Header Ads

क्या प्रेगनेंसी में पालक खाना चाहिए | Should you eat spinach during pregnancy

 

पालक की सब्जी काफी पोस्टिंग मानी जाती है, क्या इस सब्जी को प्रेगनेंसी के दौरान खाना चाहिए या नहीं खाना चाहिए इसके संबंध में हम आपको बहुत कुछ बताने वाले हैं इसके लाभ हानि के संबंध में चर्चा करेंगे. जिससे आप बड़ी आसानी से इस बात का पता लगा सकते हैं कि आपको अपनी प्रेगनेंसी में पालक की सब्जी खानी चाहिए या नहीं खानी चाहिए.

क्या प्रेगनेंसी के समय पालक खाना चाहिए
पालक हम किस समय से खा सकते हैं
पालक में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं
पालक को अपने भोजन में कैसे शामिल

 

क्या प्रेगनेंसी के समय पालक खाना चाहिए पालक हम किस समय से खा सकते हैं पालक में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं पालक को अपने भोजन में कैसे शामिल

प्रेग्नेंसी के दौरान मां को ज्यादा मात्रा में पोषक तत्वों की जरुरत होती है. मां के द्वारा खायी गई चीजों से ही गर्भ में पल रहे शिशु का संपूर्ण विकास होता है, और इसलिए यह बेहद ज़रूरी है कि प्रेग्नेंसी के दौरान आप जो भी चीजें खाएं वह पौष्टिक और फ़ायदेमंद हो ताकि शिशु को संपूर्ण पोषण मिल सके.


किसी के लिए पालक भी एक पौष्टिक खाद्य पदार्थ माना जाता है. पालक के पत्ते और तने को अपने भोजन में शामिल किया जाता है. 

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में अंगूर फायदेमंद या खतरा
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में अमरूद खाने के फायदे और नुकसान
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में अंजीर खाने के फायदे और नुकसान
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में सेब खाने के फायदे और नुकसान
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में मछली खाती है तो इन बातों का ध्यान रखें

क्या प्रेगनेंसी के समय पालक खाना चाहिए - Kya Pregnancy Me Palak khana Chaheye

प्रेगनेंसी के दौरान पालक को खाया जा सकता है इसके पौष्टिक गुणों की वजह से यह प्रेगनेंसी में खाना काफी फायदेमंद माना जाता है.

पालक हम किस समय से खा सकते हैं - Pregnancy me Palak Kab Khaye

पालक एक हरी सब्जी है पत्तेदार सब्जी है इसके अंदर आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है जिसकी आवश्यकता किसी भी गर्भवती स्त्री को पहले दिन से ही होती है और यह अत्यधिक सुपाच्य भी होता है इस वजह से प्रेगनेंसी के पहले दिन से ही अर्थात कभी भी आप अपने भोजन में सुबह के समय या शाम के समय पालक का इस्तेमाल कर सकती हैं. बस आपको पालक से किसी भी प्रकार की एलर्जी नहीं होनी चाहिए.

पालक में कौन कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं - Pslak ke Poshak Tatva

पालक को आयरन के लिए जाना जाता है अगर आयरन की कमी होती है तो इसे खाना बताया जाता है लेकिन आपको हम बता दें प्रोटीन भी पालक के अंदर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है.

अगर आप 100 ग्राम पालक की बात करते हैं तो उसके अंदर 23 ग्राम प्रोटीन, 4 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 3 ग्राम आयरन पाया जाता है. साथ ही 100 ग्राम पालक के अंदर 99 एमजी कैल्शियम और 194 एमसीजी फोलिक एसिड भी होता है 100 ग्राम पालक के अंदर 23 किलो कैलोरी भी होती है.

पालक के अंदर दूसरे प्रकार के पोषक तत्व भी होते हैं जैसे कि विभिन्न प्रकार के खनिज लवण मैग्नीशियम, विटामिन ए, विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन सी, फोलिक एसिड और विटामिन के इत्यादि.

भोजन में कैसे शामिल करें - Pregnancy me Palak Kaise Khaye

पालक को कई प्रकार से अपने भोजन में शामिल किया जा सकता है
आप दाल में पालक डालकर पालक दाल बना सकते हैं.
पालक का साग भी बनाया जाता है.
पालक की भुजिया भी बनाई जाती है या तो आप केवल पालक की भुजिया बना ले या आलू डालकर पालक की भुजिया बना सकती हैं.
पालक के पराठे बनाकर भी खाए जाते हैं.
विशेष अवस्थाओं में पालक के जूस का प्रयोग भी महिलाएं अपनी प्रेगनेंसी के दौरान कर सकती हैं.
यह कुछ तरीके हैं जिनकी जिनकी सहायता से आप पालक का प्रयोग अपने भोजन में कर सकती हैं

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में गुड़ खाते हैं इन बातों का ध्यान रखें
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में केला खाने को लेकर जरूरी जानकारी
इन्हें भी पढ़ें : क्या अनार का जूस या अनार प्रेगनेंसी में लेना सुरक्षित है
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में 1 दिन में कितना कीवी खा सकते है
इन्हें भी पढ़ें : दूसरे महीने गर्भावस्था का ध्यान कैसे रखें

क्या सावधानी रखें - Pregnancy me Palak khane me Savdhani

अधिक पुराना पालक अपने भोजन में शामिल नहीं करना चाहिए ताजा कटावा पालक की अपने भोजन में शामिल करें.

सब्जी बनाने से पहले पालक को अच्छी तरह से साफ कर ले. उसके ऊपर किसी भी प्रकार की केमिकल का छिड़काव हो सकता है जो आपको नुकसान दे सकता है.

ऐसा पालक विषाक्त हो सकता है जिसे किसी केमिकल फैक्ट्री के आसपास की जमीन में उगाया गया हो ऐसे पालक का जूस तो जहर के समान है.

पालक के बहुत सारे फायदे होते हैं इस चक्कर में बासी सब्जी न खाएं.

No comments

Powered by Blogger.