भी बढ़ जाता है, और अधिक तापमान को कंट्रोल करने के लिए पसीना आता है.

इंफेक्शन या रोग

प्रेगनेंसी के दौरान महिला की प्रतिरोधक क्षमता थोड़ा कमजोर हो जाती है. जिसकी वजह से इंफेक्शन या दूसरे प्रकार के रोग होने की संभावना ज्यादा होती है. ऐसी अवस्था में पसीने की समस्या बढ़ सकती है.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान कब्ज की समस्या

इन्हें भी पढ़ें : गर्भपात होने के 10 बड़े कारण

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में सिर दर्द होने के 9 बड़े कारण

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में सिर दर्द के 23 घरेलू उपाय

तनाव

अक्सर महिलाओं को हार्मोन परिवर्तन की वजह से तनाव की समस्या हो जाती है. तनाव में शरीर की गतिविधि काफी ज्यादा बढ़ जाती है. जिसकी वजह से तापमान बढ़ने की संभावना रहती है, और पसीना अधिक आता है.

कुछ दवाएं

कभी-कभी प्रेगनेंसी के दौरान साइड इफेक्ट काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं. जिसकी मेडिसन चलानी पड़ती है. अगर यह दवाई गरम प्रकृति की होती है, तो अधिक पसीना आने की समस्या नजर आ सकती है.

थायराइड के कारण

जिन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान थायराइड की समस्या से दो-चार होना पड़ता है. उन्हें अधिक पसीना आने की समस्या हो सकती है.

मसालेदार भोजन

अगर महिला के भोजन में गर्म प्रकृति का भोजन अधिक है, जैसे कि मसालेदार या फास्ट फूड यह भी काफी नुकसानदायक होते हैं, और अधिक पसीना लाने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं.

गर्भावस्था में अधिक पसीना क्यों आता है

असल में शरीर एक नई जिंदगी को अपने यहां पाल रहा होता है. जिसकी वजह से उसे अत्यधिक ऊर्जा की और अत्यधिक परिश्रम की आवश्यकता होती है. फलस्वरूप शरीर में गर्मी पैदा होती है, और फिर शरीर को इस गर्मी को शांत करने के लिए अनैच्छिक तौर पर पसीना छोड़ना पड़ता है.

रात को अधिक पसीना आना

गर्भवती स्त्रियों के साथ रात को पसीना आने की समस्या नजर आ सकती है. जिसे देखकर लगे कि उन्हें कोई समस्या है. यह अक्सर पीरियड्स काल में भी नजर आ सकता है.  हार्मोन अल बदलाव के कारण और रात्रि के समय गर्म वातावरण की वजह से या किसी बीमारी या संक्रमण की वजह से ऐसा हो सकता है.

अधिक पसीने से छुटकारा कैसे पाएं

मुख्यतः पसीना आने की वजह शरीर में गर्माहट पैदा होना ही होती है. अब इस गर्माहट को शांत करने के लिए आप जो भी उपाय करेंगे. वह आपको कम पसीना लाने में मदद करेंगे.

घरेलू तौर पर आपको इसके लिए कुछ छोटे-छोटे उपाय करने चाहिए जैसे कि
आपको अपने शरीर को हाइड्रेट रखना है शरीर में पानी की कमी बिल्कुल नहीं होनी चाहिए यह शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है

गर्मियों के मौसम में आपको दो से तीन बार नहाना चाहिए.

आप ठंडे पानी में अपने हाथ या पैरों को कुछ देर डालकर भी बैठ सकते हैं.

आप का कमरा खुला होना चाहिए जिसमें प्रॉपर वेंटिलेशन की व्यवस्था हो. आप एयर कंडीशन का भी प्रयोग कर सकते हैं.

तेज गर्मी के समय बाहर निकलने से बचें.

कोशिश करें आपको किसी भी प्रकार का रोग ना लगे.

हल्का और ठंडी प्रकृति के भोजन को ग्रहण करें.

चाय आइसक्रीम सोडा ड्रिंक्स इन्हें ना पिए.

त्वचा पर अधिक मात्रा में तेल बॉडी लोशन या मेकअप ना करें यह रोम छिद्रों को बंद करते हैं और शरीर में गर्माहट पैदा होती है.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में किस महीने से कितने बादाम खाने चाहिए

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में अधिक वजन के 5 नुकसान

इन्हें भी पढ़ें : बच्चे के लिए जैतून के तेल की मालिश के फायदे

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में झुकना | कंप्लीट जानकारी

डॉक्टर से कब मिले

अगर पसीने के साथ-साथ आपको लगातार तेज बुखार, घबराहट या धड़कन बढ़ रही है या किसी दूसरी प्रकार की समस्या नजर आ रही है तो यह सामान्य नहीं है, आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें