Header Ads

प्रेगनेंसी में संतरा खाने के 10 फायदे और 5 नुकसान | Pregnancy me Santra khana hai ya nahi

प्रेगनेंसी में संतरा खाना चाहिए या नहीं खाना चाहिए इस बात का निर्णय आप इस पोस्ट को पढ़ कर लें. इसमें हम आपको संतरे  को प्रेगनेंसी में खाने से संबंधित कुछ बातों पर रोशनी डालेंगे

संतरे, संतरे के जूस का क्या फायदा है
उससे होने वाले नुकसान
और कुछ ध्यान रखने योग्य बातें

इन सब पर चर्चा करते हुए शुरू करते हैं

pregnancy me santra khana hai ya nahi


इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में तरबूज खाने के फायदे
इन्हें भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के समय केला खाने के फायदे
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में नारियल पानी का फायदा
इन्हें भी पढ़ें : प्रेगनेंसी के समय गर्भवती मां को खाने चाहिये ये बीज


दोस्तों प्रेगनेंसी के दौरान संतरा तो खाया जा सकता है लेकिन इसे उचित मात्रा में ही खाना उचित रहता है इसके लिए आप अपने प्रेगनेंसी के नेचर और अपने शरीर के नेचर के अनुसार अपने डॉक्टर से सलाह करके संतरा खा सकते हैं.

प्रेगनेंसी में संतरे के फायदे - Orange Khane Ke Fayade

दोस्तों ऑरेंज एक पोषक तत्वों से भरपूर  फ्रूट है. इसी कारण इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के आधार पर इसके काफी सारे फायदे प्रेगनेंसी के दौरान नजर आते हैं.

पानी की कमी दूर करें- Overcome water shortage

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कभी-कभी अधिक पानी पीने की इच्छा नहीं होती है. इस वजह से रसीले फल का जूस पीने से पानी की कमी की पूर्ति हो जाती है.

भरपूर एनर्जी के लिए - For Energy

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को काफी एनर्जी की आवश्यकता होती है. क्योंकि एक शरीर में दो शरीरों की ताकत चाहिए होती है. इस वजह से काफी एनर्जी की आवश्यकता होती है .उस एनर्जी को बढ़ाने में संतरा काफी सहायता करता है.

प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं - Improve Immune System

संतरे में पाया जाने वाला विटामिन सी शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी सहायता करता है. अगर महिला की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहती है, तो किसी भी प्रकार के संक्रमण से महिला की रक्षा आसानी से हो जाती है.

आवश्यक विटामिन सी की पूर्ति - For Vitamin C

संतरे में विटामिन सी काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है गर्भ शिशु और गर्भवती महिला के लिए आवश्यक विटामिन सी की पूर्ति संतरे से आसानी से हो जाती है.

इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में मछली के तेल के फायदे
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में अनार खाने के क्या फायदे है
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में पपीता खाए कि नहीं
इन्हें भी पढ़ें : गर्भावस्था में लीची का सेवन सुरक्षित है या नहीं

जिंक की पूर्ति - For Zink

महिलाओं के शरीर में दूसरे पोषक तत्व के समान ही जिंक की भी आवश्यकता होती है. जिंक ज्यादा खाद्य पदार्थों में नहीं पाया जाता है. संतरे के सेवन से महिला को उसके लिए आवश्यक जिंक प्राप्त हो जाता है.

एनीमिया से बचाने में - Help to Avoid Anemia

जैसा कि हमने बताया है कि संतरे में काफी सारे मिनरल्स पाए जाते हैं. लोहा भी अच्छी मात्रा में संतरे के अंदर पाया जाता है. जिस वजह से संतरे का सेवन करने से महिला के शरीर में खून की आपूर्ति सुचारू बनी रहती है.

कैल्शियम की कमी को पूरा करें - Complete calcium deficiency

आयरन के समान ही कैल्शियम भी एक बहुत ज्यादा आवश्यक तत्व गर्भावस्था के दौरान माना जाता है. यह महिला और गर्भ शिशु दोनों के विकास में दोनों को स्वस्थ रखने में, बच्चे के मस्तिष्क के विकास में काफी सहायता करता है. इसकी कमी किसी भी कीमत पर प्रेगनेंसी के दौरान नहीं होनी चाहिए. संतरे में पाया जाने वाला कैल्शियम काफी फायदा देता है.

संतरे में फोलिक एसिड - Folic acid in oranges

संतरे के अंदर फोलिक एसिड भी पाया जाता है. यह फोलिक एसिड बच्चे को कई प्रकार के रोगों से बचाने में मदद करता है. साथ ही साथ महिला के लिए भी आवश्यक फोलिक एसिड की पूर्ति संतरे से हो सकती है.
दोस्तों जैसा हमने पहले वीडियो में आपको बताया है कि संतरे को बिना सोचे समझे इतना फायदा देखते हुए आप नहीं खा सकते हैं.  इसके लिए आपको अपने गर्भावस्था के प्रकार और अपने स्वास्थ्य की आवश्यकताओं को देखते हुए अपने डॉक्टर से सलाह कर के ही खाना चाहिए. 


संतरे खाने के नुकसान - Pregnancy Me Santra Kahne Ka Nuksan

दोस्त प्रेगनेंसी के दौरान मुख्यतः कोई भी खाद्य वस्तु तभी नुकसान देती है जब उसे आप आवश्यक मात्रा से ज्यादा खाना शुरु कर देते हैं वैसे तो शरीर बच्चे की सुरक्षा के लिए सारे कार्य करता है लेकिन जब कोई चीज लगातार ज्यादा होने लगती है तो नुकसान होने लगता है सभी प्रकार के पोषक तत्व प्रेगनेंसी के दौरान एक निश्चित मात्रा में ही चाहिए होते हैं एक रेंज होती है उस रेंज के अंदर चाहिए होते हैं उससे अधिक अगर हो जाते हैं तो समस्या पैदा हो सकती है. 


प्रेगनेंसी के दौरान विटामिन ए की अधिक मात्रा बच्चे में कुछ विशेष प्रकार के जन्म दोषों को पैदा करने में सहायता करती है और संतरे के अंदर विटामिन ए काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है इस वजह से इसे संयमित मात्रा में खाना बताया जाता है यह इसका नुकसान है.


महिला के शरीर में विटामिन ई की मात्रा अधिक हो जाती है तो इससे बच्चे के वजन पर काफी असर पड़ता है और संतरे में विटामिन ई काफी अच्छी मात्रा में होती है तो अधिक संतरा खाने से बच्चे का वजन डिसबैलेंस हो सकता है.
संतरा खाने से दातों में सेंसटिविटी आ जाती है जैसा कि कभी-कभी खट्टापन आ जाता है. फिर कुछ भी खाने में दिक्कत होती है.


संतरे के अंदर पोटेशियम भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है अगर ब्लड के अंदर पोटेशियम की मात्रा अधिक हो जाती है तो किडनी रोग होने की संभावना बलवती हो जाती है वैसे भी महिला की तो प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती ही है.


एक प्रश्न आता है क्या संतरे के छिलकों का प्रयोग प्रेगनेंसी में किया जा सकता है क्योंकि बहुत से लोग संतरे के छिलके का प्रयोग खाने में करते हैं. संतरे के छिलके में संतरे की तुलना में अधिक मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. 


एक काम कर सकते हैं छिलकों को सुखाकर, उसका पाउडर बनाकर, पर छिड़क कर खाइए.
हमारे पास एक प्रश्न आया था संतरे के साथ उसके बीज भी खा लिए प्रेगनेंसी में कोई नुकसान तो नहीं होगा वैसे इनके बीजों से ना के बराबर ही नुकसान होता है कोशिश करें ना खाए तो ज्यादा अच्छा है.


No comments

Powered by Blogger.