Header Ads


Pregnancy Care items

प्रेगनेंसी में चावल खाना | प्रेगनेंसी में चावल खाने के फायदे और नुकसान

आज चर्चा कर रहे हैं प्रेगनेंसी के दौरान चावल खाए जाने को लेकर

क्या प्रेगनेंसी में चावल खाया जाना चाहिए.
प्रेगनेंसी में चावल खाने के क्या फायदे हो सकते हैं.
प्रेगनेंसी में चावल खाने के क्या नुकसान हो सकते हैं.
कौन सा चावल बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए.

प्रेगनेंसी में चावल खाना

चावल हमारे भोजन का एक महत्वपूर्ण अंग है. इसके बारे में आप को पूर्ण रूप से जानकारी होनी चाहिए. 


दोस्तों भारत में एक बड़ी आबादी का मुख्य भोजन चावल है, और जहां तक एक गर्भवती स्त्री की बात है, तो काफी हद तक चावल गर्भवती महिला के लिए सुरक्षित माना जाता है. लेकिन फिर भी हम कहना चाहेंगे महिला को प्रेगनेंसी के दौरान चावल कम से कम ही खाने चाहिए. हम ऐसा क्यों कह रहे हैं, इस पर हम आगे चर्चा करें

किस स्थिति में चावल नहीं खाना चाहिए. कौन सा चावल नहीं खाना चाहिए, इस बात पर चर्चा करें उससे पहले चावल खाने के फायदे और नुकसान के विषय में बात करते हैं.

चावल खाने के फायदे

  1. अक्सर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान यूरिन इन्फेक्शन की समस्या नजर आती है. अगर महिला चावल का सेवन करती है, तो इस प्रकार की समस्या में काफी कमी देखने को मिलती है.


  2. चावल में उचित मात्रा में कैल्शियम और आयरन होता है. इसके कारण महिला को प्रेगनेंसी के दौरान पीठ में होने वाले दर्द, जोड़ों में दर्द आदि समस्या में काफी राहत मिलती है.


  3. चावल के अंदर अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है, जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करने का कार्य करता है. अर्थात महिला का शरीर ऊर्जावान बना रहता है.

  4. चावल एक अत्यधिक सुपाच्य भोजन है, और गर्भावस्था के दौरान कब्ज की समस्या अक्सर महिलाओं को नजर आती ही है. ऐसे में चावल कब्ज की समस्या को दूर करने में भी मदद करता है.


  5. चावल के अंदर कोलेस्ट्रॉल बिल्कुल भी नहीं पाया जाता है. इसलिए यह भोजन को संतुलित रखता है.


  6. चावल के अंदर एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत रखने का कार्य करते हैं. इस वजह से संक्रमण की समस्या में कमी आती है.


  7. चावल के अंदर सोडियम नाममात्र का होता है, इसलिए यह रक्तचाप से ग्रस्त महिलाओं के लिए उचित खाद्य पदार्थ माना जाता है.

चावल खाने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं

चावल के अंदर वजन को बढ़ाने की काफी क्षमता होती है, जो महिलाएं मोटापे का शिकार हैं उन्हें प्रेग्नेंसी के समय चावल नहीं खाने चाहिए.  

चावल के अंदर हाई ग्लाइसेमिक होता है, जो मधुमेह से ग्रसित गर्भवती महिला के लिए ठीक नहीं होता है.

प्रेगनेंसी के दौरान क्रेविंग के चलते कभी-कभी महिला को कच्चे चावल खाने की इच्छा होने लगती है. वैसे देखा जाए तो कोई नुकसान नहीं है. लेकिन आजकल कीटनाशक का स्थान बहुत ज्यादा होता है. इस कारण इनसे काफी नुकसान हो सकता है.

हाल ही में एक रिसर्च के द्वारा यह सिद्ध हुआ है, कि चावल का पौधा जमीन से आर्सेनिक को अच्छी मात्रा में सोखता है , जिसके कारण चावल के अंदर आर्सेनिक की मात्रा आवश्यकता से ज्यादा होती है. गर्भवती स्त्री और गर्भवत शिशु के लिए काफी हानिकारक तत्व होता है. इसलिए भी चावल को कम खाना बताया जाता है. यह शिशु के मस्तिष्क पर प्रभाव डाल सकता है.

प्रेगनेंसी के दौरान कितना चावल खाया जाना चाहिए. इसको लेकर अभी तक किसी भी प्रकार की रिसर्च उपलब्ध नहीं है. बस इतना समझ लीजिए, आप नॉर्मल समय में जितना चावल खाते हैं. उससे कम ही चावल खाए या फिर आप अपने डॉक्टर से संबंध में सलाह करें. आपके शरीर में आने वाले लक्षणों को देखकर भी इसकी मात्रा निहित की जा सकती है.

कौन सा चावल बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए.

प्रेगनेंसी के दौरान इस बात का भी ध्यान रखें, कि आपको रखे हुए चावल नहीं खाने हैं. अर्थात ठंडे चावल खाने से परहेज करना है. साथ ही साथ आपको बासी चावल का भी प्रयोग अपने भोजन में नहीं करना है.

प्रेगनेंसी के दौरान पॉलिश क्या हुआ चावल बिल्कुल भी नहीं खाना चाहिए. यह काफी नुकसान देते हैं. चावल ही नहीं बल्कि कोई भी दाल पर पॉलिश की गई हो, उसे भी अपने भोजन में शामिल नहीं करना चाहिए.

No comments

Powered by Blogger.