Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

मंगलवार, 25 जून 2019

आयुर्वेदिक नुस्खे से पुत्र प्राप्ति - शिवलिंगी के बीज और पुत्रजीवक बीज

नमस्कार दोस्तों आज के इस वीडियो में हम उन दंपतियों के लिए एक उम्मीद लेकर आए हैं जिनके यहां पर पहले से ही दो या दो से ज्यादा पुत्रियां हैं और वह एक पुत्र की इच्छा रखते हैं
दोस्तों हमारा उद्देश्य यह बिल्कुल भी पुत्र और पुत्री में तुलना करने का नहीं है क्योंकि पुत्र और पुत्री आज के समय में दोनों बराबर हैं तो ऐसे में अगर किसी के यहां पुत्र हैं व पुत्रियों की इच्छा रखते हैं और वहीं अगर उनके यहां पहले से कोई पुत्री है तो वह पुत्र की इच्छा रखते हैं

ladka ho, beta paida ho, santan, putra, pregnancy tips


दोस्तों आज हम एक आयुर्वेदिक योग के विषय में आपको बताने जा रहे हैं, यह योग पुत्र प्राप्ति में बहुत कारगर होता है यह पुत्र प्राप्ति के जो chance हैं जो संभावनाएं हैं उसे बढ़ा देता है.


अगर आप पुत्र प्राप्ति की इच्छा रख रहे हैं तो आपके सामने यह आयुर्वेदिक औषधि है जिसके अंदर दो प्रकार के बीज आपको चाहिए होंगे जो बड़ी ही आसानी से आपको बाजार में किसी भी पंसारी के यहां पर या जड़ी बूटी विक्रेता के यहां पर मिल जाएंगे बस आपको ध्यान यह रखना है कि यह बहुत ज्यादा पुराने और इन में कीड़े नहीं होने चाहिए

आपको बाजार से बराबर बराबर मात्रा में शिवलिंगी के बीज और पुत्रजीवक बीज लेकर आना है और लगभग आपको 25-25 ग्राम की मात्रा में दोनों को पर्चेज करना है,

इन्हें आपको अच्छे से बारीक कूट लेना है, और कपड़े से छान लेना है आप की औषधि तैयार हो गई है, कोशिश करें इसे आप खरल या सिलबट्टा अर्थात पत्थर से ही पीसे |



manchahi santan prapti, santan prapti ke saral upay


और इसके आप 21 बराबर बराबर हिस्से कर लें यह आप की 21 दिन की औषधि तैयार हो गई है,
इस औषधि को आपको खाली पेट अर्थात सुबह के समय गाय या बकरी के दूध से लेना है और ध्यान रखें इसे खाने के बाद दो-तीन घंटे आप कुछ ना खाएं इसे अच्छे से अपने शरीर में पचने ने दें

कुछ सावधानियां रखें जो कि सभी पुत्र प्राप्ति की औषधि में रखी जाती है आपका पाचन तंत्र एकदम से मजबूत होना चाहिए अगर मजबूत नहीं है तो पहले आप उसे ठीक करें 10 दिन पहले से ही तला भुना तीखा चटपटा खाना छोड़ दें साधारण और सुपाच्य भोजन ही ग्रहण करें.
You May Also Like : प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के फायदे
You May Also Like : पुत्र प्राप्ति में स्वर विज्ञान का योगदान


यह आयुर्वेदिक औषधि महिलाओं के लिए है

महिला इस औषधि को सुबह के समय सूरज निकलने से पहले रोज सभी कार्यों से निवृत्त होने के बाद भगवान शिव के स्मरण के बाद पुत्र प्राप्ति की इच्छा कर, इसका सेवन करें

आजकल बकरी का दूध मिलना तो मुश्किल होता है लेकिन गाय का दूध मिल जाता है गाय का दूध उस गाय का होना चाहिए जिसके नीचे बछड़ा हो अर्थात वह बछड़े की माता हो, उसने पुत्र जन्म दिया हो |

putrajeevak beej, formula for gender control

You May Also Like : गर्भावस्था में मछली के तेल के फायदे
You May Also Like : गर्भावस्था में अनार खाने के क्या फायदे है

साथ ही साथ अगर पुरुष भी शिवलिंगी के बीज का 2 ग्राम चूर्ण रोज महिला की तरह सुबह के समय लेते हैं, सभी उन नियमों का पालन करते हुए जो महिलाओं के लिए बताए गए हैं तो इससे पुरुष के स्पर्म बढ़ते हैं स्तंभन शक्ति बढ़ती है Y क्रोमोसोम स्ट्रांग और एक्टिव हो जाते हैं

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें