Header Ads


Pregnancy Care items

Fertility boosting vitamins | प्रजनन क्षमता को बढ़ाने वाले विटामिंस

वह कौन-कौन से विटामिन होते हैं जो महिला की प्रजनन क्षमता को खाने के लिए जिम्मेदार होते हैं. 

असल में हमारे पास कई प्रकार के प्रश्न आते हैं. उनमें से एक प्रश्न यह भी है, कि मेरे अंदर किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है. सभी रिपोर्ट नॉर्मल है, लेकिन मां बनने में समस्या आ रही है, तो ऐसा भी हो सकता है कि शरीर के अंदर पोषक तत्व की कमी के कारण शरीर प्रेगनेंसी का  भार उठाने में अपने आप को असमर्थ महसूस कर रहा हो. 

यह कुछ विटामिंस है. अगर इनकी प्रचुरता आपके शरीर में बनी रहती है, तो आपकी समस्या में काफी कमी देखने में आएगी. 


असल में विटामिन जो है, वह कार्बनिक योगिक होते हैं. जो मानव शरीर के विकास के लिए अत्यधिक आवश्यक माने जाते हैं. यह शरीर को पोषण प्रदान करते हैं. शरीर के विकास में मदद करते हैं. 

आपके आहार के अंदर यह सब तत्व कुछ मात्रा में शामिल जरूर होने चाहिए. अगर आपके द्वारा जो भोजन ग्रहण किया जाता है. उसके अंदर यह सब पोषक तत्व नहीं होते हैं, तो आपको पूरक आहार लेने की आवश्यकता हो सकती है. जिसे आप अपने डॉक्टर की सलाह पर ले. 


Fertility boosting vitamins |  प्रजनन क्षमता को बढ़ाने वाले विटामिंस

जिंक

किसी भी दंपत्ति की या महिला की गर्भावस्था की संभावना को बढ़ाने के लिए जिंक काफी महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है. यह एक खनिज है और प्रजनन क्षमता में अपना योगदान देता है. 

पुरुषों के लिए एक अनुशासित अर्थात नियमित खुराक 11 मिलीग्राम के आस पास है, और महिलाओं के लिए यह 8 मिलीग्राम के आस पास मानी जाती है. 

अपने भोजन में जिंक युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें. साबुत अनाज बींस और समुंद्री भोज्य पदार्थों में यह अच्छी मात्रा में होता है.


फोलिक एसिड

जो महिलाएं चाहती हैं कि वह मां बने उनके लिए एक फोलिक एसिड आवश्यक तत्व होता है. जिस उम्र के दौरान महिला मां बनने की क्षमता रखती है उस उम्र में महिला को 1 दिन में कम से कम 400 मिलीग्राम फोलिक एसिड का सेवन रोजाना जरूर करना चाहिए. 

यह एक बी कंपलेक्स विटामिन होता है, जो हमारे शरीर के अंदर लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में मदद करता है.

 
साथ ही साथ प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए सबसे अच्छे विटामिन में से एक माना जाता है. क्योंकि गर्भावस्था के समय अतिरिक्त तत्व की आवश्यकता होती है. 

यह विटामिन आपको प्राकृतिक रूप से प्राप्त होता है. साथ ही साथ यह लैब के अंदर कृत्रिम रूप से भी बनाया जाता है. इसलिए इसकी उपलब्धता काफी आसान हो जाती है.

प्राकृतिक रूप से आपको यह विटामिन हरी पत्तेदार सब्जियों में, साबुत अनाज के अंदर और खट्टे फलों में आसानी से प्राप्त हो सकता है. जो महिलाएं गर्भावस्था प्राप्त करना चाहती हैं, उन्हें एक या 2 महीने पहले से फोलिक एसिड युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए.


विटामिन ई

रिसर्च के द्वारा यह बात सामने आई है कि महिलाओं के प्रजनन तंत्र की क्षमता को बढ़ाने के लिए विटामिन ई काफी आवश्यक है. 

साथ ही साथ यह पुरुषों के लिए भी उतना ही आवश्यक होता है, यह पुरुष के स्पर्म की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए कार्य करता है. इसलिए विटामिन ई पति और पत्नी अर्थात दंपत्ति दोनों के लिए काफी ज्यादा आवश्यक हो जाता है. 


आप अपने दैनिक आहार से विटामिन ई की पूर्ति बड़ी आसानी से कर सकते हैं. यह आपको पीनट बटर, बादाम ,अखरोट ,सूरजमुखी के बीज, कद्दू के बीज, कुछ फल जैसे कि आम और कीवी इन में अच्छी मात्रा में पाया जाता है. इसके लिए अनुपूरक भी आप डॉक्टर की सलाह पर ले सकते हैं.


विटामिन डी

कई अध्ययनों से इस बात का खुलासा हुआ है कि विटामिन डी और प्रजनन क्षमता एक दूसरे से संबंधित होते हैं. जिस महिला के अंदर विटामिन डी सामान्य स्तर पर पाया जाता है, वह स्वाभाविक रूप से गर्भाधान करने में ज्यादा सक्षम होती है.


विटामिन डी आपको सुबह के समय धूप से भी प्राप्त होता है, और काफी सारे भोज्य पदार्थ जैसे कि दुग्ध उत्पादन, मछलियां इनके अंदर विटामिन डी अच्छी मात्रा में पाया जाता है.


आयरन

आयरन शरीर के अंदर हिमोग्लोबिन को बढ़ाने के लिए काफी जिम्मेदार होता है. यह लाल रक्त कणिकाएं शरीर के अंदर ऑक्सीजन के प्रवाह को बनाए रखने में काफी मदद करती हैं. 

जिन महिलाओं के अंदर खून की कमी होती है, वह जल्दी से मां नहीं बन पाती हैं. आयरन बच्चे के विकास में और रक्त को बनाने के लिए जिम्मेदार होता है. इसके बिना प्रेगनेंसी की कल्पना नहीं की जा सकती है.

 

विटामिन बी

विटामिन बी कई प्रकार के होते हैं जैसे कि राइबोफ्लेविन, थायमीन ,विटामिन B6, विटामिन B12 इत्यादि यह विटामिंस गर्भावस्था की प्रोसेस में अर्थात गर्भावस्था को कंप्लीट करने में अपना योगदान देते हैं.


ओमेगा 3 फैटी एसिड

यह भी एक महत्वपूर्ण तत्व होता है. यह बच्चे के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है. अगर महिला के शरीर में बच्चे के लिए आवश्यक पोषक तत्व की कमी चल रही होती है तो शरीर गर्भाधान के लिए तैयार ही नहीं होता है. 

महिला के शरीर में रक्त के प्रभाव को बढ़ाने और हारमोंस को संतुलित करने में भी मदद करता है. सीफूड में यह अच्छी मात्रा में पाया जाता है.


कुछ दूसरे पोषक तत्व होते हैं, विटामिंस होते हैं. जो पुरुष के लिए बहुत ज्यादा जरूरी होते हैं. यह सभी के सभी पुरुष के शुक्राणुओं को गतिशील, मजबूत और उसके अंदर गुणवत्ता पैदा करने के लिए जिम्मेदार होते हैं. जैसे कि इसके अंदर आपको सेलेनियम , एल-कार्निटाइन कोएंजाइम q10 आदि शामिल होते हैं.

No comments

Powered by Blogger.