गोखरू के फायदे और नुकसान | Gokhru ke fayde in Hindi

 गोक्षुर या गोखरू (Gokhru) एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, जो भारतीय जंगलों में और खेतों के आसपास बहुतायत पाई जाती है.   गोखरू या 'गोक्षुर' (Tribulus terrestris, Land caltrops) भूमि पर कहीं भी उगने वाला छोटा सा पौधा है. यह आषाढ़ और श्रावण महीने में आपको कहीं भी खाली जमीन पर या जंगलों में नजर आ जाएंगे. यह साधारण सा और छोटा पौधा कमाल के औषधीय गुण करता है.


गोखरू की पहचान

गोखरू अगस्त महीने से लेकर दिसंबर महीने तक फलते फूलते हैं. इनकी लंबाई लगभग 1 मीटर से लेकर डेढ़ मीटर तक हो सकती है.

 गोखरू बड़ी आसानी से पहचान में आ जाता है. यह उत्तर भारत के पहाड़ी और मैदानी इलाकों, दोनों स्थानों पर पाया जाता है.  गोखरू के पत्ते खंडित और फूल पीले रंग के होते हैं. इसका फल कांटों से युक्त होता है. इसके फल का आकार चने के दाने के बराबर होता है, जिस पर कांटे होते हैं.

गोखरू की पहचान

गोखरू को अलग-अलग भाषाओं में अलग-अलग नामों से जाना जाता है, जैसे कि –
गोक्षुरक, त्रिकण्ट, हाथीचिकार, बेटागोखरू, नेरींजीकाई, बखरा, लोटक, लहानगोखरू, बास्तीताज, मसक, खारेखसक  इत्यादि.

गोखरू के पोषक तत्व

गोक्षुरा के अंदर बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो वीर्य वर्धक, शक्ति वर्धक और मूत्र वर्धक गुणों से परिपूर्ण होते हैं.  इसके अंदर आपको कैल्शियम, पोटेशियम, सोडियम, फ्लेवोनोइड, प्रोटीन, नाइट्रेट, विटामिन सी, आयरन विटामिन ए इत्यादि मुख्य रूप से पाए जाते हैं.
साथ ही साथ इसके अंदर क्वेरसेटन,केम्फेरोल, सैपोनिन मुख्य रूप से शामिल होते हैं.

{getButton} $text={Current Price} $icon={preview}

गोखरू के फायदे और नुकसान

गोखरू एक आयुर्वेदिक औषधि है. आयुर्वेद के अनुसार गोखरू के फायदे (Gokhru ke fayde) अनगिनत है. यह कई प्रकार की तीव्र समस्याओं में काफी फायदेमंद होता है. गोखरू का सेवन गोखरू के पाउडर के रूप में तथा कई प्रकार की दवाइयों में दूसरी औषधियों के साथ किया जाता है.

गोखरू के फायदे पुरुषों के लिए - Gokhru ke fayde in hindi

जैसा कि हमने बताया है कि गोखरू शक्ति वर्धक, मूत्र वर्धक और वीर्य वर्धक माना जाता है. इसलिए गोखरू के फायदे पुरुषों के लिए (Gokhru benefits in Hindi) बहुत सारे फायदे नजर आते हैं.

प्रजनन तंत्र को मजबूत करें

गोखरू के अंदर ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो पुरुषों के प्रजनन तंत्र में मजबूती लाने का कार्य करते हैं. इसकी वजह से पुरुषों की बांझपन की समस्या दूर होने लगती है. जिन पुरुषों को शारीरिक कमजोरी महसूस होती है, उन्हें गोखरू का सेवन करना चाहिए.

ऐसे लोगों को चने के साथ गोखरू का रस या चूर्ण और मिश्री तीनों को बराबर मात्रा में मिलाकर खाना चाहिए. आप 5 ग्राम सुबह और 5 ग्राम शाम को इस चूर्ण का सेवन करना शुरू करें लाभ मिलेगा.

एक दूसरा तरीका और है गोखरू का रस बनाएं उसमें चने भिगोकर रख दें 24 घंटे बाद निकालकर सुखा लें. इन्हें पीस लें और सुबह-शाम दूध के साथ  या शहद के साथ मिलाकर इसका प्रयोग करें. प्रजनन संबंधी सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं.

  • इरेक्टाइल डिसफंक्शन करे दूर
  • पुरुषों का महिलाओं के साथ इंटिमेट नहीं हो पाना,
  • पुरुषों के लिंग में तनाव का नहीं आना और
  • पुरुषों की कोशिश के बावजूद भी संतान प्राप्ति में सक्षम नहीं होना

यह नपुंसकता कहलाती है. इसे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन भी कहते हैं. यौन स्वास्थ्य के लिए गोखरू काफी लाभदायक माना जाता है.

एक रिसर्च के अनुसार अगर 3 महीने तक गोखरू का सेवन किया जाए तो यह इरेक्टाइल डिस्फंक्शन जैसी समस्या को अर्थात नपुंसकता जैसी समस्या को दूर करने की क्षमता रखता है.

स्पर्म को मजबूती प्रदान करें

  • पुरुष के स्पर्म में कमी अर्थात लो काउंट
  • स्पर्म की क्वालिटी में कमजोरी अर्थात जीवन शक्ति कमजोर होना
  • स्पर्म की मोबिलिटी अर्थात गतिशीलता

यह तीनों समस्याएं इनफर्टिलिटी को दिखाती हैं. स्पर्म की समस्या पुरुष सेक्स हारमोंस की कमी की वजह से नजर आती है. असल में पुरुष सेक्स हारमोंस टेस्टोस्टरॉन ही स्पर्म के निर्माण में मुख्य घटक होता है. इसकी कमी की वजह से सभी समस्याएं होती हैं.

गोखरू टेस्टोस्टरॉन को मजबूती प्रदान करता है. इनफर्टिलिटी धीरे-धीरे समाप्त होने लगती है.

TIP: पुरुषों के समग्र विकास जैसे कि शारीरिक विकास, मानसिक विकास और मर्दाना ताकत के विकास इत्यादि के लिए आयुर्वेद के अंदर काफी सारी जड़ी बूटियां प्रयोग में लाई जाती है जैसे कि –

केसर
, सफेदमूसली, शतावरी, अश्वगंधा, शिलाजीतविदारीकंद, स्वर्ण भस्म, कौंच के बीज, मेथीपाउडर,
जिनसेंग, जिंक, सालम पंजा, काली मूसली, टोंगकैट अली इत्यादि. इन जड़ी-बूटियों से बने नुस्खे बहुत लाभदायक और शक्तिशाली होते हैं. {alertSuccess}

गोखरू की कीमत | गोखरू की दवा


गोखरू के फायदे सामान्य - Gokhru ke fayde

गोखरू के फायदे केवल पुरुष यौन संबंधी समस्याओं में भी नहीं होते हैं मैं ही नहीं होते हैं बल्कि यह और भी कई प्रकार के फायदे शरीर को प्रदान करता है इसके फायदे पुरुषों महिला और बच्चे सभी के लिए होते हैं.

महिलाओं की सेक्स समस्याओं में लाभदायक

गोखरू के फायदे पुरुषों के लिए उनकी सेक्सुअल समस्याओं के लिए ही नहीं होते अपितु गोखरू के फायदे महिलाओं की सेक्सुअल समस्याओं में भी काफी लाभदायक होता है.
अगर महिला गोखरू का सेवन लगातार 40 दिन तक करती है तो उसकी सेक्स संबंधी समस्याओं में काफी फायदा नजर आता है जैसे कि --

  • सेक्सुअल डिजायर अर्थात कामेच्छा,
  • कामुकता,
  • सेक्स पावर,
  • योनि लुब्रिकेशन,
  • सेक्स करने की क्षमता

इन सभी के अंदर फायदा नजर आता है. महिलाएं गोखरू के चूर्ण का सेवन मधु के साथ कर सकती हैं.

अन्य लाभ

  • गोखरू का प्रयोग त्वचा पर होने वाले एग्जिमा में काफी लाभदायक होता है इसका प्रयोग करने से एग्जिमा समाप्त होने लगता है.
  • सीने में दर्द होने पर गोखरू का प्रयोग काफी लाभदायक होता है लेकिन यह आयुर्वेदाचार्य से सलाह पर ही लेना चाहिए.
  • गोखरू का प्रयोग दस्तों को रोकने में किया जाता है.
  • पेशाब संबंधी समस्याओं में भी गोखरू काफी लाभदायक होता है.
  • हाजमा को बढ़ाने के लिए गोखरू बहुत फायदेमंद है, यह पाचन क्रिया को सुधारना है. गैस, एसिडिटी और अपच जैसी समस्याओं को दूर करता है.
  • दमा जैसी समस्या में भी गोखरू काफी लाभदायक होता है. इसमें गोखरू का चूर्ण सूखे अंजीर के साथ लिया जाता है.
  • चर्म रोग में लाभदायक है. स्पर्म काउंट बढ़ाने में लाभदायक है. बुखार जैसी समस्याओं में इसका प्रयोग किया जाता है. नाक कान से खून बहने में गोखरू का प्रयोग किया जाता है. लेकिन इन सब समस्याओं में दूसरी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के साथ उसका प्रयोग किया जाता है.

गोखरू का इलाज में बड़ी मात्रा में प्रयोग किया जाता है. यह एक विशिष्ट जड़ी बूटी है, और काफी असर दायक भी मानी जाती है.

गोखरू के नुकसान

गोखरू के नुकसान कोई विशिष्ट नुकसान नहीं है. यह मात्र परिस्थिति वश या मिसमैनेजमेंट की वजह से नजर आ सकते हैं. हर व्यक्ति पर गोखरू का प्रभाव अलग-अलग होता है. इसलिए इसका प्रयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए.

यही कामेच्छा को बढ़ाने के लिए कार्य करता है, लेकिन कभी-कभी महिलाओं में यह कामेच्छा की कमी का कारण भी बन जाता है.

अगर पुरुष सेक्स हारमोंस अधिक बढ़ जाता है तो वह हृदय के लिए नुकसानदायक हो सकता है.
कुछ विशेष परिस्थितियों में यह लीवर को नुकसान पहुंचा सकता है.

संयमित और डॉक्टर की सलाह पर गोखरू का प्रयोग करने पर गोखरू के साइड इफेक्ट नजर नहीं आते हैं. यह फायदा ही देता है. अगर किसी व्यक्ति को गोखरू से एलर्जी हो तो उसे गोखरू का प्रयोग नहीं करना चाहिए . गोखरू का सेवन करने से किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं नजर आए, तो इसे लेना बंद करें, और डॉक्टर की सलाह अवश्य लें.

पतंजलि गोखरू टैबलेट के फायदे

पतंजलि गोखरू टेबलेट के फायदे वही होते हैं, जो गोखरू के फायदे इस आर्टिकल में प्रदर्शित करें गए हैं.  पतंजलि प्राचीन विधियों से आयुर्वेदिक मेडिसिन बनाने वाली एक प्रसिद्ध भारतीय कंपनी है. जिसके उत्पाद काफी विश्वसनीय होते हैं.

  • गोखरू टेबलेट का प्रयोग करने से कोई भी व्यक्ति अपनी कामेच्छा बढ़ाता है.
  • यह दमे में काफी लाभदायक है.
  • लो रक्त शर्करा के स्तर को कंट्रोल करता है.
  • यह महिलाओं के लिए उनकी प्रजनन तंत्र से संबंधित समस्याओं के लिए काफी लाभदायक है.
  • रक्तचाप में भी यह काफी इफेक्टिव प्रभाव डालता है.
  • सिर दर्द और तीव्र दर्द को यह दूर करता है.
  • पाचन तंत्र को ठीक कर पेट से संबंधित सभी बीमारियों को ठीक करने की क्षमता रखता है.

गोखरू खाने का तरीका

गोखरू को खाने का तरीका अलग-अलग समस्या में अलग-अलग प्रकार से होता है. गोखरू को दूसरी आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के साथ भी मिलाकर दिया जाता है.

मार्केट में गोखरू का चूर्ण या पाउडर, गोखरू की टेबलेट इत्यादि आसानी से मिल जाता है. आपकी समस्या के अनुसार इसे सुबह और शाम आयुर्वेदाचार्य की सलाह पर प्रयोग किया जा सकता है. गोखरू की जड़, तने और फल इत्यादि का प्रयोग भी काढ़ा बनाकर किया जा सकता है.
 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने