गर्भ में लड़का होने के संकेत – गर्भ में पुत्र या पुत्री 1 संकेत

0
549

आज हम गर्भ में लड़का होने के संकेत को लेकर बात कर रहे हैं. ऐसे कौन-कौन से छोटे-छोटे समाज में संकेत माने जाते हैं जिससे यह आईडिया लगाया जाता है कि महिला के गर्भ में लड़का है या लड़की है


दोस्तों भारत देश में ही नहीं अपितु पूरे संसार में जेंडर प्रेडिक्शन के लिए बहुत सारे तरीके अपनाए जाते हैं. दूसरे
देशों में कुछ ऐसे तरीके अपनाए जाते हैं, जो बहुत ही अजब गजब होते हैं. 

गर्भ में लड़का होने के संकेत को लेकर जो भी उपाय यहां बताए जा रहे हैं. यह बिल्कुल किसी भी गर्भवती महिला के लिए हानिकारक नहीं है.
इन उपायों में बिल्कुल भी किसी भी प्रकार का जोखिम महिलाओं को नहीं होता है, ना ही उन्हें कुछ खाना है, ना ही उन्हें कुछ पीना है, ना ही कोई एक्टिविटी करनी है.
मात्र अलग तरीके से ही गर्भ में लड़का होने के संकेत को लेकर उपाय किए जाते हैं.
 आज हम उन्हीं तरीकों पर चर्चा करने जा रहे हैं. आप भी इन तरीकों से गर्भ में लड़का होने के संकेत या लड़की होने के संकेत प्राप्त कर सकते हैं. गर्भ में बेटी या बेटा होने के 4 लक्षण  लेकर हम यहां चर्चा कर रहे हैं.
गर्भ में लड़का होने के संकेत - गर्भ में पुत्र या पुत्री कैसे पता करें

गर्भ में लड़का होने के संकेत

 चाबी के गुच्छे से जेंडर प्रिडिक्शन

इस विधि से पता करने के लिए आपको तीन चार चाबियां गर्भवती महिला के सामने रख दे, और बिना सोचे समझे महिला से एक चाबी उठाने के लिए बोले.

हम सभी जानते हैं, चाबी का एक भाग पतला और एक भाग चौड़ा होता .अगर महिला पतले वाले हिस्से से पकड़कर चाबी को उठाती है, तो यह गर्भ में लड़का होने का संकेत है.
वहीं अगर महिला चाबी उठाते समय उसका चौड़ा भाग पकड़कर उठाएं तो महिला को एक लड़की होगी.

यह एक फनी तरीका है.  इस तरीके को अपनाकर आप किसी भी निर्णय पर नहीं पहुंच सकते हैं. इसलिए मात्र इस तरीके को अपनाकर अपने आने वाले बच्चे का इंतजार करें और देखें क्या यह तरीका आपके लिए कारगर था.

You May Also Like : महिला के चलने, उठने बैठने से कैसे पता करे गर्भ में लड़का है या लड़की
You May Also Like : प्रेग्नेंट होने के तुरंत बाद यह लक्षण आते हैं गर्भ में लड़का या लड़की

छोटे बच्चे द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन

 

पुराने जमाने में एक फनी ट्रिक और प्रयोग में लाई जाती थी. जिसके द्वारा जेंडर प्रेडिक्शन किया जाता था. अगर एक छोटा
बच्चा जो कि लड़का है. उसे गर्भवती महिला के समीप लाया जाता है.

वह अगर गर्भवती महिला की पेट में दिलचस्पी दिखाता है, तो गर्भ में एक लड़की है और अगर वह दिलचस्पी नहीं दिखाता
है तो यह गर्भ में लड़का होने का संकेत है.

जेंडर प्रिडिक्शन का डाइनिंग टेबल तरीका

आप अपनी डाइनिंग टेबल की दो कुर्सियों के नीचे एक के नीचे फोटो कांटा और दूसरी कुर्सी के नीचे एक चम्मच रख दे, यह बात गर्भवती महिला को पता नहीं होनी चाहिए.

अब गर्भवती महिला को भोजन करने के लिए बुलाएं और उसे इन दोनों में से एक चेयर पर बैठने के लिए बोले अगर महिला उस चेयर पर बैठती है जिसके नीचे चम्मच है. वह महिला को लड़की होगी. अगर महिला उस चेयर पर बैठी है, जिसके नीचे कांटा रखा हुआ है, जो महिला एक पुत्र को जन्म देगी. अर्थात गर्भ में लड़का होने का संकेत है.

You May Also Like : गर्भ में शिशु की हलचल कब कम हो जाती है क्या कारण है
You May Also Like : यह सपने बताते हैं घर में पुत्र होगा या पुत्री

गर्भवती महिला के पहले बच्चे द्वारा जेंडर प्रिडिक्शन

यह परीक्षण उन गर्भवती महिलाओं पर लागू होता है जिनके पहले से ही बच्चे हैं। यदि आपके सबसे छोटे बच्चे का पहला शब्द
“मम” था तो आप एक लड़की हो। अगर उनका पहला शब्द “पिताजी” था –
यह एक लड़का है !!

दोस्तों महिला के शरीर में आने वाले लक्षणों को देखकर हम शायद इस बात का पता लगाने की महिला के घर में कौन सी संतान है लेकिन दोस्तों यह भी उतना ही जरूरी है कि हमें उसके स्वास्थ्य का संपूर्ण ध्यान रखना है, उसके पोषण का विशेष ध्यान रखना आवश्यक होता है.  

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें