Header Ads


Pregnancy Care items

पुत्र प्राप्ति के किन तरीकों को वैज्ञानिक भ्रम बताते हैं आइए जानते हैं | myths of having a son in womb

 हमारे समाज में माना जाता है कि पुत्र हमारे वंश को आगे बढ़ाता है. इसलिए किसी भी माता-पिता के यहां एक संतान के रूप में पुत्र का होना आवश्यक माना जाता है. 


दोस्तों यह एक सामाजिक मान्यता है और समाज में काफी सारे एक्सपीरियंस के आधार पर और संतान प्राप्ति के पैटर्न को देखते हुए काफी सारे तरीके पुत्र प्राप्ति के बताए जाते हैं. लेकिन वैज्ञानिक दृष्टिकोण से काफी सारे तरीकों को मात्र भ्रम बताकर खारिज कर दिया गया है. आज हम आपसे ऐसे ही कुछ तरीकों पर चर्चा करेंगे, जिन्हें पुत्र प्राप्ति के लिए मात्र भ्रम बताया जाता है.

दोस्तों लड़का हो या लड़की दोनों ही आजकल समान दृष्टि से देखे जाते हैं, लेकिन कहीं-कहीं सामाजिक मान्यताओं के आधार पर कभी-कभी पुत्र प्राप्ति को वरीयता दी जाती है.

पुत्र प्राप्ति के मिथक


टाइट कपड़े पहनना

वैज्ञानिकों के अनुसार टाइट कपड़े पहनने का किसी भी प्रकार से कोई संबंध संतान प्राप्ति को लेकर नहीं होता है. उनका कहना है कि ऐसा कुछ भी नहीं है कि अगर आप टाइट कपड़े पहनेंगे तो आपके यहां लड़का पैदा नहीं होगा और अगर आप ढीले ढाले कपड़े पहनेंगे तो आपके यहां लड़का पैदा होगा. 


हालांकि यह बात भी मानी जाती है कि पुत्र प्राप्ति के लिए रिस्पांसिबल वाई क्रोमोसोम थोड़ा कमजोर होता है, और गर्मी कम सहन कर पाता है. लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि टाइट कपड़े पहनने से वह निष्क्रिय हो जाता है.  बहुत से ठंडी जगहों पर लड़के और लड़कियां दोनों प्राप्त होती हैं और वही अत्यधिक गर्म स्थानों पर भी दंपत्ति के यहां लड़का और लड़की दोनों पैदा होती हैं.  हो सकता है, थोड़ा बहुत फर्क पड़े लेकिन उसे नकारा जा सकता है.

बीड़ी सिगरेट या नशा करना

आप इंटरनेट के माध्यम से बहुत सारी ऐसी पोस्ट देखते होंगे या यूट्यूब पर भी आपको ऐसी बहुत सारी पोस्ट नजर आती है, कि जिस ने कहा जाता है कि अगर आपको पुत्र रत्न की प्राप्ति करनी है, तो आपको बीड़ी सिगरेट या किसी भी प्रकार के नशे को छोड़ चली का आवश्यक है. 


छोड़ना अत्यधिक आवश्यक है. हालांकि नशा करने से पुरुष के शुक्राणु की गुणवत्ता में कमी आ सकती है, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि जो व्यक्ति नशा करता हो बीड़ी सिगरेट पीता हो उसके यहां पुत्र संतान की प्राप्ति नहीं होती है. ऐसे बहुत सारे लोग आपको अपने आसपास मिल जाएंगे जहां पर वह नशा करते हैं और उनके पुत्र होता है.  


ऐसा हो सकता है कि बीड़ी सिगरेट या नशा करने से प्रजनन क्षमता पर प्रभाव पड़ता है और ऐसा भी हो सकता है कि आपके यहां संतान पैदा होने में मुश्किल हो, लेकिन यह जेंडर को डिसाइड नहीं करता है.

गर्म पानी के नहाने से लड़की पैदा होती है

चाय या कॉफी पीने से पुत्र की प्राप्ति

समाज में ऐसा प्रचलित है कि अगर मिलन से पहले लगभग 30 मिनट पहले चाय या कॉफी का सेवन करते हैं तो इससे उनकी स्पर्म को ऊर्जा मिलती है. खासकर पुत्र रत्न प्राप्ति वाले स्पर्म अत्यधिक मजबूत और गतिशील हो जाते हैं.
अगर डॉक्टर्स की मानें तो यह कोरा भ्रम है. ऐसा कुछ भी नहीं होता है वैसे भी आयुर्वेद के अनुसार किसी भी खाद्य वस्तु का असर 40 दिन के बाद आता है, और यहां पर तो मात्र 30 दिन मिनट पहले ली गई वस्तु से  पुत्र प्राप्ति जैसा बड़ा दावा किया जा रहा है.

गर्म पानी के नहाने से लड़की पैदा होती है

माना जाता है यह बात समाज में काफी ज्यादा प्रचलित है, कि जिस दंपत्ति को पुत्र रत्न प्राप्ति की आवश्यकता होती है. उसे गर्म पानी से बिल्कुल नहीं नहाना चाहिए. खासकर पुरुष को, क्योंकि गरम पानी के नहाने से वाई क्रोमोसोम जोकि पुत्र रत्न प्राप्ति के लिए जिम्मेदार होते हैं. वह कमजोर हो जाते हैं मर जाते हैं. 


यह बात सही है कि वाई क्रोमोसोम एक्स क्रोमोसोम की तुलना में कमजोर होता है लेकिन ऐसा भी नहीं है कि अगर आप हल्के गर्म पानी से नहाएंगे तो वह नष्ट हो जाएगा. पहाड़ी क्षेत्र में हर व्यक्ति गर्म पानी से ही रहता है ठंडे पानी से नहाना मुश्किल होता है और वहां पर भी लड़के पैदा होते हैं. यह भी कोरा भ्रम है.

No comments

Powered by Blogger.