प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है – प्रेगनेंसी का पता कैसे चलता है

0
69
प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है

प्रेगनेंसी का पता कैसे चलता है, या प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है. यह सवाल बहुत सारी महिलाओं के लिए काफी बचकाना हो सकता है.

लेकिन जो महिलाएं पहली बार मां बन रही है, उनके लिए यह प्रश्न काफी महत्वपूर्ण होता है. क्योंकि अनुभव ना होने की वजह से वह कभी-कभी इस बात का आईडिया नहीं लगा पाती है, कि वह गर्भवती है या गर्भवती नहीं है.

कुछ महिलाएं पहली बार मां बन रही होती है, लेकिन उन्हें प्रेगनेंसी से संबंधित सैद्धांतिक ज्ञान होता है जो उनकी काफी मदद करता है.

यह ज्ञान उन्हें अपने परिवार की किसी महिला से या अपने किसी मित्र से या मेडिकल फील्ड में होने की वजह से या जिज्ञासा बस जानकारी एकत्र करने की इच्छा से उन्हें हो जाता है.

लेकिन काफी महिलाएं इस विषय में जानकारी नहीं रखती हैं उन्हीं के लिए यह जानकारी हम यहां प्रस्तुत कर रहे हैं.

प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है

प्रेगनेंसी होने के लिए सबसे पहले एक महिला को एक पुरुष के संपर्क में आना अत्यधिक आवश्यक होता है. जहां उनके मिलन से महिला को गर्भ धारण होता है.

हालांकि हर बार मिलन से हर मंथली साइकिल में महिला को प्रेगनेंसी नहीं होती है. कुछ विशेष परिस्थितियों में ही महिला गर्भवती होती है. जब पुरुष का स्पर्म महिला के शरीर में उस वक्त उपस्थित होता है जब महिला का Ovulation Time होता है, उस वक्त ही प्रेगनेंसी होती है. और यह पूरी एक मंथली साइकल में मात्र 24 से 48 घंटे का समय होता है.

इसलिए महिला प्रेग्नेंट हो चुकी है, या प्रेग्नेंट नहीं है. इस संबंध में सही जानकारी नहीं होती है.
प्रेग्नेंट होने पर महिला के शरीर में कुछ विशेष परिवर्तन होने शुरू हो जाते हैं. उन्हीं को जांच परख कर या कुछ विशेष टेस्ट करके ही प्रेगनेंसी को कंफर्म किया जाता है.

आइए चर्चा करते हैं प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है, ताकि इसे और अच्छे से समझा जा सके.

पीरियड मिस होना

प्रेग्नेंसी के समय सबसे पहला परिवर्तन महिला के शरीर में यही होता है, कि महिला के पीरियड मिस हो जाते हैं. अगर प्रेगनेंसी है तो पीरियड मिस हो जाएंगे.

लेकिन यह बात भी उतनी ही सत्य है, कि अगर पीरियड मिस हो गए हैं तो यह जरूरी नहीं होता है कि प्रेगनेंसी है. बिना प्रेगनेंसी के भी महिला के पीरियड मिस हैं. अनबैलेंस हारमोंस की वजह से भी पीरियड मिस होने की समस्या होती है, तो
इसलिए एक कन्फ्यूजन रहता है, कि क्या वह वास्तव में गर्भवती है.

जब महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हारमोंस बनने लगते हैं तो महिला को कुछ लक्षण नजर आते हैं. उन्हें लक्षणों को देखकर या महसूस करके प्रेगनेंसी को कंफर्म किया जा सकता है.

प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है – लक्षण

प्रेगनेंसी होते ही महिला के शरीर का शरीर गर्भ शिशु के लिए बहुत जोरों शोरों के साथ तैयारी शुरू कर देता है और कुछ विशेष लक्षण नजर आने लगते हैं. प्रेगनेंसी कितने दिन में पता चलती है. इसे समझने के लिए इन लक्षणों को जान लेते हैं. बात करते हैं प्रेगनेंसी का पता कैसे चलता है.

  • प्रेगनेंसी होते ही महिला के शरीर में खून का दौरान बढ़ जाता है, और महिला के शरीर में खून की मात्रा भी बढ़ने लगती है. इस प्रोसेस के कारण महिला के शरीर में अधिक मूत्र इकट्ठा होने लगता है और महिला को बार बार पेशाब जाने की
    आवश्यकता होती है.
  • कुछ महिलाओं की ब्रेस्ट में भारीपन महसूस होने लगता है या उन्हें दबाने पर हल्का सा दर्द भी नजर आने लगता है. यह शरीर में बढ़ाने वाले प्रेगनेंसी हार्मोन की वजह से होता है लेकिन यह समस्या धीरे-धीरे ठीक हो जाती है.
  • महिलाओं को उल्टी जैसा महसूस होना या उल्टी आना मुंह का स्वाद खराब होना यह सब नजर आने लगता है यह भी बढ़ते हुए प्रेगनेंसी हारमोंस का असर है.
  • कई महिलाओं को अपने सूंघने की क्षमता में अंतर नजर आता है. असल में सूंघने की क्षमता बढ़ जाती है.
  • कभी-कभी कुछ महिलाओं को पेट में हल्का सा दर्द भी महसूस होता है.
  • अब धीरे-धीरे महिलाओं को कब्ज की समस्या शुरू हो जाएगी. कुछ महिलाओं को दस्त लग जाते हैं.
  • कभी-कभी महिलाओं को अपने शरीर का तापमान बढ़ा हुआ सा लगता है.
  • थकावट सी महसूस होती है. मन अच्छा नहीं रहता है ऐसा सब महसूस होता है.

यह सब लक्षण इसलिए आते हैं, क्योंकि महिला का शरीर इन हारमोंस के प्रति सेंसिटिव होता है, जितना अधिक सेंसेटिव,  महिला का शरीर इन हारमोंस के प्रति रहेगा, लक्षण उतनी ही ज्यादा रहेंगे.

लेकिन कुछ महिलाओं का शरीर हारमोंस के प्रति ना के बराबर सेंसिटिव होता है, तो उन महिलाओं को यह लक्षण भी नजर नहीं आते हैं.

इस परिस्थिति में क्या किया जाए ?

प्रेगनेंसी का पता कैसे चलता है

अगर महिला को लगता है कि वह गर्भवती हो सकती है तो फिर पीरियड मिस हो जाएंगे महिला को लगभग पीरियड मिस होने के लगभग एक हफ्ते बाद प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से अपनी प्रेगनेंसी चेक करनी चाहिए उस वक्त वह बहुत आसानी से
अपनी प्रेगनेंसी का पता लगा सकती है.

अगर पीरियड प्रेगनेंसी के कारण मिस हो गए होते हैं, तो पीरियड मिस होने वाले दिन तक महिला की प्रेगनेंसी 1 महीने की मानी जाती है.

5 दिन पीरियड्स माने जाते हैं और उसके बाद 5 दिन आप इंतजार कीजिए, लगभग 10 दिन हो गए हैं.
अब आप प्रेगनेंसी टेस्ट किट के माध्यम से प्रेगनेंसी चेक कर सकते हैं. लगभग 40 दिन बाद आप प्रेगनेंसी चेक करेंगे तो इस वक्त तक महिला के शरीर में प्रेगनेंसी हारमोंस प्रचुर मात्रा में उपलब्ध रहते हैं. और वह महिला के यूरिन में भी रहते हैं. इस वक्त प्रेगनेंसी टेस्ट किट से प्रेगनेंसी चेक करने पर आपको प्रेगनेंसी की सही स्थिति ज्ञात हो जाएगी. आप जान पाएंगे कि
आप गर्भवती हैं या नहीं है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें