घरेलू नुस्खों के द्वारा गर्भपात कराना कितना सही

0
22

हम इलायची के द्वारा गर्भपात इस विषय पर बात कर रहे हैं. हम बात करेंगे….

क्या घरेलू नुस्खों के द्वारा गर्भपात कराना सही है. घरेलू नुस्खा द्वारा गर्भपात कब तक कराएं. गर्भपात से पहले सावधानियां, गर्भपात कराने का सही तरीका क्या होता है.

अगर आप गर्भपात किसी भी घरेलू नुस्खे के द्वारा ट्राई करने की कोशिश कर रहे हैं, तो आप आगे आर्टिकल जरूर पढ़ें.

क्या घरेलू नुस्खों के द्वारा गर्भपात कराना सही है

घर पर ही घरेलू उपायों द्वारा, आयुर्वेदिक उपायों द्वारा गर्भपात बिना किसी एक्सपर्ट की निगरानी में करना हमेशा रिस्की तो होता ही है. इसमें कोई दो राय नहीं है. घर पर ही गर्भपात जैसा बड़ा कार्य करने के लिए आपको जोखिम उठाना पड़ेगा यह तो निश्चित है.

घर पर गर्भपात कराने के लिए मुख्य रूप से मसालों का ही इस्तेमाल किया जाता है. इसके पीछे एक कारण है. आपको जानना चाहिए.

प्रेगनेंसी के दौरान हमेशा प्रेगनेंसी को सलामत रखने के लिए शरीर को ठंडा बनाए रखना काफी आवश्यक होता है. अगर हम गर्म तासीर का भोजन प्रेगनेंसी में अधिक खा लेते हैं, तो वह शरीर में ब्लड सरकुलेशन को बढ़ा देता है. और हमारे शरीर को उत्तेजित कर गर्भपात की ओर ले जाता है.

किसी भी घरेलू उपाय को लेकर कभी भी कोई रिसर्च नहीं की गई है. इस वजह से यह कितने प्रतिशत और किन परिस्थितियों में काम करते हैं. इसके विषय में जानकारी नहीं रहती है. इसलिए इलायची के द्वारा या किसी भी घरेलू उपाय द्वारा करो बात हमेशा रिस्की रहता है, और पूर्ण गर्भपात हो जाए इसकी भी संभावना कम ही रहती है. जिसके काफी बड़े नुकसान कभी-कभी उठाने पड़ते हैं.

अगर गर्भपात के लिए घरेलू उपाय कार्य भी करते हैं, तो उसके लिए किसी एक्सपर्ट की निगरानी में करना ही कितना आवश्यक होता है.

घरेलू नुस्खे में एक सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि आप जिस भी हर्ब का प्रयोग गर्भपात के लिए कर रहे हैं. वह हर्ब या वस्तु प्राकृतिक ही होती है, और प्रकृति में ही पैदा होती है.

इस कारण से एक ही वस्तु में अलग-अलग इन्वायरमेंट में पैदा होने की वजह से और गुण और क्षमता अलग-अलग होती हैं. तो उसके कितनी मात्रा काम करेगी इसका आकलन काफी मुश्किल होता है. क्योंकि हमें रिजल्ट तुरंत चाहिए होता है, इस वजह से  यह परेशानी है.

घरेलू नुस्खों के द्वारा गर्भपात कराना कितना सही

घरेलू नुस्खा द्वारा गर्भपात कब तक कराएं

गर्भपात जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी करा लेना चाहिए. शुरू के 10 हफ्ते के अंदर गर्भपात कराना उचित रहता है. उसके बाद जैसे-जैसे समय बढ़ता जाता है, वैसे वैसे गर्भपात में रिस्क भी बढ़ता जाता है.

अगर आप 10 हफ्ते के अंदर भी गर्भपात कराते हैं, तो भी यह गारंटी नहीं होती है, कि गर्भपात सक्सेसफुली हो गया है.

घरेलू नुस्खे हमेशा शुरुआती प्रेगनेंसी में ही काफी असरदार माने जाते हैं जैसे-जैसे प्रेगनेंसी का समय बढ़ता जाता है उसके बाद घरेलू नुस्खों के द्वारा गर्भपात होना काफी मुश्किल होता है.

गर्भपात से पहले सावधानियां

जैसे-जैसे आपकी गर्भवास्था बढ़ती जाती, गर्भपात कराने से उससे होने वाले खतरे भी बढ़ते जाते हैं। इसलिए गर्भपात से पहले आपको कुछ सावधानी रखनी चाहिए…

जितनी जल्दी हो सके गर्भपात करा लेना चाहिए, 10 सप्ताह के बाद गर्भपात करना खतरनाक हो सकता है
अगर संभव है तो, गर्भपात के लिए घरेलू नुस्खे उपयोग करने से बचें.
गर्भपात किसी निर्देशक के निर्देश में ही करें.
मेडिकल हेल्प सुनिश्चित करें.
अधूरा गर्भपात होने पर मेडिकल हेल्प ले.

गर्भपात कराने का सही तरीका क्या होता है

मेडिकल में सेल्फ अबॉर्शन के लिए काफी सारी मेडिसिंस आती है, और उन पर उन्हें प्रयोग करने का तरीका भी स्पष्ट तरीके से लिखा होता है. उसके बाद भी आप ऐसी दवाइयों के द्वारा अबॉर्शन कराते हैं तो आपके लिए वह कार्य तो करेगा, लेकिन उसके द्वारा होने वाले नुकसान के लिए को कवर करने के लिए आपको डॉक्टर से तो मिलना ही होगा. क्योंकि विभिन्न प्रकार की दवाइयों के द्वारा होने वाला गर्भपात आपकी माता बनने की क्षमता को कम करता है.

गर्भपात का सबसे सही तरीका यही है कि आपका डॉक्टर आपको बताएगा कि आप को किस प्रकार से गर्भपात कराना चाहिए इसके लिए वह कुछ चेकअप करेंगे उसके बाद आपको विधि बताएंगे अपनी दिशा निर्देशन में यह कार्य विधि संपन्न कराएंगे यही उचित रहता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें