Header Ads


Pregnancy Care items

रिसर्च के अनुसार गर्भस्थ शिशु को शराब से 428 बीमारी हो सकती हैं

प्रेगनेंसी के दौरान शराब पीना कितना नुकसानदायक हो सकता है.  दोस्तों वैसे तो गांवों और छोटे शहरों में महिलाओं द्वारा शराब पीना एक अजीब सा टॉपिक माना जाता है.  

वहां पर कल्चर ही इस प्रकार का है कि महिला और शराब का दूर-दूर तक कोई नाता नहीं होता और जबकि पुरुष उसके बिना रह नहीं पाते हैं. वहां पर माना जाता है कि महिलाएं शराब नहीं पीती है.

 लेकिन बड़े शहरों में और ऑफिस में काम करने वाली महिलाओं को कभी-कभी परिस्थिति वश या सोसाइटी के कारण शराब पीनी पड़ सकती है, तो ऐसे में हम चर्चा कर रहे हैं, कि किसी भी गर्भवती स्त्री के लिए शराब कितनी नुकसानदायक हो सकती है.



 दोस्तों वैसे आपको बहुत से ऐसे लोग या महिलाएं मिल जाएंगे जो यह कह सकती हैं, कि अरे कुछ नहीं होता है. प्रेगनेंसी के दौरान हमने शराब का सेवन किया है .हम और हमारा बच्चा दोनों स्वस्थ थे.

लेकिन आपको इसमें एक छोटी सी बात का ध्यान रखना है, कि कभी-कभी नुकसान होता तो है, लेकिन नजर नहीं आता है और अपना प्रभाव छोड़ जाता है.

 दूसरी बात यह भी होती है, कि आपका शरीर और उस महिला का शरीर दोनों अलग है. दोनों की क्षमताएं अलग-अलग हैं, शरीर की गतिविधियां अलग-अलग है.  

मतलब दोनों शरीर एक जैसे नहीं है तो शराब आप पर कितना प्रभाव डाले और उस पर उसने कितना प्रभाव डाला है यह भी अलग अलग हो सकता है तो ऐसे में किसी के चक्कर में ना आए.

वैज्ञानिकों का मानना है कि शराब कभी भी पचती नहीं है. वह सीधे अवशोषित कर ली जाती है, और ब्लड में पहुंचकर वह बच्चे की आहार नाल द्वारा सीधा उसके शरीर में पहुंच सकती है और नुकसान पहुंचा सकती हैं.

डॉक्टर द्वारा आपको हमेशा स्पष्ट सलाह दी जाती है कि आप अगर प्रेगनेंसी के बारे में सोच भी रही हैं, तो आपको कुछ महीने पहले से ही शराब का सेवन बंद कर देना चाहिए. ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान शराब पीना कितना नुकसानदायक है आप समझ ही सकते हैं.

प्रेगनेंसी के दौरान शराब पीने को लेकर एक शोध हुआ है, उस शोध के विषय में हम आपको बता देते हैं. उसमें काफी कुछ टेक्निकल शब्द है बीमारियों के नाम है तो उस पर चर्चा नहीं करेंगे उसके मूल पर चर्चा करेंगे.

पत्रिका 'द लांसेट' में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, कुछ बातें सामने आई हैं.  अध्ययन करने वाली टीम मेंबर पोपोवा के अनुसार शराब पीने की वजह से बच्चे के अंदर कई सारी शारीरिक अक्षमताएं पैदा हो जाती है.

काफी गहराई से अध्ययन किया गया है. इस वजह से उन्होंने गर्भवती स्त्री द्वारा शराब पीने के कारण बच्चे के अंदर होने वाली 428 बीमारियों को पहचाना है. जो बच्चे के --

सेंट्रल तंत्रिका तंत्र अर्थात मस्तिष्क
उसके देखने की क्षमता
उसके सुनने की क्षमता
उसके हृदय से संबंधित
रक्त संबंधी
पाचन से संबंधित
श्वसन प्रणाली से संबंधित
लगभग हर प्रणाली से संबंधित बीमारियां उसके अंदर आती है. यह शराब बच्चे के शरीर के हर तंत्र को प्रभावित करती है.


पोपोवा ने कहा कि अगर आप स्वस्थ शिशु चाहते हैं तो गर्भाधान की योजना बनाने की अवधि से लेकर संपूर्ण गर्भावस्था में शराब से बिल्कुल दूर रहें.

यह तो खतरा बच्चे को है लेकिन अगर आप शराब लेती है तो इससे कुछ खतरा आपको भी है जो शारीरिक क्षमताओं में कमी होने के साथ-साथ आपकी सोशल लाइफ को भी नुकसान पहुंचा सकता है.
आप ड्राइव करती हैं नुकसान हो सकता है.

आप अगर ऐसी दवाई ले रही हैं, जो शराब के साथ रिएक्ट करती है, तो आप को कितना नुकसान होगा आप सोच भी नहीं सकती.
अगर महिला का दिल कमजोर है.
उसे लीवर से संबंधित कोई बीमारी है.
दिल से संबंधित कोई बीमारी है.
ऐसे में शराब काफी नुकसान पहुंचा सकती है.  क्योंकि प्रेगनेंसी के दौरान महिला का इम्यून सिस्टम अर्थात प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है.


No comments

Powered by Blogger.