Header Ads

प्रेगनेंसी के दौरान किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए - Pregnancy care Tips Part #16

 इस आर्टिकल के माध्यम से हम फिर से आपके लिए पांच प्रेगनेंसी टिप्स लेकर आए हैं. हमें उम्मीद है कि आप कोई है टिप्स जरूर पसंद आएंगी. दोस्तों हम जो टिप्स देते हैं जरूरी नहीं कि वह टिप्स हर व्यक्ति के लिए फिट ही बैठे. यह आर्टिकल सभी लोगों के लिए होते हैं, हो सकता है किसी के लिए यह टिप्स मायने ना रखती हो, लेकिन बहुत से लोग ऐसे जरूर होंगे जिनके लिए मायने रखती होगी. हमने इससे पहले भी काफी सारे आर्टिकल लिखे हैं जिनमें प्रेगनेंसी को लेकर काफी सारी टिप्स दी गई है. हमें लगता है कि आप उन टिप्स को जरूर देखें.


अपनी सफाई का ध्यान रखें  - Apni Safai ka Dhyan Rakhe 

किसी भी गर्भवती महिलाओं को यह बहुत जरूरी होता है कि वह अपनी शरीर की सफाई का विशेष ध्यान रखें जैसे कि कुछ महिलाएं अपने पालतू जानवरों के साथ खेलती हैं उन्हें पालती हैं या फिर वह खेत में जाकर काम करती है खाद वगैरह देती हैं या कुछ और कार्य करती हैं या आप मार्केट से आ रहे हैं ऑफिस से आ रहे हैं तो कई प्रकार के जीवाणुओं , कीटाणु आपके शरीर पर आपके हाथ पैर पर हो सकते हैं, इसलिए आप हमेशा कोई भी कार्य करने से पहले जो कि हमने आपको ऊपर अभी बताए हैं आपको अपना शरीर अच्छी तरह से साफ करके रखना है.
अगर आप सफाई का ध्यान ना रखे तो ऐसा हो सकता है कि आपके नाखूनों से या आपकी त्वचा से हानिकारक बैक्टीरिया आपके  शरीर में प्रवेश कर सकते हैं, हो सकता है कि वह शिशु तक पहुंचकर शिशु को नुकसान भी पहुंचा पाए.


पानी उबालकर पीएं - Pregnancy me Ubala Paani Piea

आजकल पानी शुद्ध नहीं रह गया है इसके लिए कंपनी आरो बेचती हैं जिसके अंदर यह दावा किया जाता है कि आपके पानी से हर प्रकार की अशुद्धि को निकाल दिया गया है और पानी आपके पीने लायक बन गया है इस पानी को पीने से आपको किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी यह बात बिल्कुल सही है कि जो भी परेशानियां पानी को पीने के कारण होती हैं आरो का पानी पीने से वह ठीक होने लगती है लेकिन आरो के पानी की सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह है कि वह अशुद्धि के साथ साथ पानी के मिनरल्स को भी निकाल कर बाहर कर देता है, जो कि ठीक नहीं है. आरो पर की गई रिसर्च के द्वारा वैज्ञानिकों ने कहा है कि आरो का पानी स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता है आरो का पानी बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिए.

अगर आपको प्रेगनेंसी के दौरान पानी से फायदा लेना है तो सबसे अच्छा तरीका यही होता है कि आप उसे उबालने आप काफी सारा पानी उबालने जितना आपको 1 दिन में पीना होता है और उसे ठंडा करके पिए. यह पानी सबसे सही होता है.



हिम्मत ना छोड़ें - Pregnancy Time me Positive Rahe

प्रेगनेंसी के दौरान सबसे ज्यादा जरूरी होता है कि महिला को पॉजिटिव रहना चाहिए कई बार कुछ महिलाओं को बहुत ज्यादा परेशानी प्रेगनेंसी के शुरू के 3 से 4 महीने में होती है वह कुछ भी नहीं खा पाती हैं गैस, एसिडिटी , मतली , उल्टियां यह सब इस प्रकार की परेशानी होती है जिसमें बहुत ही ज्यादा अन कंफर्टेबल महसूस होता है. ऐसे में महिलाएं टूटने लगती हैं नेगेटिविटी से गिर जाती हैं नेगेटिविटी से तनाव होने लगता है और तनाव शरीर की सारी एनर्जी को खर्च कर देता है. हमने तनाव को लेकर आर्टिकल  बनाए हैं जिसमें हमने बताया है कि तनाव किस प्रकार से नुकसान दायक है आप उस आर्टिकल से रेफरेंस ले सकते हैं.

तो कुल मिलाकर कहने का मतलब यही है कि यह परेशानी शुरू कर 3 महीने तक ही होती है उसके बाद कोई खास परेशानी नहीं होती है साथ ही साथ डिलीवरी में होने वाले दर्द को लेकर भी महिलाएं काफी ज्यादा अनकंफरटेबल रहती हैं. हम आपको बता दें कि परेशानी उतनी ज्यादा नहीं होती है जितना आप पूरी प्रेगनेंसी के दौरान इस बात को सोच सोच कर होती है. इसलिए आप सभी चिंता को छोड़ हिम्मत रखें. और अपने आने वाले शिशु के बारे में सोचें.





क्रेविंग की समस्या - Pregnancy me Craving ki Problem

प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में बहुत ज्यादा हार्मोन परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से महिलाओं को कई बार बहुत सारी ऐसी चीजें खाने का मन करता है जो कि प्रेगनेंसी में खाना बहुत ज्यादा नुकसानदायक होता है अगर कोई विशेष प्रकार का पदार्थ भोज्य पदार्थ खाने का मन करे तो एक बार को ठीक भी है भले ही वे नुकसानदायक है आप थोड़ा बहुत ले सकती हैं लेकिन प्रेगनेंसी में खाने से परहेज करें मुल्तानी मिट्टी या मिट्टी कभी-कभी कोयला राख ऐसी खतरनाक चीज खाने का मन होने लगता है यह शुद्ध रूप से आपके लिए हानिकारक है. आपका कितना भी मन इन चीजों को खाने के लिए करें आपने बिल्कुल बिना खाए अपने ऊपर कंट्रोल रखें


फलों का जूस स्वयं निकाले - Pregnancy me Frutis Juice Ghar per Nikale

प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर हमेशा गर्भवती स्त्री को फल और फलों का जूस लेने की सलाह देते हैं बल्कि घर की बड़ी महिलाएं या जो महिला पहले से ही मां बन चुकी है वह भी इस बात की सलाह देती है कि महिलाओं को फलों का जूस काफी फायदेमंद होता है अगर आप फलों का जूस बाहर से मंगा कर पी रही है चाहे आप डब्बा बन जूस ले या ताजा बाहर दुकान से निकलवाकर मंगवाए दोनों के पीने में रिस्क होता है डब्बा बंद जूस केमिकल डालकर पैक किया जाता है जिससे लंबे समय तक चले और दुकानदार लोग अक्सर इस बात का ध्यान रखना भूल जाते हैं कि दूध को शुद्ध रखना उनकी जिम्मेदारी है वह संक्रमित हो सकता है इसलिए सबसे अच्छा यही है कि घर की कोई महिला या आप स्वयं अपने लिए जूस निकालकर पिए


No comments

Powered by Blogger.