प्रेगनेंसी में केसर के फायदे और नुकसान | Pregnancy me Saffron ke Fayde, Nuksan

0
121
प्रेगनेंसी में केसर के फायदे और नुकसान

आज हम प्रेगनेंसी में केसर के फायदे और नुकसान को लेकर बात कर रहे हैं हम सभी जानते हैं कि जैसे ही महिला गर्भवती हो जाती है उसे तरह-तरह के सजेशंस मिलने लगते हैं यह करो, वह करो, ऐसा करो, ऐसा नहीं करो, यह खाओ, वह नहीं खाओ, बहुत कुछ इस तरह से कभी-कभी महिला बहुत ज्यादा कंफ्यूज हो जाती है कि उसे क्या करना चाहिए.
खैर इस सब से तो नहीं बचा जा सकता है लेकिन हम आपको एक खाद्य पदार्थ जिसे बहुत ज्यादा खाने को बोला जाता है जिसका नाम है केसर, इसे सेफ्रॉन के नाम से भी जाना जाता है,
हम चर्चा करेंगे ——–

प्रेगनेंसी में केसर के फायदे  ,केसर की हानि, दुष्प्रभाव

प्रेगनेंसी में केसर के फायदे और नुकसान

इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था में सोडायुक्त पेय और सॉफ्ट ड्रिंक्स पीना सुरक्षित है

इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था के दौरान चाट, गोलगप्पे और स्ट्रीट फूड खाना सुरक्षित है

इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी में मूंगफली खा सकते हैं जानिए

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में गुड़ खाने के फायदे नुकसान

Namo Organics Original Kashmiri Kesar

Namo Organics Original Kashmiri Kesar

LION BRAND SAFFRON

LION BRAND SAFFRON

Kapiva Kashmiri Kesar

Kapiva Kashmiri Kesar

प्रेगनेंसी में केसर के फायदे – Pregnancy me saffron ke fayade

  • केसर खाने के काफी सारे फायदे प्रेगनेंसी के दौरान होते हैं. मुख्यतः केसर इसलिए खाया जाता है ताकि बच्चा गोरा पैदा हो. इसके अलावा भी काफी सारे केसर खाने के फायदे प्रेगनेंसी के दौरान होते हैं.
  • दोस्तों केसर मूड स्विंग की समस्या में काफी राहत देता है. लेकिन यह मूड स्विंग की समस्या शुरू के 3 महीने में ज्यादा रहती है और शुरू के 3 महीने में केसर को नहीं खाना चाहिए इसलिए इस समस्या में यह ज्यादा फायदेमंद नहीं. अगर यह समस्या 3 महीने के बाद भी रहती है, तब आपके केसर का प्रयोग करके इसे सही कर सकते हैं.
  • जैसे-जैसे गर्भ के अंदर शिशु का विकास होता है वैसे वैसे शरीर में खिंचाव ऐठन दर्द होना स्वाभाविक है केसर इस समस्या में राहत प्रदान करता है.
  • महिला को 3 महीने के बाद भी अक्सर जी मिचलाना, उल्टी आना सुस्ती, महसूस जैसी समस्याएं नजर आती है तो इन सब समस्याओं को दूर करने में केसर काफी मददगार होता है.
  • केसर में पोटैशियम और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जिससे कोलेस्ट्रोल का स्तर संतुलित रहता है और हृदय संबंधी समस्याओं का खतरा कम हो जाता है.
  • केसर शरीर के अंदर आयरन की मात्रा को बढ़ाता है जिसकी वजह से एनीमिया जैसी समस्या नहीं आती है.
  • गर्भावस्था में नींद की समस्या से सभी महिलाएं परेशान रहती हैं. ऐसे में रात को सोते समय केसर वाला दूध पीने से आपको अच्छी नींद आएगी और आप चैन से सो पाएंगी.
  • प्रेगनेंसी के दौरान महिला की त्वचा पर तरह तरह की समस्याएं नजर आती हैं लगभग 12 समस्याएं हमने अपने एक वीडियो के अंदर बताई थी अगर आप केसर का सेवन सही तरीके से कर रही हैं अपने डॉक्टर की सलाह पर तो आपको त्वचा संबंधी परेशानियों में काफी राहत नजर आएगी.
  • केसर को अपने भोजन में शामिल करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में काफी वृद्धि होती है. इसकी वजह से किसी भी प्रकार का संक्रमण शरीर में जल्दी से नहीं लगता है.
  • गर्भावस्था के दौरान शरीर में होने वाले हार्मोन परिवर्तन की वजह से दातों की समस्याएं नजर आने लगती है केसर का प्रयोग करने से दांतों की समस्याएं दूर होने लगती हैं.

यह थे प्रेगनेंसी में केसर के फायदे आइए चर्चा करते हैं प्रेगनेंसी में केसर के नुकसान को लेकर…….

इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में ये एक चीज खाएंगे तो गारंटी बच्चा स्मार्ट होगा 
इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था में अंडा खा सकते हैं – Step by Step Information 
इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था में पास्ता खाना चाहिए 
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान पिस्ता का सेवन सुरक्षित है या नहीं

केसर के साइड इफेक्ट – Pregnancy me saffron ke Nuksan

गनेंसी के दौरान केसर का इस्तेमाल करने से कुछ समस्याएं आपको नजर आ सकती हैं

यह आपके शरीर के तापमान को बढ़ाता है इसलिए इसे कम मात्रा में ही लेना उचित रहता है.

केसर की वजह से पहले 3 महीने में गर्भपात का खतरा बहुत ज्यादा होता है. इसलिए शुरू के 3 महीने के time बिल्कुल भी ना ले और बाद के महीनों में भी संयमित मात्रा में ही लेना चाहिए.

इसके कारण महिलाओं के शरीर में संवेदनशीलता बढ़ सकती है. जिसकी वजह से घबराहट, जी मिचलाना, मुंह सूखना, सर दरद जैसी समस्याएं आपको नजर आ सकती हैं.

कभी-कभी केसर का इस्तेमाल करने से उल्टियां भी हो सकती है ऐसा करने पर डॉक्टर से मिले
और कुछ लक्षण है,जिनके नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए.

जैसे कि पलके, होंठ और नाक से रक्त आना
शरीर का सुन्न होना
आंखों के आगे अंधेरा छा जाना
चक्कर आना
शरीर में पीलापन
मल मूत्र त्यागने में रक्त आना ना
वैसे इनका कारण तो कुछ भी हो सकता है लेकिन अगर आप केसर खा रहे हैं केसर तो खाना तुरंत बंद करें और डॉक्टर से मिले.

Q. गर्भवती महिला के लिए केसर के फायदे क्या-क्या है?

Ans: गर्भवती महिलाओ केसर 3 महीने से लेकर 9 महीने लगभग लेना चाहिए. शुरू के 3 महीने केसर लेने में सावधानी रखें. केसर गर्भवती महिला और महिला के गर्भ शिशु को त्वचा संबंधी समस्याओं में काफी लाभ देता है.

  • यह पाचन क्रिया मजबूत बनाता है.
  • ब्लड प्रेशर को कंट्रोल लगता है.
  • मॉर्निंग सिकनेस की समस्या ठीक करें.
  • नए खून को बनाने में मदद करता है.
  • हृदय रोगों से बचाव.
  • नींद को बढ़ावा.
  • एलर्जी से लड़ता है.
  • बच्चे के संपूर्ण विकास में मदद करता है, और
  • त्वचा संबंधी समस्याएं ठीक करता है.

Q. प्रेगनेंसी में किस महीने से केसर के दूध का सेवन करें?

Ans: प्रेगनेंसी में केसर वाला दूध 3 महीने से लेकर 9 महीने तक पीने की सलाह दी जाती है.  शुरू के 3 महीने केसर वाला दूध पीने से बचना चाहिए. अगर आपको गर्भपात की समस्या आ रही है, या पहले रही है, तो आप डॉक्टर की सलाह पर इसका
प्रयोग करें.

Q. प्रेगनेंसी में केसर वाला दूध कब पीना चाहिए?

Ans: प्रेगनेंसी में केसर वाला दूध रात को खाना खाने के 1 घंटे बाद और सोने से 1 घंटे पहले देना पीना उचित रहता है.

Q. एक गिलास दूध में कितना केसर डालना चाहिए

Ans: एक गिलास दूध के अंदर केसर के 3 से 4 रेशे पर्याप्त होते हैं. लगभग एक चुटकी केसर डालना सही रहता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें