प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के फायदे और नुकसान

0
134

प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज खाने को लेकर चर्चा करने जा रहे हैं.
हम बात करेंगे —

क्या प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज खाना चाहिए?
गर्भावस्था के दौरान एक दिन में कितना तरबूज खा सकते हैं?
गर्भावस्था की कौन सी तिमाही में तरबूज खाना चाहिए?
तरबूज के पोषक तत्व,
तरबूज खाने में क्या सावधानी रखें.
गर्भावस्था में कैसे खाएं तरबूज.
प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज के फायदे और नुकसान दोनों को लेकर भी बात करेंगे.

इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी में मट्ठा (छाछ) पीना चाहिए

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के फायदे

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में नारियल पानी का फायदा

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में पपीता खाए कि नहीं

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में लीची का सेवन सुरक्षित है या नहीं

क्या प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज खाना चाहिए

दोस्तों बहुत सारे ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जो बहुत ज्यादा पौष्टिक होते हैं
लेकिन प्रेगनेंसी के दौरान नहीं खाए जाते और हम अनजाने में उन्हें पौष्टिक
मानकर खाते रहते हैं जो हमें नुकसान दे सकते हैं.

लेकिन जहां तक प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज खाने की बात है तो यह एक काफी पौष्टिक खाद्य
पदार्थ है. मिनरल्स का खजाना माना जाता है. तासीर में ठंडा होता है. इसलिए
यह प्रेग्नेंसी में खाया जा सकता है.

Pro360 MOM Nutritional Supplement for Pregnant

Pro360 MOM Nutritional Supplement for Pregnant

Protein for Pregnant Women - BabyGrowth

Protein for Pregnant Women – BabyGrowth

Mothers Horlicks - Health & Nutrition drink

Mothers Horlicks – Health & Nutrition drink

गर्भावस्था के दौरान एक दिन में कितना तरबूज खा सकते हैं

जहां तक प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज खाए जाने का सवाल है तो कोई भी गर्भवती
स्त्री 1 दिन में एक कप तरबूज के टुकड़े रोज खा सकती है तरबूज काफी
फायदेमंद फल है लेकिन प्रेगनेंसी में अधिक नहीं खाना चाहिए.

गर्भावस्था की कौन सी तिमाही में तरबूज खाना चाहिए

तरबूज एक बादी फल माना जाता है और यह प्रेगनेंसी के दौरान अधिक नहीं खाना चाहिए.
प्रेगनेंसी के दौरान बहुत से फल जो पहली, दूसरी तिमाही में फायदा करते
हैं, वह तीसरी तिमाही में नुकसान कर सकते हैं. किसी भी प्रकार की रिसर्च
तरबूज को लेकर उपलब्ध नहीं है. इसलिए आप अपने डॉक्टर से पूछे तो काफी सही
रहेगा.

अगर आपका डॉक्टर भी इसमें असमर्थ है तो आप दूसरे तिमाही  से
ही खाना शुरू करें क्योंकि पहली तिमाही में शिशु थोड़ा कमजोर होता है और
दूसरी तिमाही तक आते-आते काफी मजबूत हो जाता है.

तरबूज के पोषक तत्व

तरबूज के अंदर मिनरल्स तो काफी सारे होते हैं, लेकिन इसके अंदर आपको पानी,
ऊर्जा, प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट, फाइबर और शुगर भी प्राप्त होगा.

मिनरल्स की बात करें तो कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम,
कॉपर, मैगनीज, मिलेनियम इत्यादि मिनट के अंदर होते हैं.

विटामिंस की भी काफी अच्छी मात्रा इसने पाई जाती है. इसके अंदर आपको विटामिंस में
विटामिन सी, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी सिक्स, फॉलेट
,विटामिन ए, विटामिन ई, इत्यादि प्राप्त होंगे. विटामिन के के अंदर होता
है.

तरबूज को खाने में रखी जाने वाली सावधानियां

तरबूज किसी भी गर्भवती स्त्री को खाने के लिए हमेशा पका हुआ अंदर से गहरे लाल रंग का तरबूज एक चुनना चाहिए.

तरबूज को काटने से पहले उसे अच्छे प्रकार से धो लें तभी उसका सेवन करें.

कभी भी बाजार से कटा हुआ तरबूज नहीं लाए.

महिला को कभी भी रखा हुआ तरबूज नहीं खाना चाहिए.

रात के समय तरबूज नहीं खाना है.

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में अमरूद खाने के जबरदस्त फायदे

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में कब दूध पीना चाहिए और कब नहीं पीना चाहिए

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में नींबू खाने के नुकसान और फायदे

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के दौरान खजूर खाने के फायदे और नुकसान क्या क्या होते हैं

इन्हें भी पढ़ें : कीवी खाने के फायदे और नुकसान

गर्भावस्था में कैसे खाएं तरबूज

तरबूज का जूस निकालकर प्रयोग किया जा सकता है

उसको ऐसे ही काट कर काला नमक मिलाकर भी खाया जा सकता है

तरबूज की स्मूदी बनाकर ही अपने भोजन में शामिल किया जा सकता है

सलाद के तौर पर भी तरबूज लिया जा सकता है

Advantages and disadvantages of eating watermelon in pregnancy

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में गुड़ खाने के फायदे नुकसान

इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था में पास्ता खाना चाहिए

इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था के दौरान चाट, गोलगप्पे और स्ट्रीट फूड खाना सुरक्षित है

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान किन खाद्य पदार्थों का सेवन सुरक्षित नहीं है

इन्हें भी पढ़ें : क्या गर्भावस्था में सोडायुक्त पेय और सॉफ्ट ड्रिंक्स पीना सुरक्षित है

प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के फायदे

  • तरबूज की खास बात यह होती है कि यह ठंडी प्रकृति का होता है. इस वजह से यह प्रेगनेंसी के दौरान महिला को होने वाली एसिडिटी, जलन से काफी राहत पहुंचाने का कार्य करता है. बार-बार सीने में होने वाली जलन में राहत मिलती है.
  • अक्सर देखा जाता है कि प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के हाथ पैर में सूजन की समस्या हो जाती है. जिसे एडिमा कहा जाता है. तरबूज के अंदर anti-inflammatory गुण पाए जाते हैं. यह सूजन को कम करने में मदद कर सकता है.
  • अक्सर गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को मूत्र मार्ग में संक्रमण की शिकायत रहती है तरबूज वहां की काफी फायदेमंद होता है यह संक्रमण को कम करने में मदद करता है.
  • तरबूज के अंदर बहुत अच्छी मात्रा में पानी पाया जाता है इसके एवं से महिला को डिहाइड्रेशन की समस्या में काफी राहत मिलती है शरीर में तरलता बनी रहती है.
  • अक्सर महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस की समस्या नजर आती है तरबूज खाने से मॉर्निंग सिकनेस की समस्या में कमी देखी गई है.
  • तरबूज के अंदर कैल्शियम फॉस्फोरस मैग्नीशियम आदि तत्वों काफी अच्छी मात्रा में होते हैं जो बच्चे की हड्डियों के विकास में काफी महत्वपूर्ण होते हैं तरबूज का सेवन करने से मां और बच्चे दोनों की हड्डियां मजबूत बनती है.
  • तरबूज मिनरल्स का खजाना होता है इस कारण से यह बहुत सारे कार्यों में फायदा करता है. अक्सर देखा गया है कि महिलाओं की त्वचा प्रेगनेंसी के दौरान अपनी चमक खो देती है, और काफी सारी स्किन प्रॉब्लम नजर आने लगती है. ऐसे में तरबूज इन सभी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है.
  • जैसा कि हमने पिछले वीडियो में बताया है कि तरबूज के अंदर फाइबर और पानी अच्छी मात्रा में होता है. इसी कारण से यह कब्ज की समस्या में तुरंत राहत देने का कार्य करता है. यह शरीर में तरलता बनाए रखता है.
  • तरबूज के अंदर काफी अच्छी मात्रा में मिनरल्स और विटामिन होते हैं जिसके बल पर यह है गर्भवती स्त्री की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने का कार्य करता हैं.  इसकी वजह से छोटे-मोटे रोग महिला को नहीं लगते हैं संक्रमण में भी राहत मिलती है.

इन्हें भी पढ़ें : क्या गाजर खाना प्रेगनेंसी में सुरक्षित है

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी की कर रही है प्लानिंग तो अभी से खाना शुरू कर दें ये 7 चीजें

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में शहद का सेवन कितना फायदेमंद

इन्हें भी पढ़ें : क्या प्रेगनेंसी में घी खाना फायदेमंद होता है

इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में दही खाना चाहिए कि नहीं खाना चाहिए

 प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के नुकसान

  • प्रेगनेंसी के दौरान अगर महिला को खांसी जुखाम की समस्या है बुखार की समस्या है तो महिला को तरबूज नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह ठंडी प्रकृति का होता है.
  • अगर किसी भी गर्भवती महिला को तरबूज से एलर्जी है तो उसे तरबूज का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए.
  • अगर कोई भी गर्भवती स्त्री मधुमेह की समस्या से पीड़ित है तो तरबूज खाने से उसे अवश्य नुकसान होगा.
  • तरबूज में विटामिन सी की मात्रा अधिक होती है अधिक मात्रा शरीर में चले जाने के कारण कभी-कभी पेट में ऐठन और मरोड़ की समस्या उत्पन्न हो सकती है.
  • तरबूज में नियासिन नाम का विटामिन होता है अगर आप तरबूज ज्यादा खा लेंगे तो यह कभी-कभी मतली और मॉर्निंग सिकनेस की समस्या को बढ़ा सकता है. साथ ही यह लीवर पर भी असर डालता है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें