Header Ads


Pregnancy Care items

An ancient way to make sanitizer from Sushruta Samhita

हम सैनिटाइजेशन के एक प्राचीन तरीके पर चर्चा करने जा रहे हैं यह सैनिटाइजेशन का तरीका, नेगेटिविटी को दूर करने का तरीका सुश्रुत संहिता के अंदर से लिया गया है.
इसका प्रयोग हम आजकल स्वयं अपने घर पर भी कर रहे हैं तो हम आपको यह दिखाएंगे इसका प्रयोग कैसे किया जाता है . वैसे तो इसे हमने तैयार कर लिया है लेकिन इस को तैयार करने का तरीका भी हम आपको बता देंगे. बहुत ही ज्यादा आसान है.

मिश्रण को तैयार करने में प्रयुक्त सामग्री या जड़ी बूटियां
मिश्रण  को तैयार करने का तरीका
कैसे इसका प्रयोग सैनिटाइजेशन और नेगेटिवइटी को दूर करने के लिए करें.
कहां कहां इसका प्रयोग किया जा सकता है.



दोस्तों यह आपके सामने वह मिश्रण है आयुर्वेदिक मिश्रण हैं जो सैनिटाइजेशन के उद्देश्य से हमने तैयार किया है.
आजकल सैनिटाइजेशन के लिए लिक्विड का प्रयोग करना बताया जा रहा है, जिसमें अल्कोहल होता है. यह जरूरी नहीं है, कि मात्र लिक्विड से ही आप सैनिटाइज अपने आप को या अपने घर को सैनिटाइजेशन कर सकते हैं. आप इस प्रकार की गैस या धुएं भी अपने घर को सैनिटाइज कर सकते हैं, जो हमारे लिए घातक वायरस को समाप्त करने का कार्य कर सकते हैं.

 

An ancient way to make sanitizer from Sushruta Samhita


आपने देखा होगा कि अधिकतर गर्मियों के मौसम में नगरपालिका की एक गाड़ी आती है जो धुएं को छोड़ते हुए चलती है और जिससे डेंगू के मच्छर का विनाश होता है, और दूसरे प्रकार के घातक वायरस भी समाप्त होते हैं. यह भी कुछ उसी प्रकार से कार्य करता है.

सैनिटाइजर में प्रयोग होने वाली सामग्री

इसके अंदर जो भी सामग्री प्रयोग हो रही है यह किसी भी जड़ी-बूटी विक्रेता के यहां बड़ी आसानी से आपको मिल जाएगी जैसे कि हमें प्राप्त हुई है.

इसके लिए मात्र सात आयुर्वेदिक वस्तुओं की जरूरत है जिसमें 


गुग्गुल
अगर - अगरू
राल जो धूप में प्रयोग होती है
पीली सरसों
सेंधा नमक
नीम के पत्ते और
गाय का घी


यह सभी के सभी आपको किसी भी जड़ी-बूटी विक्रेता के यहां आसानी से प्राप्त हो जाएंगे. कोशिश कीजिए आपको पिसी हुई मिले ताकि आपको कूटना ना पड़े वरना आप घर पर ही इन वस्तुओं को कूट पीट सकते हैं और बारीक बना सकते हैं.

इन सभी वस्तुओं को आप 25-25 ग्राम लेकर कूट पीसकर मिला ले . सरसों और गाय का घी आपको ऐसे ही मिलाना है जो भी मिश्रण तैयार होगा वह आपके सामने हैं जो हमने तैयार किया है. नीम के पत्ते भी आपको बाजार में मिल सकते हैं हमने भी बाजार से ही परचेस किए.

सैनिटाइजर का प्रयोग कैसे करें

घर को सैनिटाइज करने का तरीका इसके दो तरीके हैं पहला तो
गाय का कंडा यह गाय के गोबर से इंधन होता है उसे आग पर गर्म कीजिए, और इस मिश्रण को उसके ऊपर रखकर पूरे घर में घुमाइए. उससे जो धुआ निकलेगा, वह आपके घर को सैनिटाइज करेगा, जो भी दूषित कीटाणु होंगे आपके घर में नेगेटिविटी होगी, किसी भी प्रकार की नेगेटिविटी हो वह दूर हो जाएगी. घर में पॉजिटिविटी का विस्तार होगा.

 अब जरूरी नहीं कि आपको गाय का कंडा मिल ही जाए. इसके लिए आप एक छोटी सी लोहे की कढ़ाई or दूसरा बर्तन ले सकते हैं, जिसके अंदर आप इस मिश्रण को आधा चम्मच डालकर नीचे आग पर गर्म करें. यह धीरे-धीरे स्वयं ही जलने लगेगा, और धुआ उठने लगेगा.

इसे आप अपने घर में घुमा दे एक बार सुबह और एक बार श्याम के समय. हम आपको पहले तरीके से इसी करके बता रहे हैं.

पहले तरीके से इसी करके बता रहे हैं. यह देखिए चूल्हे के ऊपर गाय का कंडा गर्म हो चुका है. इसे कड़ाई में रखकर या कोई और बर्तन जो भी आपके पास हो मिश्रण डालकर पूरे घर में इस प्रकार से घुमाइए.

सैनिटाइजर के लाभ

सबसे पहले तो इस के धुएं में ऐसे गुण होते , कि किसी भी प्रकार का संक्रमण वायरस आपके घर में उपस्थित है , तो वह स्वयं ही इसके धुए से नष्ट हो जाता है. चाहे वह आपके शरीर पर हो आप के कपड़ो पर हो या घर में किसी भी अन्य जगह पर हो दूसरी बात घर में किसी भी प्रकार की नेगेटिव एनर्जी का वास अगर है, तो वह इस दोहे को सहन नहीं कर पाती है, और घर से निकल जाती है. घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह बढ़ने लगता है.

No comments

Powered by Blogger.