मेथी पाउडर के फायदे और नुकसान - Fenugreek seeds in Hindi

 मेथी (Methi) भारतीय रसोई में पाया जाने वाला एक मसाला है. जिसका प्रयोग बहुतायत में लगभग हर रसोई के अंदर होता है. मेथी एक वनस्पति है, जिसका पौधा लगभग 12 से 24 इंच तक लंबा हो सकता है. 


मेथी क्या है - What is fenugreek in Hindi

मेथी (fenugreek in Hindi) की पत्तियां छोटी छोटी होती है, और पत्तियां सब्जी के रूप में प्रयोग की जाती है. भारत में किसानों द्वारा मेथी की खेती की जाती है.

मेथी पाउडर के फायदे और नुकसान

 
मेथी (Fenugreek Hindi) का प्रयोग भारतीय रसोई में मेथी दाना (Methi Dana) के रूप में किया जाता है. मेथी दाने का पाउडर या मेथी दाना सदियों से भारतीय रसोई में प्रयोग हो रहा है.

मेथी दाने को विभिन्न प्रकार से प्रयोग करके इसके औषधीय गुणों का लाभ लिया जाता है. आयुर्वेद के अंदर मेथी के फायदे अर्थात मेथी दाना के फायदे बहुत सारे हैं.

मेथी मधुमेह में, मासिक धर्म में ऐठन होने पर और उच्च कोलेस्ट्रॉल इत्यादि जैसी सामान्य समस्याओं में काफी लाभदायक होती है. यह भोजन में मसाले के रूप में प्रयोग में लाई जाती है. साबुन और शैंपू जैसे उत्पादों में भी इसका प्रयोग किया जाता है. यह शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करती है. हृदय के जोखिम में यह लाभदायक है.

मेथी की न्यूट्रिशन वैल्यू

मेथी के अंदर फास्फोरस, कॉपर, जिंक कैल्शियम और आयरन जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डी की मजबूती के लिए बहुत आवश्यक होते हैं.

काफी सारे विटामिन जैसे कि विटामिन बी सिक्स, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन ए, फॉलेट इत्यादि भी मेथी के अंदर पाए जाते हैं.

मेथी के अंदर आपको मेथी के अंदर आपको पोटेशियम, सोडियम, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मैग्नीशियम इत्यादि महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी मिलते हैं, और भी काफी सारे मिनरल्स की प्राप्ति मेथी से हो जाती है.

मेथी खाने के फायदे - Methi khane ke fayde

मेथी दाना के फायदे (Methi dana ke fayde) बहुत सारे हैं.  मेथी दाना (Fenugreek seeds in Hindi) एक मसाला है, साथ ही साथ एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किसका प्रयोग किया जाता है. इस कारण से इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होते हैं. मेथी पाउडर खाने के फायदे इस प्रकार से हैं.

Methi khane ke fayde - Current Price

{getButton} $text={Current Price} $icon={preview} $color={#67001a}

मेथी के फायदे पुरुषों के लिए - Methi ke fayde for Men

पुरुषों के लिए भी मेथी दाने के बहुत सारे फायदे होते हैं. इसका प्रयोग लगातार करने से यह फायदे नजर आने लगते हैं. 40 वर्ष से लेकर 70 वर्ष उम्र के पुरुषों  मेथी दाने के प्रभाव को जांचा गया शोधकर्ताओं ने पाया कि पुरुष सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन में वृद्धि हुई है.

  • यह यौन क्रिया में सुधार करता है, और स्वस्थ मध्यम आयु वर्ग के वृद्ध पुरुषों में सीरम टेस्टोस्टेरोन बढ़ाता है.
  • मेथी दाने का प्रयोग करने से शादीशुदा पुरुष संबंध बनाते समय अच्छी तरह से परफॉर्म कर सकते हैं.
  • लगातार मेथी का प्रयोग करने से पुरुष की काम इच्छा में धीरे-धीरे वृद्धि होने लगती है. यह काम इच्छा को लगातार स्थिर बनाए रखता है.
  • मेथी दाने का लगातार प्रयोग करने से पुरुषों की मांसपेशियों को ताकत मिलती है स्फूर्ति और ताजगी महसूस होती है पुरुष अपने आप को शक्तिशाली महसूस करता है.
  • मेथी खाने से इनफर्टिलिटी की समस्या धीरे-धीरे दूर होने लगती है.
TIP: पुरुषों के समग्र विकास जैसे कि शारीरिक विकास, मानसिक विकास और मर्दाना ताकत के विकास इत्यादि के लिए आयुर्वेद के अंदर काफी सारी जड़ी बूटियां प्रयोग में लाई जाती है जैसे कि –

केसर
, सफेदमूसली, शतावरी, अश्वगंधा, शिलाजीत, गोखरू, विदारीकंद, स्वर्ण भस्म, कौंच के बीज,
जिनसेंग, जिंक, सालम पंजा, काली मूसली, टोंगकैट अली इत्यादि. इन जड़ी-बूटियों से बने नुस्खे बहुत लाभदायक और शक्तिशाली होते हैं. {alertSuccess}

 

महिलाओं के लिए मेथी खाने के फायदे - Methi ke fayde for Women

  • महिलाओं के चेहरे पर दाग धब्बे कील मुंहासे त्यागी बहुत इत्यादि काफी ज्यादा निकलते हैं, और इसके लिए महिलाएं तरह-तरह के केमिकल उत्पादों का प्रयोग करती हैं. जो त्वचा को खराब करने का कार्य करते हैं. इसके लिए मैं थिएटर रामबाण उपाय हैं. इसके लिए मेथी एक रामबाण उपाय हैं. महिलाओं को लगातार मेथी का प्रयोग करना चाहिए. यह सब समस्याएं धीरे-धीरे ठीक होने लगती है.
  • प्रेगनेंसी के बाद वजन बढ़ जाने पर मेथी दाने का प्रयोग करने से वजन धीरे-धीरे कम होने लगता है.
  • मेथी का सेवन करने से महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन की वृद्धि होने लगती है. इससे स्तनपान कराने वाली माताओं के दूध में वृद्धि होती है.
  • महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा उचित होने पर महिलाओं के ब्रेस्ट साइज में आवश्यक वृद्धि समय से हो जाती है. यह महिलाओं के सौंदर्य से संबंधित होता है.
  • मासिक धर्म के दौरान होने वाली जलन , दर्द और बेचैनी में मेथी दाने का प्रयोग करने से काफी लाभ प्राप्त होता है.
  • महिलाओं को मेनोपॉज के दौरान होने वाले दर्द जलन और बेचैनी जैसी परिस्थिति में मेथी दाने का प्रयोग काफी लाभदायक रहता है.
  • मेथी में मौजूद सेपोनिन्स और डायोसजेनिन शरीर में सेक्स हार्मोन बढ़ाते हैं जिससे महिलाओं की कामेच्छा बढ़ती है.

मेथी दाना खाने के अन्य फायदे

 मेथी के पत्तों और मेथी दाने के ऐसे जबरदस्त फायदे होते हैं जिन्हें जानकर आप वास्तव में मेथी खाना शुरू कर सकते हैं.

वजन कंट्रोल करें

मोटापा और वजन बढ़ने से कई बीमारियां होती हैं. इनमें से कुछ प्रमुख मधुमेह और हृदय रोग हैं. कई मामलों में ओवरईटिंग की वजह से भी मोटापा होता है.

हालांकि, अध्ययनों से पता चलता है कि फाइबर वजन घटाने में मदद करता है. चूंकि मेथी फाइबर में उच्च होती है, यह अपने भूख मिटाने वाले गुणों के लिए जानी जाती है. 

नतीजतन, इस कारण से यह फूड क्रेविंग की समस्या को नियंत्रित करने में मदद करती है. इसके अतिरिक्त, यह आपको अधिक खाने से रोकता है और वजन कम करने में आपकी मदद करता है.

एंटीऑक्सीडेंट गुण

मेथी एंटीऑक्सीडेंट का एक समृद्ध स्रोत है। इनमें विटामिन सी, विटामिन ए और बीटा कैरोटीन होता है। शरीर में फ्री रेडिकल्स खराब चयापचय क्रियाओं से उत्पन्न होते हैं, जो दुर्भाग्य से मानव शरीर रचना में कोशिकाओं और अंगों को नुकसान पहुंचाते हैं.

यह कोशिका क्षति कई स्वास्थ्य विकारों को उत्पन्न करने का कार्य करते हैं.  मेथी में एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों द्वारा कोशिका क्षति को रोक सकते हैं और इससे कैंसर और संक्रमण जैसी अवस्थाएं रुकती हैं . कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि मेथी में मौजूद फाइबर हमारे लिए असाधारण रूप से फायदेमंद है.

गैस्ट्रिक विकारों को रोकता है

शोध से पता चलता है कि मेथी में मौजूद फाइबर आंत के अनुकूल अच्छे बैक्टीरिया के लिए भोजन के रूप में काम करता है.वे आंतों से पानी को अवशोषित करते हैं और आंतों को नरम करते हैं.

इसलिए, इससे उन्हें मलत्याग करना आसान हो जाता है. मेथी के पत्ते अपच को रोकने में भी मदद करते हैं. इसके अलावा, यह कब्ज और सूजन के जोखिम को कम करता है.

मधुमेह के लिए फायदेमंद

मधुमेह एक अनियमित जीवन शैली की बीमारी है जो विभिन्न कारकों के कारण होती है। कुछ सामान्य कारण आनुवंशिक और अनुचित आहार हैं. यदि यह बिगड़ जाता है, तो इसके कई प्रतिकूल परिणाम होते हैं - घाव भरने में देरी, नेफ्रोपैथी, न्यूरोपैथी इत्यादि.

अध्ययनों से पता चलता है कि मेथी ग्लूकोज को नियंत्रित करने में मदद करती है। 4HO-Ile मेथी में मौजूद एक एमिनो एसिड है जिसमें एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं.

यह इंसुलिन स्राव को उत्तेजित करता है और इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाता है. इसलिए, यह स्थिर रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है. इस प्रकार मेथी टाइप 2 मधुमेह की रोकथाम में मदद कर सकती है.

क्लॉटिंग डिसऑर्डर को रोकता है

मेथी में फिनोल होता है। यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो रक्त के थक्के बनने से रोकने में मदद करता है.
रक्त के थक्के रक्त परिसंचरण में बाधा डालते हैं, महत्वपूर्ण अंगों को रक्त की आपूर्ति में बाधा डालते हैं. दुर्भाग्य से, यह अंततः हृदय संबंधी विकारों की ओर भी ले जाता है.

त्वचा और बालों का स्वास्थ्य

मेथी के पत्तों में विटामिन सी होता है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो सूजन की बीमारी को रोकते हैं.  
विटामिन सी कोलेजन संश्लेषण को भी उत्तेजित करता है जो आपकी त्वचा को मजबूती देता है. 

इस प्रकार, यह झुर्रियों को रोकता है और एंटी एजिंग इफेक्ट दिखाता है. मेथी प्रयोग करने वाला व्यक्ति उम्र में कम लगने लगता है.
इसमें हीलिंग गुण भी होते हैं. इसमें म्यूसिलेज होता है और यह शुष्क त्वचा को मॉइस्चराइज भी कर सकता है.

ओमेगा-3 और -6 फैटी एसिड कूपिक सूजन को रोकते हैं जो बालों के झड़ने को रोकता है. वे बालों के विकास को भी बढ़ावा देते हैं. मेथी में प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड की मात्रा होती है.  इसलिए, सही आहार का उपयोग बालों के झड़ने और रूसी को रोकने में मदद कर सकता है.

एंटी कैंसर गुण

कई कारक कैंसर का कारण बनते हैं. कैंसर के अंदर कोशिका सामान्य रूप से नहीं बनती है बल्कि अत्यधिक तीव्र गति से आवश्यकता से अधिक कोशिकाओं का विकास होने लगता है, जो ऑक्सीडेटिव तनाव, आनुवंशिकी आदि के कारण हो सकता है.

मेथी में संभावित एंटीकार्सिनोजेनिक गुण हो सकते हैं. मेथी में मौजूद सैपोनिन्स कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकता है.
अध्ययन से पता चलता है कि यह कोलन और प्रोस्टेट कैंसर में प्रभावी हो सकता है.  इसके अलावा, उन्होंने ल्यूकेमिया और हड्डी के कैंसर में लाभ नजर आता है.

गुर्दे की कार्यक्षमता में सुधार करता है

गुर्दे की पथरी अनियमित और फास्ट फूड आहार की आदतों के परिणामस्वरूप होती है. यह ऑक्सालिक एसिड और कैल्शियम हाइड्रॉक्सीप्रोलाइन जैसे अन्य कारकों के कारण भी होता है.

अध्ययनों से पता चलता है कि एंटीऑक्सिडेंट गुर्दे की पथरी को रोकते हैं.  मेथी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट उनके स्तर को कम करने और गुर्दे की पथरी बनने से रोकने में मदद कर सकते हैं.

इसके अतिरिक्त, मेथी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मदद करते हैं. यह गुर्दे में कैल्शियम के जमाव को रोकता है, जो गुर्दे के ऊतकों की चोट को नुकसान पहुंचाता है.

लीवर की सुरक्षा करता है

मेथी लीवर में रेडिकल सेल की चोट को कम कर सकती है. शराब और नुकसानदायक आहार से लीवर खराब हो सकता है.  इसके परिणाम स्वरूप लीवर सिरोसिस हो सकती है.

अध्ययनों से पता चलता है कि मेथी एंजाइम की गतिविधियों को कम करके सिरोसिस के खतरे को कम कर सकती है, जिससे लिवर को नुकसान से बचाया जा सकता है.

एंटीमाइक्रोबियल गुण

मेथी के अर्क में रोगाणुरोधी गुण होते हैं और इस प्रकार, बैक्टीरिया के गुणन को सीमित करते हैं अर्थात बैक्टीरिया की तेजी से बढ़ने की रफ्तार को रोकता है. इसलिए, यह शक्तिशाली बैक्टीरिया से सुरक्षा प्रदान करने की क्षमता रखता है.
अध्ययनों से पता चलता है कि मेथी में डिफेंसिन एक अन्य सहायक घटक है. यह कवक के प्रसार को रोकता है. जीवाणुरोधी प्रभाव घाव तेजी से भरने में मदद करते हैं.

हड्डी का स्वास्थ्य

मेथी कैल्शियम, मैग्नीशियम और विटामिन डी का एक समृद्ध स्रोत है. ये हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं. वे हड्डियों को मजबूत करते हैं और हड्डियों में चोट लगने या क्षति होने पर तेजी से रिकवर करने में मदद करते हैं. इसलिए, वे हड्डी संबंधी विकारों को रोक सकते हैं.

डायोसजेनिन मेथी में एक यौगिक है. शोध बताते हैं कि यह ऑस्टियोक्लास्ट के संश्लेषण को रोकता है.
ऑस्टियोक्लास्ट हड्डी को नुकसान करने वाली कोशिकाएं हो सकती हैं, जिसका अर्थ है कि वे हड्डी के ऊतकों को तोड़ती हैं.ऑस्टियोपोरोसिस एक विकार जो आपकी हड्डियों को नाजुक बनाता है और फ्रैक्चर होने का खतरा होता है.

मेथी से नुकसान

मेथी खाने के फायदे और नुकसान दोनों ही होते हैं. मेथी के नुकसान की बात करें तो मेथी के कोई बहुत अधिक नुकसान नहीं होते हैं. अगर किसी व्यक्ति को मेथी से एलर्जी है तो मेथी खाने के नुकसान नजर आ सकते हैं.

  • मेथी खाने से दस्त की समस्या नजर आ सकती है.
  • बहुत से लोगों को मेथी खाने से एलर्जी हो जाती है.
  • कुछ लोगों को सूजन और गैस की समस्या मेथी खाने से होती है.
  • कभी-कभी मेसी खाने से खांसी की समस्या भी नजर आती है.
  • गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान मेथी लेने से पहले अपने डॉक्टर से अवश्य पूछना चाहिए.
  • जिन लोगों को अस्थमा जैसी प्रॉब्लम है उन्हें संभलकर मेथी का प्रयोग करना चाहिए.

मेथी दाना कैसे खाएं

मेथी दाना खाने के बहुत सारे तरीके होते हैं.

  • मेथी दाने को डाल सब्जियों में डालकर खाया जा सकता है.
  • विभिन्न प्रकार के मसाले तैयार करते समय मेथी दाना उसके अंदर एक कंटेंट हो सकता है.
  • सुबह शाम आधा-आधा चम्मच मेथी दाने को पानी के साथ खाया जा सकता है इसके प्रभाव अच्छे नजर आएंगे. पानी के स्थान पर दूध का भी प्रयोग किया जा सकता है.
  • एक चम्मच मेथी दाना रात को 100ml पानी के अंदर भिगोकर रख दें, और सुबह उस पानी का खाली पेट सेवन करें. यह सबसे अच्छा तरीका माना जाता है. साथ ही साथ मेथी दाने को चबा चबा कर खा ले.

सिर्फ 1 महीने मेथी का पानी पीने के फायदे

मेथी दाना या मेथी का पानी पीने के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ नजर आते हैं स्वास्थ्य लाभ की एक लंबी श्रृंखला हमने अपने इस आर्टिकल में आपको दी है. इसके अंदर हमने मेथी दाने के फायदे की डिटेल चर्चाएं की है.

मेथी दाना एक मसाला है, और काफी कम कीमत में भी बाजार में आसानी से उपलब्ध हो जाता है. सिर्फ 1 महीना मेथी दाना मेथी का पानी पीने के फायदे की बात करें तो कोई विशेष फायदे आपको नजर नहीं आएंगे.

आयुर्वेद के अनुसार किसी भी भोजन का फायदा या आयुर्वेदिक औषधि का फायदा शरीर में 40 दिन के बाद नजर आता है.

 ऐसे में मात्र 30 दिन में आप किसी मिरेकल की कल्पना करें तो यह सही नहीं है.

हालांकि आपको जो जो फायदे इस आर्टिकल में मेथी दाने के या मेथी पानी के बताए गए हैं. वह सभी फायदे आपको नजर आएंगे, लेकिन बहुत अधिक फायदे आपको नजर नहीं आएंगे.

इसके लिए आपको कम से कम 40 दिन से लेकर 3 महीने तक इसका प्रयोग करना होगा, तभी आप मेथी पानी की पूर्ण रूप से फायदे देख पाएंगे.


एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने