क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाना सुरक्षित है?

0
29

प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोन परिवर्तन की वजह से कभी कभी मुंह का स्वाद काफी ज्यादा खराब हो जाता है, और प्रेगनेंसी में इलायची खाने का बहुत ज्यादा मन करता है. अब बात यहां यह आती है, कि क्या प्रेगनेंसी में इलायची खा सकते हैं.
 
क्योंकि इलायची की अधिक मात्रा गर्भपात के लिए भी प्रयोग में लाई जाती है, तो जिन महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान इलायची खाने का मन होता है, या मुंह का स्वाद सही करने के लिए वह इलायची खाना पसंद करती हैं, या क्रेविंग के चलते इलायची खाने का मन करता है….
हम बात करेंगे………

क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाना सुरक्षित है. क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाने से गर्भपात हो सकता है. प्रेगनेंसी में इलायची की कितनी मात्रा खा सकते हैं. इलायची अधिक खाने से क्या नुकसान होता है.  इलायची खाने के कुछ फायदे भी होते हैं, उन पर भी बात करेंगे, और इलायची खाने से पहले क्या क्या सावधानियां रखें इस पर भी बात करेंगे.

क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाना सुरक्षित है

प्रेगनेंसी के दौरान इलायची खाना सुरक्षित माना जाता है बशर्ते इलायची लिमिटेड मात्रा में ही खाई जाए क्योंकि यह काफी सारे फायदे प्रेगनेंसी के दौरान महिला को दे सकती है. इसकी मात्रा को भी लेकर हम आगे बात करेंगे.
क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाने से गर्भपात हो सकता है.

भारतीय समाज में माना जाता है कि इलायची की अधिक मात्रा अगर प्रेगनेंसी के शुरुआती समय में खाए जाए तो यह गर्भपात का कारण बन जाती है, या गर्भपात के लिए इलायची का प्रयोग किया जा सकता है. लेकिन मेडिकल साइंस इस बात को पूर्णतया मिथक मानती है. उनका मानना है कि इलायची गर्म प्रकृति की होती है, लेकिन यह गर्भपात हर बार करवा दे यह जरूरी नहीं है.

इलायची की अधिक मात्रा नुकसानदायक हो सकती है, इलायची के सेवन से ब्लड प्लेटलेट्स और टोटल वाइट ब्लड काउंट कम हो सकता है. इसकी वजह से प्लेसेंटा के माध्यम से शिशु तक रक्त कम पहुंचता है. ऑक्सीजन कम पहुंचती है, तो इस वजह से गर्भपात हो सकता है.

क्या प्रेगनेंसी में इलायची खाना सुरक्षित है?

प्रेगनेंसी में इलायची की कितनी मात्रा खा सकते हैं

प्रेगनेंसी के दौरान 1 दिन में एक महिला लगभग 500 मिलीग्राम इलायची का सेवन 1 से 2 बार में कर सकती है. यह उसके लिए औसतन सुरक्षित मात्रा है. अगर महिला की प्रेगनेंसी में किसी प्रकार की कॉम्प्लिकेशंस चल रही है, तो वह एक बार इलायची लेने से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य परामर्श करें.

प्रेगनेंसी में इलायची खाने के नुकसान

  • प्रेगनेंसी के दौरान मुंह का स्वाद खराब होने की वजह से अक्सर महिला सोचती है कि वह इलायची खाकर अपने मुंह का स्वाद ठीक कर सकती है तो उसे यह नहीं करना चाहिए इससे कभी-कभी एग्जिमा होने का डर रहता है.
  • अगर आप प्रेगनेंसी के दौरान कुछ दवाइयां ले रहे हैं तो कभी-कभी क्या होता है कि इलायची कुछ दवाओं के साथ रिएक्शन कर जाती है जिसका साइड इफेक्ट प्रेगनेंसी के दौरान नुकसानदायक हो सकता है.
  • प्रेगनेंसी के दौरान इलायची का थोड़ा सा अधिक सेवन या आपका शरीर इलायची को लेकर सेंसिटिव है, तो आपको सिर्फ त्वचा में ही एलर्जी नहीं होती है. बल्कि इससे कभी-कभी जीभ में सूजन डायरिया या दस्त अथवा कब्ज की समस्या भी बन सकती है.

प्रेगनेंसी के दौरान इलायची खाने के फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान अगर आप संयमित मात्रा में इलायची खाते हैं तो आपको काफी ज्यादा फायदा नजर आता है आइए जानते हैं कौन कौन से फायदे होते हैं.

  • प्रेगनेंसी के दौरान मतली और उल्टी की समस्या अक्सर महिलाओं को हारमोंस के साइड इफेक्ट के रूप में नजर आती है इलायची खाने से यह समस्या काफी हद तक कम हो जाती है.
  • इलायची के अंदर कुछ ऐसे दुर्लभ तत्व होते हैं जो पेट में दर्द, पेट में ऐठन, सूजन इत्यादि समस्याओं में लाभ देते हैं.
  • इलायची का एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव कई प्रकार के संक्रमण से प्रेगनेंसी के दौरान महिला को बचा सकता है. इसके अंदर त्वचा से जुड़े संक्रमण. हड्डी से जुड़े संक्रमण और फेफड़ों से जुड़े संक्रमण भी होते हैं.
  • इलायची का उपयोग महिलाओं में प्रोजेस्टेरोन का स्तर बढ़ा सकता है . वहीं, प्रोजेस्टेरोन हार्मोन गर्भधारण की प्रक्रिया से लेकर गर्भावस्था के दौरान भ्रूण के विकास के लिए भी जरूरी माना जाता है. साथ ही साथ पूरी प्रेगनेंसी के दौरान इसके और भी दूसरे बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण कार्य होते हैं जिन पर पूरा एक वीडियो बन सकता है.
  • इलायची का प्रयोग करने से गर्भावस्था के दौरान महिला को गैस एसिडिटी और कब्ज की समस्या में विशेष रूप से फायदा होता है.
  • इलायची के अंदर कैंसर को कम करने वाले गुण भी पाए जाते हैं, इसलिए इलायची प्रेगनेंसी के अलावा वैसे भी खाना ही चाहिए. अगर आप इलायची प्रेगनेंसी में खाते हैं, तो प्रेगनेंसी में कैंसर के खतरे को कम करती है.
  • प्रेगनेंसी के दौरान ब्लड सप्लाई की अत्यधिक आवश्यकता होती है. क्योंकि ब्लड महिला के साथ साथ गर्भस्थ शिशु के लिए भी जरूरी होता है. इसलिए प्रेगनेंसी में उच्च रक्तचाप की समस्या होना आम बात होती है. अगर आप प्रेगनेंसी के दौरान इलायची का प्रयोग संयमित मात्रा में करती है, तो यह उच्च रक्तचाप की समस्या में बहुत ज्यादा लाभदायक होता है. आपके हृदय को भी स्वस्थ रखता है.
  • इलायची खाने से महिला का मन थोड़ा प्रसन्न हो जाता है. प्रेगनेंसी में हारमोंस बदलाव के कारण चिंता, अवसाद, डिप्रेशन आदि समस्याएं होना आम बात है यह इन सब में फायदा करता है.

सावधानियां

  • प्रेगनेंसी के दौरान इलायची का प्रयोग न करके. आप इलायची के पाउडर का प्रयोग चाय, आहार में करें तो उचित रहता है.
  • इलायची को अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए. 
  • इसे लेने से पहले डॉक्टरी परामर्श अवश्य करें .
  • अगर आपको इलायची से एलर्जी है, तो इसे लेने से बचें.
  • इलायची खाने से एलर्जी के लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें