Pregnancy & Care

Everything about Pregnancy and after care.

गुरुवार, 25 जुलाई 2019

क्या प्रेगनेंसी में गुड़ खाना चाहिए

प्रैग्नेंसी का अहसास हर औरत के लिए सुखद और खुशी से भरा होता है। घर में आने वाले नन्हें मेहमान की खबर सुनकर पूरा परिवार खुश होता है। ऐसे में प्रैग्नेंट महिला की देखभाल से लेकर उसके खान-पान का पूरा ध्यान रखा जाता है, प्रैग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपनी डाइट का खास ख्याल रखना पड़ता है। इस दौरान उनके शरीर को सभी पोषक तत्वों की जरूरत होती है जिससे डिलीवरी के बाद कमजोरी नहीं आती। आज हम चर्चा करेंगे की प्रेगनेंसी में गुड़ खाना चाहिए कि नहीं खाना चाहिए। गुड़ में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं। गुड़ कब से खाना चाहिए।
jaggery benefits
You May Also Like : प्रेगनेंसी में जेंडर प्रेडिक्शन की 5 अजब गजब ट्रिक्स
You May Also Like : शिवलिंगी से पुत्र प्राप्ति का यह उपाय अचूक मन जाता है - बाँझ महिला को भी पुत्र होता है

गुड़ कैल्शियम का बढ़िया स्रोत है। मैग्नीशियम, पोटैशियम, कैल्शियम और आयरन दोनों ही गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद होते हैं। ऐसे में प्रेगनेंसी पीरियड्स में गुड़ जरूर खाना चाहिए। गन्ने में पाए जाने वाले पोषक तत्व, मिनरल्स और विटामिन्स गुड़ में वैसे ही मौजूद रहते हैं। जिस वजह से यह मोतियाबिंद, कैंसर, हार्ट डिसीज और दूसरी बिमारियों को दूर करने में मदद करता हैं। इसके अलावा गुड़ स्किन के लिए भी काफी ज्यादा फायदेमंद हैं। इसमें एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो, फ्री रेडिकल्स सेल्स को नष्ट करते हैं और स्किन को लम्बे समय तक जवान बनाये रखता हैं। गर्भवती महिलाओं को सातवें महीने से गुड़ खाना चाहिए। गुड़ में आयरन होता हैं जो होने वाले बच्चे के वजन और स्वास्थ्य को बेहतर बनाता हैं।

गर्भावस्था के समय गुड़ खाने के फायदे होने वाले बच्चे के लिए अच्छा गुड़ में फोलेट प्रचुर मात्रा में होता हैं जो प्रेगनेंसी पीरियड में आपको हेल्दी बनाये रखता हैं। साथ ही यह भ्रूण के विकास में अहम् योगदान भी देता हैं।
खून की कमी से बचाता है   
गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिला को खून की कमी हो जाती है, इसलिए अगर इस वक़्त महिला गुड़ का सेवन करे तो उनमें खून की कमी पूरी होती है क्यूंकि गुड़ खाने से रेड ब्लड सेल्स बनते हैं जिससे खून की कमी तो पूरी होती ही है बल्कि इम्युनिटी भी बढ़ती है।

सूजन होता है कम 
कई बार गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में सूजन की परेशानी देखी जाती है इसलिए इस वक़्त अगर महिलाएं गुड़ का सेवन करे तो उन्हें सूजन की परेशानी से राहत मिल सकती है। गुड़ में मिनरल और पोटैशियम होता है जो शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है और पोटैशियम के कारण शरीर में इलेक्ट्रोलाइट की संतुलित मात्रा बनी रहती है जिस कारण सूजन या दर्द में राहत मिलती है।
You May Also Like : क्या गर्भावस्था में सोडायुक्त पेय और सॉफ्ट ड्रिंक्स पीना सुरक्षित है
You May Also Like : क्या गर्भावस्था के दौरान चाट, गोलगप्पे और स्ट्रीट फूड खाना सुरक्षित है




jaggery health benefits

पानी की कमी
गर्भावस्था के दौरान अगर शरीर में पानी की कमी हो जाए तो काफी परेशानी हो जाती है। ऐसे में गुड़ में मौजूद मिनरल्स और पोटेशियम शरीर में पानी की कमी नहीं होने देते। इसके अलावा यह हाथों-पैरों में होने वाली सूजन को भी कम करता है।

खून की शुद्धता
गुड़ खाने से खून शुद्ध होता है और यह ना सिर्फ होने वाली माँ के लिए फायदा करता है बल्कि शिशु के लिए भी काफी अच्छा होता है क्यूंकि गर्भावस्था के दौरान होने वाली माँ जो कुछ भी खाती है उसका डायरेक्ट असर पेट में पल रहे शिशु पर भी होता है और आपका शिशु स्वस्थ होता है ।

जोड़ो के दर्द से आराम दिलाये प्रे
गनेंसी पीरियड में गुड़ खाने से हड्डियाँ मजबूत बनती हैं, जिससे घुटनों आदि में मजबूती आती हैं। इसके सेवन से जोड़ो के दर्द और अकड़न को कम करने में मदद मिलती हैं। जोड़ो में दर्द होने की शिकायत ज्यादातर गर्भवती महिलाओं को रहती हैं, जिसे गुड़ खा कर दूर किया जा सकता हैं।
You May Also Like : क्या प्रेगनेंसी में मूंगफली खा सकते हैं जानिए
You May Also Like : क्या गर्भावस्था में पास्ता खाना चाहिए


प्रतिरोधक क्षमता 
प्रैग्नेंसी के दौरान शरीर की प्रतिरोधक क्षमता होने लगती है। ऐसे में गुड खाना काफी लाभकारी होता है।

ब्लड प्रैशर कंट्रोल
कुछ महिलाओं को इस दौरान ब्लड प्रैशर की समस्या हो जाती है। ऐसा सिर्फ अधिक सोचने की वजह से होता है। ऐसे में गुड़ का सेवन करने से बी पी कंट्रोल में रहता है और दिल संबंधी समस्याएं भी कम होती हैं।

हेल्दी प्रेगनेंसी 
गुड़ खाने से गर्भवती महिलाएं स्वस्थ गर्भावस्था का अनुभव कर सकती हैं क्यूंकि गुड़ में सोडियम की मात्रा कम होती है जिससे ना केवल ब्लड प्रेशर नियंत्रण में रहता है बल्कि किडनी स्टोन और हृदय संबंधी रोगों से भी बचा जा सकता है।


jaggery sweets pregnancy

You May Also Like : प्रेग्नेंसी में ये एक चीज खाएंगे तो गारंटी बच्चा स्मार्ट होगा
You May Also Like : गर्भ में बेटा या बेटी जानने के 6 तरीके

अन्य फायदे
गुड़ मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है. गुड़ खाने से मांसपेशियों, नसों और रक्त वाहिकाओं को थकान से राहत मिलती है.
गुड़ पोटेशियम का भी एक अच्छा स्रोत है. इससे रक्तचाप को नियंत्रित बनाए रखने में मदद मिलती है.
गुड़ गले और फेफड़ों के संक्रमण के इलाज में फायदेमंद होता है.


गुड के नुकसान | Jaggery Side Effects
1. गुड की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका सेवन गर्मी में नुकसान पहुचाता है| इसलिए इसका कम मात्रा में सेवन करें|
2. गर्मी में इसका सेवन पानी में मिलाकर किया जा सकता है जिससे इसकी तासीर ठंडी रहती है|
3. यह शरीर की सूजन को बढ़ा सकता है इसलिए अगर शरीर में कहीं सूजन है तो गुड का सेवन ना करें|
4. यह रक्तचाप को ठीक करता है लेकिन आपको साथ में मधुमेह की शिकायत भी है तो गुड का सेवन ना करें|

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें