Header Ads

प्रेग्नेंसी के समय बुखार क्यों आता है - Pregnancy time me fever kyo aata hai


प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी महिला को बुखार आने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं. अगर हम उन कारणों को जान जाएंगे, हम थोड़ा सा ध्यान रखेंगे तो बुखार की समस्या से हमें राहत मिल सकती है.

Pregnancy time me fever kyo aata hai


प्रेग्नेंसी के समय किसी भी महिला के शरीर का इम्यून सिस्टम थोड़ा सा कमजोर हो जाता है क्योंकि प्रेगनेंसी होने पर इम्यून सिस्टम का काम डबल हो जाता है वह महिला के शरीर के साथ-साथ बच्चे की देखभाल और उसकी प्रतिरक्षा करने का कार्य भी करता है और बच्चे की रक्षा, प्रतिरक्षा उसका पहला कार्य होता है. और दूसरा कार्य उसका आपकी शरीर की सुरक्षा होता है.

छोटा-मोटा संक्रमण अगर शरीर को लगता है तो शरीर का प्रतिरोध क्षमता उससे निपट लेती है. लेकिन अगर प्रेग्नेंसी के समय छोटा-मोटा संक्रमण लगता है तो शरीर उससे निपट नहीं पाता है और उस संक्रमण की वजह से शरीर में अनचाहे बैक्टीरिया पैदा हो जाते हैं और बुखार की समस्या हो जाती है .

कुछ कारण है जिसकी वजह से प्रेगनेंसी में बुखार आने की समस्या हो सकती है


मूत्रमार्ग का संक्रमण:  

गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिलाओं को यूरिनरी ट्रैक्ट इनफेक्शन होने की आशंका रहती है. यह मूत्र मार्ग में होने वाला संकरण कहलाता है. इसकी वजह से 
ब्लड आ सकता है, ठंड लगती है.बुखार की समस्या हो सकती है.वैसे अक्सर यह होता नहीं है लेकिन इसका खतरा प्रेगनेंसी में बना रहता है.

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में एनीमिया के लक्षण - आयरन की कमी
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान आवश्यक योगा
इन्हें भी पढ़ें : तीसरे महीने प्रेगनेंसी के लक्षण
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान सांस की तकलीफ को कैसे कम किया जा सकता है

इंफ्लुएंजा : 

गर्भावस्था में हृदय, प्रतिरक्षा प्रणाली और फेफड़ों में परिवर्तन होता है. इसलिए, गर्भवती महिलाओं को फ्लू होने पर बुखार होने की संभावना तथा दूसरे प्रकार की समस्याओं का डर लगा रहता है.

preganensee mein bukhaar aane ke kya-kya kaaran hote hain

सर्दी-जुकाम :  

अगर गर्भावस्था है तो सर्दी जुखाम के माध्यम से भी बुखार की संभावना बनी रहती है. इस दौरान गले में खराश, सांस लेने में कठिनाई, नाक बहना आदि समस्याएं हो सकती हैं, अगर यह सब काफी दिन तक होता रहता है, तो आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए.


पायरो वायरस : 

यह एक दुर्लभ किस्म का वायरस है जो लगभग 5% से भी कम महिलाओं को होता है, अगर यह वायरस महिलाओं को लग जाता है, तो इससे बुखार आने की संभावना रहती है. तथा दूसरे प्रकार की दिक्कतें जैसे कि गले में खराश, जुखाम, दर्द इत्यादि भी नजर आ सकते हैं.


लिस्टेरियोसिस : 

भोजन या दूषित पानी से लिस्टेरियोसिस होने की आशंका रहती है. इसमें तेज बुखार, मतली मांसपेशियों में दर्द, गले में सूजन, दर्द, दस्त आदि की समस्या देखने में आती है.

No comments

Powered by Blogger.